गोवा के डिप्टी स्पीकर ने कहा-मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत ठीक नहीं
Sunday, 17 March 2019 12:08 AM

नई दिल्ली:  

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर लंबे समय से बीमार चल रहे हैं. गोवा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर माइकल लोबो ने जानकारी देते हुए कहा कि हम उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं. लेकिन उनके ठीक होने की उम्मीद नहीं है. उन्होंने कहा, उनकी तबीयत बहुत ज्यादा खराब है. अगर उनको कुछ भी होता है तो गोवा का अगला सीएम भी बीजेपी का ही होगा. उन्होंने कहा, कि जब तक पर्रिकर यहां पर हैं तब तक बीजेपी का नेतृत्व गोवा में नहीं बदलेगा, वह सीएम बने रहेंगे.

माइकल लोबो ने कहा कि बीती रात पर्रिकर की तबीयत ज्यादा खराब होने के बाद इमरजेंसी मीटिंग बुलाई गई. वे डॉक्टर की निगरानी में हैं और वे ये नहीं कह रहे हैं कि पर्रिकर ठीक नहीं होंगे. उन्होंने कहा कि विधानसभा की 3 सीटों पर उपचुनाव भी होना है. इसको लेकर उम्मीदवारों के नाम पर भी बात हुई.

यह भी पढ़ें- Ladies Toilet से अचानक आने लगी चीखने की आवाज, बाहर खड़े लोगों ने बुर्के वाली 'महिला' की कर दी धुनाई और फिर..

इससे पहले शनिवार को कांग्रेस ने गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा को पत्र भेजकर सरकार बनाने का दावा किया. राज्यपाल को संबोधित पत्र में नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर ने कहा कि पर्रिकर के नेतृत्ववाली सरकार अल्पमत में है और इसके विधायकों की संख्या और घट सकती है.

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन सरकार को बर्खास्त करने और विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की मांग की.

मृदुला सिन्हा को लिखे पत्र में कावलेकर ने कहा, 'प्रसंगवश भाजपा के दिवंगत विधायक फ्रांसिस डिसूजा की याद आती है, जिन्होंने विनम्रतापूर्वक कहा था कि मनोहर पर्रिकर के नेतृत्ववाली भाजपा सरकार लोगों का विश्वास पूरी तरह खो चुकी है और अब सदन में भी संख्याबल खो चुकी है.'

यह अनुरोध करते हुए कि ऐसी अल्पमत सरकार को इस समय सत्ता में बने रहने की अनुमति न दें, उन्होंने लिखा, 'हमारा यह भी अनुमान है कि भाजपा विधायकों की संख्या गिनती में और कम पड़ेगी.'

कावलेकर ने कहा, 'इसलिए आपका कर्तव्य बनता है कि भाजपा के नेतृत्ववाली सरकार को बर्खास्त कर यह सुनिश्चित करें कि इस समय सदन में बहुमत रखनेवाली सबसे बड़ी पार्टी इंडियन नेशनल कांग्रेस को सरकार गठन के लिए आमंत्रित किया जाए.'

कांग्रेस ने इससे पहले भी राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर वैकल्पिक सरकार बनाने का न्यौता देने का अनुरोध कर चुकी है. 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ा दल है और उसके पास 14 विधायक हैं. जबकि बीजेपी के पास 13 सीटें हैं. इसके साथही महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के 3, गोवा फार्वड पार्टी के 3 विधायक और 3 निर्दलीय एमएलए का समर्थन हासिल है.

2018 News Nation Network Private Limited