राम मंदिर पर सियासत तेज, योगी ने मोहन भागवत और वीएचपी नेताओं से की मुलाकात

News State Bureau  |   Updated On : June 26, 2018 11:00:45 PM
योगी आदित्यनाथ और मोहन भागवत (फाइल फोटो: IANS)

योगी आदित्यनाथ और मोहन भागवत (फाइल फोटो: IANS) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

अयोध्या में राम मंदिर बनने को लेकर संतों को भरोसा दिलाने के एक दिन बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के साथ बैठक की।

योगी आदित्यनाथ ने मोहन भागवत के अलावा मंगलवार को आरएसएस और विश्व हिंदु परिषद (वीएचपी) के कई नेताओं के साथ विचार-विमर्श किया।

वीएचपी ने भी अपनी गवर्निंग काउंसिल की बैठक में राम मंदिर मुद्दे को लेकर बीतचीत की है।

योगी आदित्यनाथ ने आरएसएस कार्यकारिणी के प्रमुख भैयाजी जोशी के साथ दो घंटों तक बातचीत की, उसके बाद उन्होंने मोहन भागवत के साथ बैठक की।

2019 लोकसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरू होने के साथ ही इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है।

इससे पहले सोमवार को आदित्यनाथ ने कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर बनेगा। संतों को इस मुद्दे पर कुछ समय और धैर्य रखने की जरूरत है।

और पढ़ें: चार सालों से जारी अघोषित आपातकाल के लिए बीजेपी मांगे माफी: अहमद पटेल

सूत्रों ने कहा कि इस मीटिंग में अगले साल फरवरी में इलाहाबाद में होने वाले कुम्भ मेला पर भी चर्चा की गई। आरएसएस और वीएचपी इस मेले में हिस्सा लेगी।

190 देशों की हिस्सेदारी के साथ कुम्भ मेला को बड़े पैमाने पर सफल बनाने की योजना है।

बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के लिए ये हिन्दुत्ववादी संगठन बड़ी भूमिका अदा कर सकते हैं।

समाजवादी पार्टी (एसपी) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के संभावित गठबंधन से बीजेपी को कड़ी टक्कर मिल सकती है इसलिए हिंदुत्व संगठन ध्रुवीकरण में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

और पढ़ें: नीतीश कुमार के लिए महागठबंधन के सारे दरवाजे हमेशा के लिए बंद: तेजस्वी

First Published: Jun 26, 2018 11:00:23 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो