विचार

अन्य खबरें

चुनावों में जातियों का चक्रव्यूह टूटा नहीं है, हां गणित उलट गया है

चुनावी नतीजों को पढ़ने से पता चलता है कि जातिवादी गठबंधन को उसके वोट तो भरपूर मिले है लेकिन उसकी नीति ने जातियों का एक दूसरा गठबंधन तैयार कर दिया, जिसके लिए किसी को जोर लगाने की जरूरत नहीं पड़ी

World Menstrual Hygiene Day 2019: ऑफिस-कॉलेज में सेनिटरी वेडिंग मशीन का होना कितना जरूरी?

आज जब अधिकत्तर लोग पीरियड्स को लेकर जागरुक है, तब भी अधिकत्तर जगहों पर सेनिटरी पैड मशीन उपलब्ध नहीं है. महिलाओं की पीरियड के समय पैड के लिए यहां-वहां भटकना पड़ता है या फिर किसी और चीज से काम चलाना पड़ता है.

देश के मूड को समझने में क्यों विफल रहा 'लुटियंस दिल्ली'

बांटने वाली राजनीति के साथ खड़े हुए इन लोगों को जहां भी मौका मिला इन्होंने सिर्फ अफवाहों को हवा दी या फिर पीला मौजा और काले जूतों पर सवाल उठा दिए

2019 का ये जनादेश केवल मोदी के चेहरे और नाम पर नहीं है, बल्कि वजह कुछ और भी है

ये उस देश का जनादेश है जो राज्यों से ऊपर देश के तौर पर अपनी पहचान बना रहा है.

आज फिर क्यों ना कहा जाए कि नरेंद्र मोदी के सामने विपक्ष बौना नज़र आता है...

देश के 17 राज्यों में कांग्रेस का खाता तक नहीं खुला. इनमें दिल्ली. गुजरात. आंध्र प्रदेश. राजस्थान. हरियाणा. हिमाचल प्रदेश. उत्तराखंड. अरुणाचल प्रदेश. ओडिशा. त्रिपुरा. मणिपुर. मिजोरम. दमन दीप. दादर नगर हवेली. अंडमान और चंडीगढ़ जैसे राज्य शामिल हैं.

काजी जी दुबले क्यों...शहर के अंदेशे में, नायडू पर सही उतर रही यह कहावत

आंध्र प्रदेश की राजधानी अमरावती को राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय फलक पर ब्रांड बनाने का ख्वाब देख रहे टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू के लिए एग्जिट पोल एक ऐसे दुस्वप्न की तरह अवतरित हुए हैं, जिन्होंने उनके दिल्ली की राजनीति में किंगमेकर की भूमिका पर भी एक बड़ा प्रश्नचिन्ह लगा दिया है.

गंगा पर सरकार को घेरने से बेहतर कांग्रेस 'सई नदी' को जिंदा करती

गंगा पर सरकार को घेरने से बेहतर सई नदी को जिंदा करना सही जवाब होगा.

जिन्ना को इतिहास भी इस नजरिये से देखता है...ना कि विभाजन के 'खलनायक' बतौर

कायद-ए-आजम जिन्ना का 'प्रेत' समय-समय पर आजाद भारत की राजनीति के सामने आ खड़ा होता है और कई विवादों को जन्म देकर फिर चुपचाप इतिहास के अंधेरों में गुम हो जाता है.

भैय्या राहुल नहीं होते, तो स्मृति अमेठी आतीं क्या ? भैय्या अमेठी में हर चीज गांधी फैमिली ही लाई है।

सालों बाद आज जहां बहुत से शहरों में 'विकास' शब्द जमीनी हकीकत में बदला है, वही अमेठी में आज भी यह जुबां पर ही घूम रहा है.

विश्लेषण: LOC पर व्यापार बंद, किसका फायदा किसका नुकसान

भारत पाकिस्तान के संबंध सुधरने के बजाय और भी खराब होते जा रहे हैं. भारत-पाकिस्तान के बीच एलओसी (Line of Control) के जरिए होने वाले ट्रेड को बंद कर दिया गया है, जो 19 अप्रैल यानी आज से लागू हो गया. इस ट्रेड के बंद होने के बाद कई सवाल खड़े हो गए हैं. आखिर इससे भारत को क्या फायदा होगा. क्या ट्रेड बंद कर देने से आतंकवाद भी खत्म हो जाएगा. आइए जानते हैं.

कश्मीर के बचे 'अवशेष' भी इतिहास में बहाई गई खून की नदियों का पता देते हैं...

'आंधी' फिल्म के लोकप्रिय गाने 'तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा...' के बैकड्रॉप में फिल्माये गए मार्तंड मंदिर के अवशेष जम्मू-कश्मीर के हजारों ऐसे मंदिरों की कहानी सुनाने के लिए बचे हुए कुछ पत्थर भर हैं, जो इतिहास के वहशियों की पूरी करतूतों को उनकी संपूर्ण निर्ममता के साथ सामने लाते हैं.

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो

फोटो