केरल: बाढ़ की त्रासदी झेल रहे लोगों के मसीहा बने सेना के जवान, जान पर खेलकर कर रहे हैं सबकी मदद

Updated On : Aug 19, 2018 14:17 PM

केरल बाढ़

केरल बाढ़

केरल में शुक्रवार और शनिवार को बारिश में कमी के बाद अब सरकार ने सूबे के सभी 14 जिलों से रेड अलर्ट हटा लिया गया है। 9 अगस्त के बाद यह पहला मौका है, जब रेड अलर्ट हटाया गया है।

केरल बाढ़  (फाइल फोटो)

केरल बाढ़ (फाइल फोटो)

मौसम विभाग के मुताबिक एर्नाकुलम, पथनमथिट्टा और अलप्पुझा जिले के कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। केरल में बाढ़, बारिश और भूस्खलन से आम जनजीवन पर बढ़ते दुष्प्रभाव को देखते हुए भारतीय सेना और नौसेना ने राहत और कार्य के लिए चलाए जा रहे संयुक्त 'ऑपरेशन मदद' को और तेज कर दिया है।

केरल बाढ़  (फाइल फोटो)

केरल बाढ़ (फाइल फोटो)

केरल में भारी बारिश और बाढ़ से मची तबाही के चलते रविवार को दो और लोगों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 370 हो गई है।

केरल बाढ़  (फाइल फोटो)

केरल बाढ़ (फाइल फोटो)

दक्षिणी नौसेना कमान ( Southern Naval Command) ने राहत और बचाव कार्यों में जुटे पश्चिमी नौसेना कमांड और भारतीय नौसेना के लिए संसाधनों को बढ़ा दिया है। ऑपरेशन मदद के दसवें दिन 18 अगस्त को तैनात डाइविंग टीमों की कुल संख्या 72 है, जिन्हे कई अलग स्थानों पर भेजा गया।

केरल बाढ़  (फाइल फोटो)

केरल बाढ़ (फाइल फोटो)

इससे पहले से आठ नई शामिल टीमों को शामिल कर विभिन्न स्थानों पर भेजा गया था। अलग-अलग इमारतों और छतों पर फंसे हजारों लोगों को शनिवार को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया। इनमें बड़ी संख्या में बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों को एयरलिफ्ट किया गया।

केरल बाढ़  (फाइल फोटो)

केरल बाढ़ (फाइल फोटो)

राहत और बचाव कार्य के लिए केंद्र सरकार और तमाम एजेंसियां भी सक्रिय हैं। एक अनुमान के अनुसार राज्य को अब तक कुल 21,000 करोड़ का नुकसान हो चुका है।

केरल बाढ़ (फाइल फोटो)

केरल बाढ़ (फाइल फोटो)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने शनिवार को बाढ़ पीड़ित कोडागु जिले का दौरा किया, जहां भारी बारिश से भूस्खलन और बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं और सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं। बाढ़ और भूस्खलन के कारण करीब 1500 लोगो विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए हैं। कुमारस्वामी ने यहां संवाददाताओं से कहा, 'कम से कम 1500 लोग राज्य के विभिन्न हिस्सों में फंसे है, लेकिन बचाव दल उन तक खराब मौसम और भूस्खलन के कारण पहुंच नहीं पा रहा है। उन्हें निकालने के प्रयास जारी हैं और राज्य अधिकारियों के साथ सेना के जवान, नौसैनिक युद्ध स्तर पर बचाव व राहत अभियान चला रहे हैं।'

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो