गोवा में कांग्रेस ने सरकार बनाने का किया दावा, राज्यपाल को पत्र लिख कहा- पर्रिकर के पास बहुमत नहीं
Saturday, 16 March 2019 06:26 PM

नई दिल्ली:  

गोवा के अस्वस्थ मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बिगड़ने की खबरें आने पर शनिवार को कांग्रेस ने गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा को पत्र भेजकर सरकार बनाने का दावा किया. राज्यपाल को संबोधित पत्र में नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर ने कहा कि पर्रिकर के नेतृत्ववाली सरकार अल्पमत में है और इसके विधायकों की संख्या और घट सकती है.

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन सरकार को बर्खास्त करने और विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की मांग की.

मृदुला सिन्हा को लिखे पत्र में कावलेकर ने कहा, 'प्रसंगवश भाजपा के दिवंगत विधायक फ्रांसिस डिसूजा की याद आती है, जिन्होंने विनम्रतापूर्वक कहा था कि मनोहर पर्रिकर के नेतृत्ववाली भाजपा सरकार लोगों का विश्वास पूरी तरह खो चुकी है और अब सदन में भी संख्याबल खो चुकी है.'

यह अनुरोध करते हुए कि ऐसी अल्पमत सरकार को इस समय सत्ता में बने रहने की अनुमति न दें, उन्होंने लिखा, 'हमारा यह भी अनुमान है कि भाजपा विधायकों की संख्या गिनती में और कम पड़ेगी.'

कावलेकर ने कहा, 'इसलिए आपका कर्तव्य बनता है कि भाजपा के नेतृत्ववाली सरकार को बर्खास्त कर यह सुनिश्चित करें कि इस समय सदन में बहुमत रखनेवाली सबसे बड़ी पार्टी इंडियन नेशनल कांग्रेस को सरकार गठन के लिए आमंत्रित किया जाए.'

कांग्रेस ने इससे पहले भी राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर वैकल्पिक सरकार बनाने का न्यौता देने का अनुरोध कर चुकी है. 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ा दल है और उसके पास 14 विधायक हैं. जबकि बीजेपी के पास 13 सीटें हैं. इसके साथही महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के 3, गोवा फार्वड पार्टी के 3 विधायक और 3 निर्दलीय एमएलए का समर्थन हासिल है.

इसे भी पढ़ें: 'पाकिस्तान अगर आतंकवाद पर गंभीर है तो दाउद इब्राहिम, सैयद सलाउद्दीन को भारत को सौंपे'

इधर, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक पूर्व विधायक ने गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बिगड़ने वाली रिपोर्ट्स को खारिज करते हुए शनिवार को कहा कि उनकी हालत स्थिर है. पर्रिकर के करीबी सहयोगी सिद्धार्थ कुनकोलियेंकर ने कहा कि राज्य सरकार के डॉक्टर उनकी नियमित जांच कर रहे हैं. सिद्धार्थ ने पणजी के पास पर्रिकर के घर से लौटने के बाद मीडिया से कहा, 'वर्तमान में उनके पास गोवा मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) के डॉक्टर हैं. नियमित जांच की जा रही है वह स्थिर हैं.

गौरतलब है कि सीएम पर्रिकर के फरवरी 2018 में अग्नाशय के कैंसर से पीड़ित होने की पुष्टि की गई थी. जिसके बाद से लगातार उनका इलाज चल रहा है. गोवा, मुंबई और अमेरिका सहित कई जगहों के अस्पतालों में इलाज हो चुका है. वे दिल्ली के एम्स में अग्नाश्य संबंधी बीमारी का इलाज करा रहे थे.

(IANS इनपुट के साथ)

2018 News Nation Network Private Limited