J&K: सेना ने ढेर किये 13 आतंकी, 3 जवान शहीद, अलगाववादियों ने बुलाया बंद

जम्मू एवं कश्मीर में रविवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में 13 आतंकवादी मारे गए, और तीन सैनिक भी शहीद हो गए।

  |   Updated On : April 01, 2018 10:16 PM

जम्मू-कश्मीर :  

जम्मू एवं कश्मीर में रविवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में 13 आतंकवादी मारे गए, और तीन सैनिक भी शहीद हो गए। इसके अलावा 4 नागरिकों की भी मौत हो गई। पिछले साल मई में लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या करने वाला आतंकवादी भी मृतकों में शामिल है।

13 आतंकवादियों में से 12 शोपियां जिले में हुई दो मुठभेड़ों में मारे गए, जबकि एक आतंकवादी अनंतनाग जिले में मारा गया। इस मुठभेड़ को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच सबसे भीषण मुठभेड़ माना जा रहा है।

इस साल आतंकियों के खिलाफ एक दिन में की गई यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। इससे पहले 15 जनवरी को उड़ी सेक्टर के दुलंजा में छह आतंकी मारे गए थे।

और पढ़ें: 11 आतंकियों की मौत के बाद घाटी में तनाव, बंद की गई इंंटरनेट सेवा

सेना, पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने कहा कि दिन के अंत तक 13 आतंकवादियों, तीन सैनिकों और चार नागरिकों की मौत हो चुकी थी। शहीद जवानों सिपाही हेतराम,  गनर अरविंदर कुमार और गनर निलेश सिंह शामिल है। 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अनंतनाग के दियालगाम में एक आतंकवादी मारा गया, जबकि एक अन्य आतंकवादी गिरफ्तार किया गया।

लश्कर-ए-तैयबा से थे जुड़े तार

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद और लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट ने ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि शोपियां में मारे गए 7 आतंकियों की पहचान कर ली गई है। वे सभी स्थानीय ही थे। ये हिजबुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े थे।

शोपियां के द्रागढ़ गांव में सात आतंकवादी और कचदूरा गांव में पांच आतंकवादी मारे गए।

उन्होंने लेफ्टिनेंट फैयाज के कातिलों की पहचान अहमद मलिक और रईस ठोकर के रूप में हुई है। दोनों की मौत द्रागढ़ मुठभेड़ में हुई।

और पढ़ें: CBSE पेपर लीक मामले में दिल्ली क्राइंम ब्रांच ने सुलझाया केस, बताया कैसे हुआ पेपर लीक

स्थानीय लोगों के साथ झड़प

आतंकवादियों के मारे जाने की खबर इलाके में फैलने के बाद इलाके में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। स्थानीय निवासियों के घरों से निकल कर सड़क पर उतर आने से सुरक्षाबलों की परेशानी और बढ़ गई।

मुठभेड़ में आतंकियों के मारे जाने के दौरान स्थानीय लोग सड़क पर उतर आए और सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष में चार नागरिक की मौत हो गई, जबकि 50 से ज्यादा घायल हो गए।

अलगाववादियों ने बुलाया 2 दिनों का बंद

ज्वाइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) के नेतृत्व में राज्य के अलगाववादियों ने कश्मीर में दो दिनों के बंद का आह्वान किया है। जेआरएल के प्रवक्ता ने इस दौरान राज्य के लोगों से सभी काम छोड़कर आतंकियों के जनाजे में शामिल होने की अपील की है।

और पढ़ें: स्पेस मिशन को झटका, GSAT-6 से टूटा संपर्क, ISRO में बैठकों का सिलसिला जारी

 
First Published: Sunday, April 01, 2018 09:53 PM

RELATED TAG: Kashmir Encounter, Jammu Kashmir,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो