BREAKING NEWS
  • पाकिस्तान ने भारत को दहलाने की रची बड़ी साजिश, लश्कर समेत 3 बड़े आतंकी संगठन को सौंपा ये काम- Read More »
  • छोटा राजन का भाई उतरा महाराष्ट्र के चुनावी रण में, इस पार्टी ने दिया टिकट - Read More »
  • IND vs SA, Live Cricket Score, 1st Test Day 1: भारत ने टॉस जीता पहले बल्‍लेबाजी- Read More »

Video: पेड़ के नीचे बाल कटवाकर इतना ख़ुश हुआ विदेशी कि नाई की हो गई बल्ले-बल्ले

Sunil Chaurasia  |   Updated On : February 12, 2019 09:08:06 AM
image: Harald Baldr/youtube

image: Harald Baldr/youtube (Photo Credit : )

अहमदाबाद:  

हम सभी अच्छा दिखने के लिए हेयर कटिंग कराते हैं, लेकिन क्या आपको ध्यान है कि आपने हेयर कट के लिए सबसे ज्यादा कितने रुपये खर्च किए हैं. आमतौर पर हेयरकट का चार्ज जगह के हिसाब से वसूला जाता है. भारत में आज भी ऐसी कई जगहें हैं जहां हेयरकटिंग के लिए महज 20 रुपये लिए जाते हैं, जबकि देश में कुछ ऐसे नामी सैलून भी हैं, जहां बाल कटवाने के लिए आपको 20-20 हजार रुपये तक खर्च करने पड़ सकते हैं. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं. नॉर्वे के रहने वाले इस शख्स ने गुजरात के अहमदाबाद में रोड साइड बाल काटने वाले नाई से कटिंग कराई. नाई के हिसाब से बाल काटने के लिए उस शख्स को केवल 20 रुपये देने थे. लेकिन शख्स को नाई का काम और उसकी ईमानदारी इतनी पसंद आई कि उसने रोड साइड बैठने वाले हजाम को 200-500 नहीं बल्कि सीधे 30000 रुपये दे दिए.

यहां देखें पूरी वीडियो-

जी हां, आपने बिल्कुल ठीक पढ़ा है कि रोड साइड हजामत करने वाले शख्स को एक विदेशी ने उसके काम और ईमानदारी से खुश होकर 30 हजार रुपये दे दिए. आमतौर पर देखा जाता है कि भारत में छोटे-छोटे दुकानदार, ऑटो वाले, टैक्सी वाले या अन्य कोई काम करने वाले विदेशी नागरिकों को देखकर किसी भी चीज या सेवा की कीमत बढ़ा-चढ़ाकर बताते हैं. लेकिन इस मामले में नाई ने ऐसा कुछ नहीं किया और अपनी ईमानदारी पर डटा रहा. हजाम को इतने रुपये देने वाले शख्स का नाम Harald Baldr है. Harald एक चर्चित यूट्यूबर हैं, जो फिलहाल भारत घूमने आए हैं. अपने भारत भ्रमण के दौरान वे गुजरात के अहमदाबाद भी पहुंचे. यहां आकर उन्होंने पेड़ के नीचे बैठने वाले नाई से हेयर कटिंग कराने का फैसला किया.

ये भी पढ़ें- हेलिकॉप्टर में बैठकर विदा हुई मजदूर की बेटी, महज 1 रुपये के शगुन में हुई शादी.. नजारा देख रो पड़े पिता

Harald ने बताया कि उन्होंने हजाम के काम और ईमानदारी से खुशी हुई और उन्होंने इतनी मोटी रकम डोनेशन के रूप में दी है. बता दें कि Harald ऐसे कई गरीब लोगों की मदद कर चुके हैं. विदेशी नागरिक ने पास के एक ऐसे शख्स को बुलाया जो अंग्रेजी में बात करना जानता था. Harald ने उससे कहा कि वह ये पैसे डोनेशन के तौर पर दे रहा है ताकि वह अपनी दुकान को बढ़ा सके. Harald की इस दिलेरी पर पूरे देश में उनकी जमकर तारीफें हो रही हैं.

First Published: Feb 12, 2019 09:00:00 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो