सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद से 'बेवफा' हो रही हैं भारतीय महिलाएं, ताजा सर्वे में हुआ खुलासा

News State Bureau  |   Updated On : February 29, 2020 11:34:30 PM
unfaithful

भारत में बढ़ी महिलाओं की बेवफाई (Photo Credit : फाइल )

नई दिल्ली:  

भारत में वैवाहिक जीवन को सात जन्मों का साथ माना जाता है. पति और पत्नी दोनों के रिश्ते एक दूसरे के भरोसे पर निर्भर रहते हैं. वैवाहिक जीवन में पति और पत्नी दोनों ही एक दूसरे के प्रति समर्पित होते हैं. इस रिश्ते को भारतीय संस्कृति (Indian Culture) में बहुत ही पवित्र माना गया है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों से पश्चिमी सभ्यता की ओर बढ़ते भारतीय समाज (Indian Socity) में भी पति-पत्नी के बीच दूरी पैदा करने लगा है. इसके पीछे सक्सेस को तलाशती आज की लाइफ स्टाइल (Life Style) भी उतनी ही दोषी है. एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि अब भारतीय महिलाएं भी पहले की तरह अपने जीवनसाथी के प्रति उतनी वफादार नहीं रह गई हैं जितनी कि पहले हुआ करती थीं. इस सर्वे में यह बात सामने आई है कि अब 55 फीसदी से भी ज्यादा भारतीय महिलाएं अपने पति के प्रति वफादार नहीं हैं.

इस सर्वे में एक से एक चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. इस सर्वे से पता चलता है कि 48 प्रतिशत भारतीयों का मानना है कि, एक ही समय में दो पार्टनर्स के साथ रिलेशनशिप में रहा जा सकता है. जबकि 46 फीसदी भारतीय सोचते हैं कि किसी के साथ रिलेशनशिप में रहते हुए भी उनके साथ बेवफाई की जा सकती है. आपको बता दें कि यही वो वजह है जिससे किसी अफेयर के राज खुल जाने के बावजूद भी भारतीय अपने पार्टनर को माफ करने को तैयार रहते हैं. इस सर्वे में यह भी बात सामने आई है कि 7 फीसदी भारतीय बिना कुछ सोचे अपने पार्टनर को माफ कर देंगे, जबकि 40 फीसदी ने कहा कि अगर रिलेशन बहुत ज्यादा खराब नहीं है तो अपने साथी को माफ किया जा सकता है, जबकि लगभग 70 फीसदी ने ये माना कि उनका साथी ऐसे कामों में पकड़े जाने के बाद भी उन्हें माफ कर देगा.

आपको बता दें कि यह देश की राजधानी दिल्ली, आर्थिक राजधानी मुंबई के अलावा चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरु, अहमदाबाद, कोलकाता और पुणे जैसे महानगरों में 25 साल से लेकर 50 साल के शादीशुदा लोगों पर किया गया है, यह सर्वे विवाहेत्तर डेटिंग एप ‘ग्लीडन’ द्वारा किया गया है. इस सर्वे में जो खुलासे निकल कर सामने आए हैं आप सुनकर दंग रह जाएंगे.

यह भी पढ़ें-Delhi Violence : मुस्लिम पड़ोसी को बचाने आग में कूदा हिन्दू युवक, दंगाई भी हुए शर्मसार

दुनिया में सबसे कम तलाक भारत में
इस सर्वे के मुताबिक भारत जैसे देश में तलाक की दर दुनिया में सबसे कम है सर्वे के अनुसार भारत में तलाक दुनिया के अन्य देशों की तुलना में सबसे कम महज एक फीसदी ही है. आपको बता दें कि भारत में प्रति एक हजार दंपतियों में से महज 13 दंपति ही तलाक लेते हैं इसके अलावा भारत में 90 फीसदी विवाह घर परिवार वालों की मर्जी से किए जाते हैं जबकि लव मैरिज महज 5 फीसदी लोग ही करते हैं.

यह भी पढ़ें-Bhima Koregaon Violence: महाराष्ट्र सरकार ने भीमा कोरेगांव हिंसा के 348 केस वापस लिए 

भारत में अब खुलकर रिलेशनशिप पर बात कर रहीं हैं महिलाएं
इस सर्वे में ये खुलासा भी हुआ है कि लगभग 50 फीसदी लोग अपने पार्टनर के अलावा अन्य लोगों से भी संबंधों में रहें हैं यानि कि ये लोग कहीं न कहीं अपने पार्टनर से धोखा कर रहे हैं. इस सर्वे में 49 फीसदी लोगों ने इस बात को स्वीकार किया है कि वो अपने पार्टनर के अलावा किसी और के साथ भी रिलेशनशिप में रहे हैं. इसके अलावा इस सर्वे ने एक और खुलासा किया है कि 47 फीसदी लोगों ने माना है कि उन्होंन कैजुअल सेक्स किया है.

यह भी पढ़ें-Delhi Violence: 'आप' पार्षद ताहिर हुसैन की घर और फैक्ट्री सील, छत पर मिले थे पेट्रोल बम

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद बेफिक्र हुईं महिलाएं
इस सर्वे भारतीय महिलाओं के बारे में एक और खुलासा किया है जो कि उनकी छवि से इतर है. इस सर्वे में पता चला कि अब तक जो भारतीय महिलाओं की छवि बनी थी वो अब नहीं रही है. इस सर्वे में 41 फीसदी महिलाओं ने यह स्वीकार किया है कि उन्होंने अपने पति के अलावा किसी और के साथ भी नियमित तौर पर सेक्सुअल रिलेशनंस बनाए हैं. वहीं अगर पुरुषों में देखा जाए तो यह आंकड़ा 26 फीसदी का है. इसके अलावा इस सर्वे में शादीशुदा 53 फीसदी महिलाओं ने कबूल किया कि उन्होंने अपने पति के अलावा किसी अन्य के साथ भी रिलेशनशिप की बात स्वीकार की है, वहीं पुरुषों में ये आंकड़ा 43 फीसदी तक जाता है. सर्वे करने वाले एप ग्लीडन ने माना है कि सुप्रीम कोर्ट ने साल 2018 में एडल्ट्री पर जो फैसला दिया था उसके बाद इस तरह के फैसले लेने की महिलाओँ में बाढ़ सी आ गई है.

First Published: Feb 27, 2020 08:05:59 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो