ट्रेनों में भोजन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए IRCTC नए रसोई घर स्थापित करेगी: मंत्री

गत वर्ष 27 फरवरी को लागू नई नीति के अनुसार, रेलवे मंडलों को उनके द्वारा चलाए जा रहे रसोईघरों को आईआरसीटीसी को देने के आदेश दिए गए थे।

  |   Updated On : July 18, 2018 11:14 PM
IRCTC नए रसोई घर स्थापित करेगा

IRCTC नए रसोई घर स्थापित करेगा

नई दिल्ली:  

ट्रेनों में भोजन की गुणवत्ता बढ़ाने के उद्देश्य से आईआरसीटीसी नए रसोईघर स्थापित करेगी और मौजूदा रसोईघरों को अपग्रेड करेगी।

रेल राज्य मंत्री राजन गोहेन ने लोकसभा में लिखित जवाब में कहा, 'रेलवे केटरिंग एण्ड टूरिज्म कारपोरेशन लिमिटेड(आईआरसीटीसी) को मुख्यत: खाद्य तैयारियों और खाद्य वितरण के बीच अंतर कर व्यवस्थित (अनबंडलिंग) करने के लिए अधिकृत किया गया है। आईआरसीटीसी नए रसोईघरों का निर्माण करेगी और मौजूदा को अपग्रेड करेगी।'

उन्होंने कहा कि गत वर्ष 27 फरवरी को लागू नई नीति के अनुसार, रेलवे मंडलों को उनके द्वारा चलाए जा रहे रसोईघरों को आईआरसीटीसी को देने के आदेश दिए गए थे।

उन्होंने कहा, 'फूड प्लाजा, फास्ट फूड यूनिट और फूड कोर्ट का प्रबंधन लगातार आईआरसीटीसी कर रही है। मौजूदा समय में, आईआरसीटीसी ने चरणबद्ध तरीके से सभी इकाइयों का संचालन खुद संभाल लिया है।'

उन्होंने कहा कि रेलवे प्लेटफार्मो पर कई स्टॉलों को चलाने के लिए निविदा आवंटन की प्रक्रिया को सरलीकृत किया गया है।

मंत्री ने कहा कि मौजूदा रेलवे कैटरिंग प्रणाली का पुनर्निमाण करने का उद्देश्य उचित मूल्य में ग्राहकों को स्वच्छ खाना मुहैया कराना है।

और पढ़ें- आठवीं तक फेल नहीं करने की नीति में संशोधन विधेयक को LS में मिली मंजूरी

ट्रेनों में मोबाइल केटरिंग सेवा को अपग्रेड करने की पहल को रेखांकित करते हुए गोहेन ने कहा, 'यात्रियों को दिए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए प्रीपेड ट्रेन मेनू को फिर से तैयार किया गया है और शुरुआत में चुनिंदा राजधानी और दुरांतो रेलगाड़ियों में रसोई से सीधे जैव निम्नीकरणीय पदार्थो से बनी थालियों में एयर टाइट सील के साथ भोजन परोसे जाएंगे।'

इन दोनों पहल के अलावा, आईआरसीटीसी प्रीपेड ट्रेनों में हैंड सेनिटाइजर की सुविधा मुहैया कराएगी और इसे भोजन देने से पहले यात्रियों को दिया जाएगा।

मंत्री ने कहा कि आईआरसीटीसी कैटरिंग सेवा की ऑन-बोर्ड निगरानी के लिए सुपरवाइजरों की नियुक्ति की है।

गोहेन ने कहा, 'ऑन-बोर्ड निगरानी कर्मचारी के पास मोबाइल टेबलेट दिया गया है, जिसमें पहले से शिकायत या फीडबैक एप मौजूद है। इसके अलावा रियल टाइम मॉनिटरिंग के लिए बेस रसोईघरों में सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है।'

उन्होंने कहा, 'आईआरसीटीसी के 16 बेस रसोईघरों को आधुनिक और यांत्रिक तंत्रों के साथ अपग्रेड किया गया है। खाद्य सुरक्षा के ऑडिट, पके भोजन की स्वच्छता और सैंपलिंग के लिए खाद्य सुरक्षा सुपरवाइजरों की नियुक्ति की गई है।'

मंत्री ने कहा कि यात्री की सुविधाओं के लिए राजधानी और दुरांतो में सर्विस ट्रॉली की शुरुआत की गई है। इसके साथ ही चुनिंदा मोबाइल इकाइयों में सेवा प्रदाताओं द्वारा भोजन के लिए ज्यादा पैसे वसूलने से बचने के लिए पीओएस मशीन लगाई गई है।

उन्होंने कहा, 'रेलवे ने ट्रेनों में भोजन की विविधता के लिए रेडी टू इट भोजन की सुविधा शुरू की है।'

और पढ़ें- पाकिस्तान : आम चुनाव में किस्मत आजमा रहे हैं कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन

First Published: Wednesday, July 18, 2018 11:03 PM

RELATED TAG: Indian Railways, Food In Trains, Indian Railways Catering, Irctc,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो