BREAKING NEWS
  • Indian Railway: दिवाली और छठ के लिए नहीं मिला कन्फर्म टिकट तो घबराएं नहीं, इन नई ट्रेनों में करा सकते हैं रिजर्वेशन- Read More »
  • अकाल तख्त (Akal Takht) प्रमुख बोले- बैन हो आरएसएस मोहन भागवत (RSS Chief Mohan Bhagwat) का बयान देशहित में नहीं- Read More »
  • बिहार : डेंगू के मरीजों को देखने गए केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर दो युवकों ने फेंकी स्याही, देखें VIDEO- Read More »

VVIP हेलीकॉप्टर घोटाला मामला: कमलनाथ के भांजे को गिरफ्तारी से सोमवार तक अंतरिम राहत

BHASHA  |   Updated On : July 27, 2019 05:44:21 PM
कमनाथ का भांजा रतल पुरी (फाइल फोटो)

कमनाथ का भांजा रतल पुरी (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले से जुड़े़ धनशोधन मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को यहां की एक अदालत ने गिरफ्तारी से सोमवार तक अंतरिम राहत दे दी. हालांकि, अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के आग्रह के बाद पुरी को निर्देश दिया कि वह आज शनिवार को शाम पांच बजे ईडी निदेशालय में जांच में शामिल हों. अदालत मामले में अगली सुनवाई 29 जुलाई को करेगी.

यह भी पढ़ेंः मप्र के मंत्री ने सीएम कमलनाथ को बताया "सूबे का इकलौता शेर"

‘हिंदुस्तान पॉवर प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड’ के अध्यक्ष पुरी ने अदालत से कहा कि मध्य प्रदेश में कुछ दिन पहले भाजपा के दो विधायक सत्तारूढ़ कांग्रेस में शामिल हो गए थे और अब ईडी उन्हें (पुरी) गिरफ्तार करना चाहता है क्योंकि उनके मामा राज्य के मुख्यमंत्री हैं. पुरी ने मामले में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की थी और अपनी गिरफ्तारी की आशंका जताई थी. उन्होंने कहा कि वह जांच में सहयोग कर रहे हैं और उनकी गिरफ्तारी की कोई आवश्यकता नहीं है. विशेष न्यायाधीश इंदरजीत सिंह ने पुरी को गिरफ्तारी से 29 जुलाई तक के लिए अंतरिम राहत प्रदान कर दी. पुरी को राहत दिए जाने का आग्रह करते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता ए एम सिंघवी ने अदालत से कहा कि उनका मुवक्किल भाग नहीं रहा है.

वकील ने पुरी की ओर से अदालत से कहा, आप (ईडी) मेरा पासपोर्ट ले सकते हैं। मुझे जब भी बुलाया जा रहा है, मैं ईडी के समक्ष पेश हो रहा हूं. मैं 22 बार पेश हो चुका हूं और आप अचानक से मुझे गिरफ्तार करना चाहते हैं. मैं कानून का पालन करने वाला नागरिक हूं। कल जब मैं वहां था तो मुझे पता चला कि वे मेरे घर पहुंच गए हैं और मेरे परिवार को प्रताड़ित कर रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक का 'नाटक' नहीं हुआ खत्म, अब बीजेपी के निशाने पर आए स्पीकर केआर रमेश कुमार; जानें कैसे

उन्होंने मामले में राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप लगाया. ईडी ने मामले में जिरह के लिए समय मांगा और पुरी को गिरफ्तारी से अंतरिम राहत दिए जाने का विरोध किया. पुरी की ओर से पेश एक अन्य वकील विजय अग्रवाल ने कहा कि ईडी अंतरिम राहत देने का इसलिए विरोध कर रहा है क्योंकि वह मेरे मुवक्किल को मेरे बाहर निकलते ही गिरफ्तार करना चाहता है.

शुक्रवार को पुरी कथित तौर पर शौचालय जाने के बहाने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के जांचकर्ताओं को चकमा देकर निकल गए थे. वह मामले में पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश हुए थे. अधिकारियों ने शनिवार को आरोप लगाया कि पुरी ने जांच अधिकारी से शौचालय जाने के लिए थोड़ा समय मांगा, लेकिन वह वापस नहीं लौटे. ऐसा माना जाता है कि एजेंसी के अधिकारियों ने तब उनसे मोबाइल फोन पर संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन फोन बंद था.

यह भी पढ़ेंः कोचिंग संचालक ने छात्रा के साथ किया दुष्कर्म, अश्लील VIDEO बनाकर सोशल मीडिया पर किया VIRAL

अधिकारियों ने कहा कि एजेंसी पूछताछ के लिए अब उन्हें फिर से सम्मन भेजने पर विचार कर रही है. पुरी से एजेंसी विगत में भी पूछताछ कर चुकी है. वह नीता और दीपक पुरी के पुत्र हैं. नीता कमलाथ की बहन हैं. दीपक पुरी ऑप्टिकल स्टोरेज मीडिया फर्म मोजर बेयर के सीएमडी हैं. वीवीआईपी के लिए अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीदने के लगभग 3,600 करोड़ रुपये के सौदे को भारत ने भ्रष्टाचार और रिश्वत के आरोपों के चलते रद्द कर दिया था. मामले की जांच ईडी और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा की जा रही है. जांच एजेंसियां इस मामले में पहले ही कई आरोपपत्र दाखिल कर चुकी हैं.

First Published: Jul 27, 2019 05:44:21 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो