BREAKING NEWS
  • बिहार-झारखंड की ताज़ा खबरें, 15 नवंबर 2019 की बड़ी ब्रेकिंग न्यूज़- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »
  • Horoscope, 13 November: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 13 नवंबर का राशिफल- Read More »

विचार

अन्य खबरें

क्या वाकई खत्म हो रहा है नक्सलवाद ? रेड कॉरिडोर की मौजूदा स्थिति पर 'इंडिया बोले'

इन नक्सलियों को 2009 में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आंतरिक सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया था लेकिन 2018 में कांग्रेस नेता राजबब्बर इन्हें क्रांतिकारी बता रहे हैं!

#IndiaBole: इतिहास- विरासत और सियासत, क्या आजादी के नायकों के साथ हुआ है भेदभाव?

क्या आजादी के नायकों के साथ भेदभाव हुआ है? इसी मुद्दे पर देखिए बड़ी बहस 'इंडिया बोले', अनुराग दीक्षित के साथ इस सोमवार शाम 6 बजे सिर्फ न्यूज़ नेशन पर

'छत्तीसगढ़ में वजूद के लिए संघर्ष कर रहे हैं नक्सली'

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव से नक्सली कोई बड़ा शिकार करने को बेचैन हैं क्योंकि वे अपने वजूद के लिए संघर्ष कर रहे हैं. यह बात यहां अधिकारियों ने कही

नेहरू के लिए सरदार पटेल ने छोड़ दिया था प्रधानमंत्री का पद

साल 1940 से 1945 के बीच मौलाना अबुल कलाम आजाद कांग्रेस के अध्यक्ष थे. 1946 में अगले अध्यक्ष को चुना जाना था. लगभग तय था कि अब जो भी अध्यक्ष बनेगा, वहीं आजादी के बाद देश का प्रधानमंत्री भी चुना जाएगा.

Statue Of Unity: कई मौकों पर दिखा नेहरू और पटेल में घमासान!

साल 1940 से 1945 के बीच मौलाना अबुल कलाम आजाद कांग्रेस के अध्यक्ष थे. 1946 में अगले अध्यक्ष को चुना जाना था. लगभग तय था कि अब जो भी अध्यक्ष बनेगा,

सरदार पटेल के लिए आसान नहीं था रियासतों का विलय

आजादी के समय देश अलग-अलग रियासतों में बंटा हुआ था. लेकिन सरदार पटेल ने इसे एक सूत्र में पिरोया.

आंकड़ों में जानिए क्या सचिन से बेहतर खिलाड़ी है भारतीय कप्तान विराट कोहली

विराट के सामने सिर्फ एक ही बल्लेबाज़ नज़र आ रहा है जिन्हें क्रिकेट का भगवान कहा जाता है यानी मास्टर ब्लासटर सचिन तेंदुलकर.

वाइज़ैग में कप्तान कोहली की एक भूल जो बन गई 'विराट' ग़लती

गुवाहाटी वनडे के बाद विराट का बल्ला वाइज़ैग वनडे में भी चमका और विराट ने विंडीज़ के गेंदबाज़ों पर जमकर रन बरसाए. जिसके बाद विराट की पारी के दम पर टीम इंडिया ने 321 रन का बड़ा स्कोर बनाया लेकिन इतना बड़ा स्कोर बनाने के बावजूद भी विराट कोहली टीम इंडिया को जीत दिला नहीं सके.

'आजाद हिंद सरकार' की 75वीं जयंती: सुभाष चंद्र बोस — विरोध भी, सम्मान भी!

तर्क हो सकता है कि इस सबके पीछे भाजपा की मंशा सियासी फायदा उठाने की है. वजह कुछ भी हो लेकिन इस मौके पर अतीत के पन्नों को पलटना जरूरी हो चला है.

Dussehra 2018: जानिए क्या है दशहरा और नीलकंठ से जुड़ी कहानी

'नीलकंठ तुम नीले रहियों हमारी बात राम से कहियो', पता नहीं कि अब हमको अपनी बात भगवान राम तक पहुंचानी है या नहीं. दशहरे पर सुबह-सुबह घऱ के बाहर पेड़ों की ओर जाने किस उम्मीद से ताक रहा था.

देश में 92 फीसदी महिलाओं की तनख्वाह 10 हजार से भी कम

रिपोर्ट के मुताबिक, 2015 में राष्ट्रीय स्तर पर 67 प्रतिशत परिवारों की मासिक आमदनी 10,000 रुपये थी जबकि सातवें केंद्रीय वेतन आयोग (सीपीसी) द्वारा अनुशंसित न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये प्रति माह है. इससे साफ होता है कि भारत में एक बड़े तबके को मजदूरी के रूप में उचित भुगतान नहीं मिल रहा है.

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो

फोटो