भारतीय खेलों के इतिहास में पहली बार जजों के सामने होगा मुकाबला, जाने क्या है मामला

शनिवार को होने वाला यह मुकाबला पुरुष कबड्डी और महिला कबड्डी के उन खिलाड़ियों के बीच होगा जिन्होंने 18वें एशियाई खेलों में देश का प्रतिनिधित्व किया और जिन्हें चयनकर्ताओं ने टीम में जगह नहीं दी थी।

  |   Updated On : September 15, 2018 09:27 AM
भारतीय महिला कबड्डी टीम

भारतीय महिला कबड्डी टीम

नई दिल्ली:  

शनिवार को भारतीय खेल के इतिहास में कुछ ऐसा होने वाला है जो आज से पहले कभी नहीं हुआ। दिल्ली के राजीव गांधी स्टेडियम में आज भारतीय खिलाड़ी किसी खिताब के लिए नहीं बल्कि अपनी प्रतिष्ठा और सम्मान के लिए कबड्डी का मैच खेलने उतरेंगे। इतना ही नहीं, इस मैच में कौन सम्मान का अधिकारी है यह तय करने के लिए अदालत के सामने यह मैच होगा।

भारतीय खेलों के इतिहास में ऐसा पहली बार है जब अदालत की निगरानी में कोई मैच खेला जायेगा।

दरअसल पिछले महीने पूर्व कबड्डी खिलाड़ी महिपाल सिंह ने एमच्‍च्‍योर कबड्डी महासंघ पर घूस लेकर टीम के चयन का आरोप लगाते हुए दिल्‍ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। जिसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने एशियाई खेलों के समापन के बाद इस मैच का आयोजन कराने का निर्णय लिया था।

और पढ़ें: SAFF Football Cup : शनिवार को फाइनल में मालदीव से भिड़ेगा भारत, बोस ने कहा- कप्तानी से बढ़ा आत्मविश्वास

शनिवार को होने वाला यह मुकाबला पुरुष कबड्डी और महिला कबड्डी के उन खिलाड़ियों के बीच होगा जिन्होंने 18वें एशियाई खेलों में देश का प्रतिनिधित्व किया और जिन्हें चयनकर्ताओं ने टीम में जगह नहीं दी थी।

अगर एशियाई खेलों में कांस्य और रजत पदक विजेता टीम यहां हारती है तो उनके सम्‍मान और उनकी काबिलियत पर भी सवाल उठेंगे।

गौरतलब है कि एशियन गेम्‍स में जकार्ता एशियाड से पहले अजेय रहने वाली दोनों टीमों को हार का सामना करना पड़ा था और महिला टीम को फाइनल में ईरान ने और पुरुष टीम को सेमीफाइनल में ईरान ने हराया था।

मुख्‍य न्‍यायधीश न्‍यायमूर्ति राजेंद्र मेनन और न्‍यासमूर्ति वीके राव ने इस मामले की सुनवाई करते हुए दो अगस्‍त को आदेश दिया था कि 15 सितंबर को सुबह 11 बजे इसका आयोजन किया जाएगा।

और पढ़ें: Asian Games 2018 : महिला कबड्डी के फाइनल मुकाबले में ईरान ने भारत को 27-24 से हराया

पीठ ने दिल्ली हाईकोट के न्यायाधीश (रिटायर ) एस.पी गर्ग को खेल एवं युवा मंत्रालय के एक अधिकारी के साथ चयन का पर्यवेक्षक नियुक्त किया।

बता दें कि इस टीम में जगह बनाने वाले वहीं खिलाड़ी होंगे, जिन्‍होंने नेशनल कैंप में हिस्‍सा लिया था। नागर का मानाना है कि हालांकि खिलाड़ी इससे बचने की कोशिश के लिए चोट वगरैह आदि बहानों का सहारा ले सकते हैं।

First Published: Saturday, September 15, 2018 09:17 AM

RELATED TAG: Asian Games 2018, Delhi High Court, India At Asian Games, Indian Kabaddi Team,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो