Photos: साल 2017 में इसरो के सफल सैटेलाइट्स लॉन्च

Updated On : Aug 31, 2017 23:38 PM

PSLV C37 (फोटो: इसरो)

PSLV C37 (फोटो: इसरो)

15 फरवरी 2017 की तरीक भारत के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। PSLV-C37 के जरिये इसरो ने श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से एक साथ 104 उपग्रहों का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण कर उन्हें कक्षा में स्थापित किया। भारत के लिए यह एक ऐतिहासिक पल है कि क्योंकि पहली बार कोई देश एक रॉकेट से 104 उपग्रहों को अंतरिक्ष में भेजने में सफल रहा है।

GSAT 9 (फोटो: इसरो)

GSAT 9 (फोटो: इसरो)

5 मई 2017 को इसरो द्वारा GSAT-9 को जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लांच व्हीकल (जीएसएलवी-एमके द्वितीय) रॉकेट के जरिये लॉन्च किया गया। करीब 49 मीटर लंबा और 450 टन वजनी जीएसएलवी तीन चरणों वाला रॉकेट है। इस उपग्रह की क्षमता और सुविधाएं दक्षिण एशिया के आर्थिक और विकासात्मक प्राथमिकताओं से निपटने में काफी मददगार साबित होंगी। प्राकृतिक संसाधनों का पता लगाने, टेलीमेडिसीन, शिक्षा के क्षेत्र में लोगों के बीच संचार बढ़ाने में यह उपग्रह पूरे दक्षिण एशिया क्षेत्र की प्रगति में एक वरदान साबित होगा।

GSLV Mk III (फोटो इसरो)

GSLV Mk III (फोटो इसरो)

भारत ने 5 जून 2017 को अपने सबसे वजनी जीएसएलवी मार्क-3 रॉकेट को श्रीहरिकोटा से अंतरिक्ष में लॉन्च किया। जीएसएलवी मार्क-3 ने अपने साथ गए 3,136 किलोग्राम वजनी संचार उपग्रह जीसैट-19 को कक्षा में स्थापित किया। इस रॉकेट से इसरो भविष्य में भारतीयों को अंतरिक्ष में ले जा सकेगा।

PSLV C38 (फोटो इसरो)

PSLV C38 (फोटो इसरो)

Jun 23, 2017ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण वाहन (PSLV) के साथ 712 किलोग्राम वजनी काटरेसैट-2 सीरीज और 30 अन्य उपग्रहों (सेटेलाइट) का सफल प्रक्षेपण किया। पीएसएलवी सी-38 अपने साथ 29 विदेशी और एक भारतीय उपग्रह को अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया है। इस अंतरिक्ष यान ने ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, ब्रिटेन, चिली, चेक गणराज्य, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, लातविया, लिथुआनिया, स्लोवाकिया और अमेरिका समेत 14 देशों से 29 नैनो उपग्रह को अंतरिक्ष में स्थापित किया।

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो