फीफा अंडर-17 विश्वकपः कोच मेटोस ने कहा-मैं टीम के प्रयास से खुश हूं, लेकिन परिणामों से नहीं

जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम में शुक्रवार को भारत को अमरिका के हाथों 3-0 से हार मिली। इस हार के बाद भारतीय टीम के कोच लुईस नोर्टन डे मेटोस ने अपनी नाराजगी जताई।

  |   Updated On : October 07, 2017 10:01 AM
कोच लुईस नोर्टन डे मेटोस

कोच लुईस नोर्टन डे मेटोस

नई दिल्ली:  

जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम में शुक्रवार को भारत को अमरिका के हाथों 3-0 से हार मिली। इस हार के बाद भारतीय टीम के कोच लुईस नोर्टन डे मेटोस ने अपनी नाराजगी जताई।

इससे पहले भारत ने कई विश्वकप में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन अंत में हारने की वजह से विश्वकप की दौड़ में काफी पीछे रहा। भारत प्रीमियर इवेंट में अपना पहला गोल करने के बहुत नजदीक था लेकिन डिफेंडर अनवर अली के प्रयास की वजह से वह असफल रहे।

कोच मेटोस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'मैं टीम के खिलाड़ियों के सामूहिक प्रयास से खुश हूं, लेकिन परिणामों से खुश नहीं हूं जैसा कि मैंने कहा था, हमारी टीम और अन्य टीमों के बीच एक बहुत बड़ा अंतर है।'

उन्होंने कहा, 'हमें उनसे दंड मिला है, लेकिन कुछ और अनुभव के साथ वे टीम के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।' पहले हाफ के बाद में भारत ने शायद ही गेंद का अनुभव किया हो लेकिन दूसरे हाफ में अच्छा प्रदर्शन किया।

उन्होंने कहा, 'हमने पहले हाफ में बहुत ही आसान लक्ष्य को स्वीकार किया और आधे समय में खेल को पलटना बहुत संभव था।'

और पढ़ेंः फीफा अंडर 17 वर्ल्ड कप: सीट भरी रहे इसलिए बांटे गए 27,000 फ्री टिकट!

उन्होंने कहा, 'अगर हमने गोल पहले किया होता तो स्कोर 2-1 हो गया होता और अमेरिका पिछले 10 मिनट में हारकर बाहर हो गया होता।'

इसका परिणाम अपेक्षित था और पुर्तगाली ने अमेरिका की श्रेष्ठता को समझा। लेकिन इस स्तर पर भारत को इस अनुभव की कमी है।

'निश्चित रूप से इस तरह की प्रतियोगिताओं में नहीं खेलने की संस्कृति की यह बड़ी समस्या है। यह पहली बार है कि वे इस तरह के परिमाण के टूर्नामेंट में खेल रहे हों।'

'अमेरिका ने पिछले दो महीनों में तैयारी के रूप में सात अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले है। और वे इस टूर्नामेंट के लिए बहुत मेहनत कर रहे थे।' मेटोस ने कहा कि भारत को बड़ी तस्वीर देखनी चाहिए।

उन्होंने कहा, 'यह पहली बार है जब हमारे खिलाड़ी 40,000 की भीड़ के सामने अमेरिका की टीम के खिलाफ खेल रहे थे। 'मेरे खिलाड़ी शुरुआत में परेशान हो गए थे और इस स्थिति में भावनाओं को नियंत्रित करना बहुत मुश्किल हो जाता है।'

उन्होंने कहा, 'हम दूसरे हाफ से ज्यादा आश्वस्त थे। विश्व कप में खेलने का अनुभव भारतीय खिलाड़ियों को लंबे समय तक मदद देगा।'

और पढ़ेंः फीफा अंडर-17 विश्व कप : अमेरिका ने भारत को 3-0 से मात दी

First Published: Saturday, October 07, 2017 09:46 AM

RELATED TAG: Fifa U 17 World Cup, India Team, Coach Luis Norton De Matos, Metos Not Happy, News In Hindi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो