Coronavirus से भी खतरनाक थी Dancing Plage की बीमारी, नाचते हुए निकलती थी लोगों की जान

News State Bureau  |   Updated On : March 24, 2020 07:29:59 PM
dancing plage

डांसिंग प्लेग (Photo Credit : फाइल )

नई दिल्ली:  

पूरी दुनिया में कोरोनावायरस (Corona Virus) इस समय का कहर बोल रहा है यह शब्द जुबान पर आते ही लोगों के शरीर में सिहरन दौड़ जाती है इस समय दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित कुल मरीजों की संख्या 381,649 पहुंच गई है जबकि 16,558 लोगों ने कोरोनावायरस (Corona Virus) के संक्रमण से अपनी जान गवां दी है. भारत में अबतक कोरोना वायरस से 555 लोग संक्रमित पाए गए हैं जबकि 10 लोगों ने अपनी जान गंवाई है. कुल मिलाकर कोरोना वायरस का संक्रमण इतना खतरनाक है कि भारत सहित पूरी दुनिया के लोगों में इसकी दहशत फैल चुकी है. लेकिन हम आज आपको एक ऐसी बीमारी के बारे में बताएंगे जो कि कोरोना वायरस के संक्रमण से भी ज्यादा खतरनाक थी. इस बीमारी से भी लगभग 400 से भी ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई थी.

यह बीमारी एक रहस्यमय बीमारी थी जिसका आज तक पता भी नहीं चल पाया. जिस किसी को भी यह बीमारी होती थी वह नाचने लगता था. बीमार शख्स तबतक डांस करता रहता था, जबतक कि उसकी जान नहीं निकल जाती थी. इस रहस्यमय बीमारी का पता आज भी वैज्ञानिक नहीं लगा पाए हैं. इस बीमारी के बारे में अभी तक कोई ऑफिशियल रिकॉर्ड तो नहीं है लेकिन इसके बारे में बताया जाता है कि यह बीमारी तकरीबन 16वीं शताब्दी के दौरान आई थी जिसे ‘डांसिंग प्लेग’ के नाम से जाना गया था. यह एक ऐसा डांस था जिसमें रोगी लगातार नाचता ही रहता था और वह तब तक खुद को नहीं रोक पाता था जबतक कि उसकी जान न निकल जाए.

यह भी पढ़ें-Coronavirus : पूरी दुनिया में 4 लाख के करीब मामले, 16 हजार की मौत, इटली में आज 602 की मौत

ये था डांसिंग प्लेग
यह एक ऐसा डांस था जिसे एक महिला ने शुरू किया था. यह महिला इतना मंत्रमुग्ध होकर डांस कर रही थी कि जो इसे देखता था वो भी इसके साथ नाचने लगता था. देखते ही देखते इस कतार में एक से बढ़कर कई लोग शामिल होने लगे, यह डांसिंग धीरे-धीरे एक भीड़ में तब्दील हो गई और ये लोग तबतक डांस करते रहे जब तक इन लोगों की जान नहीं निकल गई थी. 

यह भी पढ़ें-मध्यप्रदेश के जबलपुर में और एक पॉजिटिव मामला, प्रदेश में कुल सात लोग संक्रमित

फ्राउ ट्रॉफी नामकी महिला हुई थी डांसिंग प्लेग का शिकार
घटना के मुताबिक एक दिन अचानक ही स्ट्रासबर्ग में रहने वाली सामान्य सी औरत ‘फ्राउ ट्रॉफी’ अपने घर से नाचते हुए बाहर आंगन में आ गई. हालांकि वहां पर आस-पास  संगीत की कोई धुन नहीं बज रही थी, लेकिन फ्राउ ट्रॉफी अपनी ही धुन में मग्न थी और लगातार डांस किए जा रही थी. देखते ही देखती वो आंगन से निकलकर नाचते हुए वह सड़क पर आ गई. उसे देखने वालों का हुजूम जमा होने लगा. हर कोई उसे ही देख रहा था कोई उसे पागल कहता तो कोई कबता कि उसे दौरा आ गया है. कुछ लोग उसे देखकर हंस भी रहे थे. लेकिन, फ्राउ ट्रॉफी इन सब बातों से बेखबर बस लगातार नाचे ही जा रही थी.

यह भी पढ़ें-Corona Virus Fear: न्यूजीलैंड में कोरोनावायरस के चलते लॉकडाउन की घोषणा

मरते दम तक डांस करते रहे लोग
आपको बता दें कि डांस करने के दौरान ये लोग इतना ज्यादा लीन हो गए गए थे कि उन्हें इस बात की फिकर ही नहीं थी कि वो क्या कर रहे हैं और क्यों कर रहे हैं उन्हें और कुछ भी नहीं दिखाई दे रहा था. सुनने में लोगों को अजीब भले ही लग रहा हो लेकिन यह सच्चाई है कि लगभग 400 से भी ज्यादा लोग इस ग्रुप डांस में शामिल हुए और ये लोग तब तक डांस करते रहे जबतक कि उनकी जान नहीं निकल गई थी.

First Published: Mar 24, 2020 04:39:40 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो