BREAKING NEWS
  • ​​​​​Petrol Diesel Price 17 Sep: महंगा हो गया पेट्रोल-डीजल, आम आदमी की बढ़ी मुसीबत- Read More »
  • विराट कोहली और स्‍टीव स्‍मिथ की तुलना पर यह बोले पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली, धोनी के संन्‍यास पर यह दी टिप्‍पणी- Read More »
  • Horoscope, 17 September: जानिए कैसा रहेगा आपका आज का दिन, पढ़िए 17 सितंबर का राशिफल- Read More »

विचार

अन्य खबरें

जमीन से लेकर आसमान तक महिलाओं ने गाड़े सफलता के झंडे, लिखी कामयाबी की दास्तां

8 मार्च को पूरी दुनिया में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस महिलाओं के सम्मान के तौर पर मनाया जाता है। समाज के विकास का संबंध सीधा महिलाओं के विकास से जुड़ा है।

अपमानजनक सम्मान देने के लिए मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

8 मार्च को विश्व भर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। पर मेरा सवाल है कि क्या इसकी जरूरत है।

केवल एक पीढ़ी को ही आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए: सोनम वांगचुक

जिन परिवारों की एक पीढ़ी ने आरक्षण का लाभ ले लिया, उन्हें इस अधिकार को छोड़ देना चाहिए और अपनी अगली पीढ़ी को नहीं देना चाहिए।

राजस्थान चुनाव निकट, बड़ा सवाल- कौन होगा कांग्रेस का चेहरा?

गुजरात के चुनाव से निकलते सबक से राहुल गांधी तेजी से सीख ले तो बहुत संभव है कि आने वाले 2018 में राजस्थान के विधानसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन कांग्रेस कर पाए।

सरकारी सेवाओं की होम डिलीवरी पर केजरीवाल सरकार और एलजी में ठनी

केजरीवाल सरकार के पिज्जा मॉडल के जवाब में एलजी ने पीसीओ मॉडल की वकालत की है।

निजी अस्पताल, जनता, मीडिया और सरकार... आखिर कब बदलेगी तस्वीर?

निजी अस्पतालों की लूट और निर्ममता के खिलाफ जनता का गुस्सा उबाल मार रहा है। इस गुस्से की दहलीज़ से खबरों को छानकर मीडिया भी बखूबी परोस रहा है, जिसका असर देर से ही सही पर अब सरकारों पर दिखने लगा है।

संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर सिर्फ एक दलित नेता नहीं बल्कि महिलाओं के भी थे मसीहा

आज भारतीय संविधान के शिल्पकार बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की आज 61वीं पुण्यतिथि है। उन्होंने अपने जीवन में कई महत्वपूर्ण समाज सुधार कार्य किए थे जिस वजह से हो वो हमेशा महान माने जाएंगे।

अयोध्या विवाद के 25 साल, विकास के मोर्चे पर पिछड़ी 'राम' की नगरी

हाल ही में मुझे एक बार फिर अयोध्या जाने का मौका मिला। अयोध्या के विवादित मामले पर पक्षकारों से बात की। जनता की बात को समझने की कोशिश की

5 सालों में जनता की उम्मीदों पर कितनी खरी उतरी आम आदमी पार्टी ?

भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में जनता को सरकारों के काम-काज का लेखा जोखा करने का मौका 5 साल में एक ही बार मिलता है।

आज ही के दिन लगी थी भारत के संविधान पर मुहर!

26 नवंबर...वो दिन जब 68 साल पहले दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र यानि भारत के संविधान पर मुहर लगी।

हरियाणा : सफल महिलाएं 'कन्या हत्यारा' राज्य का कलंक मिटा सकती है?

'लड़कियों की हत्या' करने के लिए कुख्यात राज्य हरियाणा अब राज्य की बदनामी से आगे बढ़कर नई कहानी लिख रहा है।

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो

फोटो