लंदन में 3500 फीट की ऊंचाई पर गुजर रहे प्लेन से गिरा शख्स, जानिए फिर क्या हुआ

News State Bureau  |   Updated On : July 02, 2019 05:03:21 PM
केन्या एयरवेज का विमान (फाइल फोटो)

केन्या एयरवेज का विमान (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  3500 फीट की ऊंचाई से गिरा शख्स
  •  लंदन के बगीचे में गिरे शख्स की मौत
  •  ऊंचाई से गिरने की वजह से शव क्षत-विक्षत

नई दिल्ली:  

कभी आपने ऐसा सोचा है कि आप अपने बगीचे में बैठे धूप का आनंद ले रहे हों तभी आपके पास कोई लाश आ गिरे तो आप क्या करेंगे. रविवार को एक ऐसा ही हादसा लंदन में हुआ जिससे कि बगीचे में बैठा मकान मालिक बुरी तरह से डर गया. रविवार को लंदन के ऊपर से केन्या एयरवेज का विमान गुजर रहा था जिसमें से अचानक एक व्यक्ति गिर पड़ा जब उस व्यक्ति का शव बगीचे में गिरा तो वहां बैठे बगीचे के मालिक डर गए. प्लेन से गिरे शख्स को प्रवासी माना जा रहा है जो छिपकर केन्या एयरवेज प्लेन के लैडिंग गियर अपार्टमेंट में बैठ गया था.

आए दिन विदेशों में शरण लेने के लिए प्रवासी ऐसे कदम उठाते हैं वो किसी दूसरे देश में जाने के लिए प्लेन में छिपकर बैठ जाते हैं. जब केन्या एयरवेज का 787 विमान हीथ्रो एयरपोर्ट पर लैडिंग के लिए अपने पहिए खोल रहा था, उसी दौरान प्लेन में छिपा यह शख्स नीचे गिर गया. पुलिस ने बताया कि प्लेन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर लैंडिंग करने के बाद लैंडिंग गियर कम्पार्टमेंट से एक बैग, पानी और कुछ खाने-पीने का सामान मिला है. 

यह भी पढ़ें -लखनऊ: कब्र खोदी गई, दफनाए जाने से ठीक पहले खड़ा हो गया मुर्दा

अनुमान लगाया जा रहा है कि यह शख्स 3500 फीट की ऊंचाई से गिरा होगा यह बगीचे में धूप सेक रहे मकान मालिक से महज 3 फीट की दूरी पर ही गिरा था अगर यह उसके ऊपर गिरता तो उसकी भी मौत हो सकती थी. एक और चश्मदीद ने बताया कि शव इतनी जोर से गिरा था कि उसके लॉन में दरार पड़ गई.  ज्यादा ऊंचाई से गिरने की वजह से शव इतना क्षत-विक्षत हो गया कि पहचान में ही नहीं आ रहा है कि यह कोई महिला थी या पुरुष

यह भी पढ़ें - अत्याचारी ससुरालवालों ने बहू को किया गंजा, 5 दिन तक घर में रखा बंद और फिर....

एक और पड़ोसी ने बताया, मैंने बाहर एक बहुत जोरदार आवाज सुनी और जैसे ही बाहर निकलकर देखा तो बगीचे की दीवारें खून से लाल हो गईं थीं.  तब पड़ोसियों ने हीथ्रो एयरपोर्ट पर कॉल लगाई. एयर पोर्ट के कर्मचारियों ने बताया कि हर पांच साल में एक ऐसा हादसा होता ही है. इससे पहले एक शख्स पूरी तरह से जम गया था. नैरोबी से उड़ान भरने वाली  केन्या एयरवेज की फ्लाइट रविवार की दोपहर के लगभग 3.30 बजे इस घर के ऊपर से निकली थी जहां 3500 फीट की ऊंचाई से प्लेन को 200 मील/घंटे की रफ्तार से मुड़ना था तभी ये हादसा हुआ.

यह भी पढ़ें- मप्र में मानसून सक्रिय होने से कई हिस्सों में बारिश, तापमान में गिरावट

अभी भी यह बात नहीं साफ नहीं हो पाई है कि शख्स की गिरने से पहले ही मौत हो चुकी थी या फिर गिरने के बाद उसकी मौत हुई. वैसे तो वह शायद ही जिंदा गिरा हो क्योंकि उस शख्स को 9 घंटे तक -60 डिग्री सेल्सियस के तापमान से गुजरना पड़ा था जिससे उसे पर्याप्त रूप से सांस लेने के लिए ऑक्सीजन भी नहीं मिल पाई रही होगी.  एक सूत्र से पता चला कि, बहुत कम ऐसे मामले हुए हैं जब फ्लाइट के लैंडिंग गियर में छिपकर जाने वाले लोग जिंदा बच जाते हों. कई बार ऑक्सीजन की कमी की वजह से वे बेहोश हो जाते हैं और जब प्लेन नीचे आता है तो बेहोशी की अवस्था में वो प्लेन से गिर जाते हैं और उनकी मौत हो जाती है. 

First Published: Jul 02, 2019 04:37:19 PM
Post Comment (+)

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

वीडियो