BREAKING NEWS
  • सोशल मीडिया पर चढ़ा Howdy Modi बुखार, अकेले मोदी ने भारत की वैश्‍विक छवि को बदल दिया है- Read More »
  • डोनाल्ड ट्रंप का आतंकवाद पर बड़ा बयान, भारत के साथ मिलकर इस्लामिक आतंकवाद से लड़ेंगे- Read More »
  • Howdy Modi : Houston में पीएम मोदी की दहाड़, अबकी बार ट्रंप सरकार- Read More »

दफ्तर में राजनीतिक बातें करने वाले सावधान, जा सकती है नौकरी, Google ने जारी किया फरमान

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : August 25, 2019 05:18:18 PM
प्रतिकात्‍मक तस्‍वीर

प्रतिकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली:  

गूगल (Google)ने अपने कर्मचारियों के लिए नया फरमान जारी किया है और वो ये है कि अब वो दफ्तर में किसी भी तरह की राजनीतिक बातें नहीं कर सकते हैं. ऐसा करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी या फिर उसकी नौकरी भी जा सकती है. नए दिशा निर्देश को अमेरिकी चुनाव में राष्ट्रपति ट्रंप के हेरा-फेरी के आरोप से जोड़कर देखा जा रहा है. माना जा रहा है कि राष्ट्रपति ट्रंप के चुनाव में हेर-फेर करने के आरोपों के बाद कंपनी ने यह कदम इसलिए उठाया है ताकि भविष्य में उस पर इस तरह के आरोप न लगे.

यह भी पढ़ेंः अनंत में विलीन अरुण जेटली की वो अनसुनी बातें, जिन्‍हें जानना चाहेंगे आप

गूगल (Google)ने अपने कर्मचारियों को एक दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा है कि वो दफ्तर में राजनीति समेत अन्य गैर जरूरी मुद्दों पर बहस करने की बजाय अपने काम पर ध्यान दें. अलग-अलग विभागों के मैनेजरों और फोरम का नेतृत्व करने वाले लोगों को इसे सुनिश्चित करने को कहा गया है और इसका उल्लंघन करने वाले के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई किए जाने को लेकर सावधान भी किया गया है.

यह भी पढ़ेंः अजब-गजब: अंतरिक्ष में दर्ज हुआ पहला अपराध, इस Astronaut पर लगे गंभीर आरोप

गूगल (Google)द्वारा कहा गया है कि कर्मचारियों के बीच राजनीतिक मसले पर बहस होगी तो वो सार्वजनिक होगी. इसके लिए कंपनी को जिम्मेदार ठहराया जाएगा जिससे गलत प्रभाव पड़ेगा क्योंकि गूगल (Google)किसी भी उत्पाद, कारोबार या फिर राजनीतिक विमर्श से दूर रहता है इसलिए गलत या भ्रामक बयान देने से कर्मचारियों को बचना चाहिए. ऐसा होने पर लोगों के बीच हमारी कंपनी से भरोसा कम होगा.

यह भी पढ़ेंः हमेशा डराने वाला Asteroid भी बना सकता है अमीर, नासा ने खोजा एक ऐसा एस्टेरॉयड जिस पर है सोना

बता दें कि गूगल (Google)से निकाले गए एक इंजीनियर के बयान को आधार बनाते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया था कि गूगल (Google)ने डेमोक्रेटिक पार्टी की राष्ट्रपति उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के पक्ष में 16 मिलियन वोट का हेरफेर किया था. हालांकि गूगल (Google)ने इसे पूरी तरह बेबुनियाद बताया था.

First Published: Aug 25, 2019 05:18:18 PM

RELATED TAG: Google, Jobs,

Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो