सरदार पटेल- लौह पुरुष की फौलादी बातें, देखें तस्वीरों में

Updated On : Oct 31, 2017 14:54 PM

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

स्वतंत्रता संग्राम से लेकर मजबूत और एकीकृत भारत के निर्माण में सरदार वल्लभभाई पटेल का योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकता। उनका जीवन, व्यक्तित्व और कृतित्व सदैव प्रेरणा के रूप में देश के सामने रहेगा। उन्होंने युवावस्था में ही राष्ट्र और समाज के लिए अपना जीवन समर्पित करने का निर्णय लिया था। इस ध्येय पथ पर वह नि:स्वार्थ भाव से लगे रहे।

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

जब वह वकील के दायित्व का निर्वाह कर रहे थे, तब उसमें भी मिसाल कायम की। जब वह जज के सामने जिरह कर रहे थे, तभी उन्हें एक टेलीग्राम मिला, जिसे उन्होंने देखा और जेब में रख लिया। उन्होंने पहले अपने वकील धर्म का पालन किया, उसके बाद घर जाने का फैसला लिया। तार में उनकी पत्नी के निधन की सूचना थी।

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

देश को आजाद करने में उन्होंने महत्वपूर्ण योगदान दिया। महात्मा गांधी के चंपारण सत्याग्रह के साथ ही कांग्रेस में एक बड़ा बदलाव आया था। इसकी गतिविधियों का विस्तार सुदूर गांव तक हुआ था।

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

देश के सामने आजाद होने के तत्काल बाद इतनी रियासतों को एक रखने की चुनौती सामने थी। सरदार पटेल ने बड़ी कुशलता से एकीकरण का कार्य संपन्न कराया। इसमें भी उनका लौहपुरुष व्यक्तित्व दिखाई देता है।

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

सोर्स indianhistorypics ट्विटर हैंडल

सरदार पटेल भारत की मूल परिस्थिति को गहराई से समझते थे। वह जानते थे कि जब तक अर्थव्यवस्था में कृषि का योगदान महत्वपूर्ण बना रहेगा, तब तक संतुलित विकास होता रहेगा।

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो