Flashback 2019: वो 56 घंटे जिसने अभिनंदन को बना दिया 'सुपर हीरो'

NITU KUMARI  |   Updated On : December 16, 2019 08:29:11 PM
Flashback 2019: वो 56 घंटे जिसने अभिनंदन को बना दिया 'सुपर हीरो'

अभिनंदन वर्धमान (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

विंग कमांडर अभिनंदन (wing commander abhinandan varthaman) अब किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं. उनकी बहादुरी का लोहा भारत समेत पूरी दुनिया मान रही है. दुश्मन की मुंह से अभिनंदन ने जैसे ही वतन वापसी की वैसे ही वो 'सुपह हीरो' बन गए. पाकिस्तान में अपनी बहादुरी का परचम लहराते हुए अभिनंदन 1 मार्च 2019 को स्वदेश वापसी की. अभिनंदन 56 घंटे पाकिस्तान में रहें और अपनी बहादुरी का परचम लहराते हुए वतन लौटे. पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने वाले विंग कमांडर के 56 घंटे की पूरी कहानी जानें-

-26 फरवरी 2019 रात के साढ़े तीन बजे के करीब भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर बालाकोट और पीओके के कई इलाकों में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को तबाह कर दिया. जिसमें कई आतंकी मारे गए. भारत की इस कार्रवाई से पाकिस्तान बौखला उठा और 27 फरवरी को पाकिस्तान के लड़ाकू विमान भारत की सरजमीं में दाखिल हुए. जिसमें अमेरिका की तरफ से पाकिस्तान को मिला F-16 लड़ाकू विमान भी शामिल था.

-पाकिस्तान की तरफ से फाइटर प्लेन को आता देखकर भारतीय वायुसेना ने मोर्चा संभाला. पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने राजौरी भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की. हालांकि पहले से सतर्क भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के विमान को घेर लिया. जिसमें एक मिग-21 फाइटर जेट भी शामिल था, जिसमें विंग कमांडर अभिनंदन सवार थे.

-इसके बाद भारतीय लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों को खदेड़ना शुरू कर दिया. मिंग -21 में सवार अभिनंद ने पाकिस्तान के F-16 फाइटर जेट को मार गिराया और दुश्मनों को भागने पर मजबूर कर दिया.

इसे भी पढ़ें:बहादुर विंग कमांडर अभिनंदन की वतन वापसी, पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- वेलकम होम, पढ़ें किसने क्या कहा

-हालांकि हवाई भिड़ंत में मिग-21 गिर गया और पाकिस्तान की ओर जा गिरा. इस विमान में विंग कमांडर अभिनंदन सवार थे. विंग कमांडर अभिनंदन ने पैराशूट से छलांग लगा दी और वो पीओके में पहुंच गए, जहां पाकिस्तानी फौज ने उनको पकड़ लिया.

-27 फरवरी की शाम तक पाकिस्तान दावा करता रहा कि उसके हिरासत में भारत के 2 पायलट हैं. लेकिन बाद में वो अपने बयान से पलट गया और बताया कि उसके कब्जे में भारत का सिर्फ एक पायलट है. जिसके बाद पाकिस्तानी सेना ने एक वीडियो जारी किया. इस वीडियो में एक IAF पायलट को खुद को विंग कमांडर अभिनंदन के रूप में पहचानते हुए दिखाया गया.

-हालांकि भारत ने उस वक्त यह स्वीकार नहीं किया कि उसका पायलट पाकिस्तान के कब्जे में हैं. वो उसे लापता बता रहे थे. इसके बाद पाकिस्तान ने एक और वीडियो जारी किया जिसमें विंग कमांडर अभिनंदन से पूछताछ की जा रही है. इस वीडियो में अभिनंदन चाय पीते नजर आए और उनसे सवाल-जवाब किए जा रहे थे.

-इसके बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि भारतीय पायलट को पाकिस्तान ने हिरासत लिया है और उसका वीडियो जारी करना मानवीय कानून और जिनेवा कन्वेंशन के नियमों का उल्लंघन है. भारत ने पाकिस्तान से अभिनंदन को छोड़ने को भी कहा.

- इसके बाद भारत के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त को तलब किया और पाकिस्तान की ओर से भारतीय वायुसीमा का उल्लंघन करने, अभिनंदन को हिरासत में लेने का विरोध जताया.

-27 फरवरी की शाम एक बार फिर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान मीडिया के सामने आए और अपनी बात रखी. उन्होंने भारत से बातीचत करने को कहा.

- 28 फरवरी को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि अगर भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन की वापसी से सीमा पर तनाव कम होता है, तो वो इसके लिए विचार करने को तैयार हैं.

-भारत सरकार ने बिना शर्त फौरन पायलट अभिनंदन की रिहाई की मांग की और कहा कि इस पर कोई सौदेबाजी नहीं की जाएगी.

- 28 फरवरी को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए ऐलान किया कि वो शुक्रवार को भारतीय पायलट अभिनंदन को छोड़ देंगे. इस दौरान उन्होंने यह दावा भी किया कि वो शांति पहल के तहत विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा कर रहे हैं.

- इधर अभिनंदन की रिहाई के बाद पीएम मोदी ने कहा कि एक पायलट प्रोजेक्ट पूरा हो गया है. यह प्रैक्टिस थी अब असली में करना है.

- 28 फरवरी को ही भारतीय सेना, वायुसेना और नौसेना ने शाम को एक साझा प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की, जिसमें पाकिस्तान के झूठ को बेनकाब करने वाले सबूत पेश किए गए.

-वायुसेना के अधिकारी ने बताया कि भारतीय सीमा में पाकिस्तान का फाइटर प्लेन एफ-16 आया और उसमें लगने वाले मिसाइल के टुकड़े राजौरी में मिले. इस दौरान उस मिसाइल के टुकड़े भी मीडिया को दिखाए गए. इससे पहले पाकिस्तान ने दावा किया था कि उसका कोई भी F-16 ऑपरेशन का हिस्सा नहीं था.

- 1 मार्च को सुबह से ही हिंदुस्तान में विंग कमांडर अभिनंदन की वापसी का इंतजार हो रहा था. पाकिस्तान ने 10 बजे अभिनंदन को छोड़ने की बात कही. लेकिन वो अपने वादे पर खरा नहीं उतरा.

और पढ़ें:विंग कमांडर की वतन वापसी पर सानिया मिर्ज़ा ने कहा, बहादुरी को सलाम

-फिर उसने बीटिंग द रिट्रीट के बाद विंग कमांडर अभिनंदन को सौंपने की बात कही, भारत ने अभिनंदन की वापसी के मद्देनजर बीटिंग द रिट्रीट को भी रद्द कर दिया

- 1 मार्च शाम हो गई फिर रात लेकिन अभिनंदन को वाघा बॉर्डर पर नहीं लगाया गया. पाकिस्तान अभिनंदन को वाघा से 8 किलोमीटर पहले बाटापुर सैन्य कैंप में रोक लिया था.

-इंतजार लंबी हो चली थी और वो खत्म रात 9 बजे हुआ जब पाकिस्तान ने विंग कमांडर अभिंनंद को भारत को सौंपा. 1 मार्च को अभिनंदन का अटारी बॉर्डर पर जोरदार स्वागत किया गया. यहां से उन्हें अमृतसर ले जाया गया फिर स्पेशल विमान से दिल्ली मेडिकल चेकअप के लिए ले जाया गया.

First Published: Dec 16, 2019 08:28:39 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो