BREAKING NEWS
  • बड़ी खबर : कुलभूषण जाधव को यह अधिकार देने को अपने कानून में बदलाव कर सकता है पाकिस्‍तान- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »
  • Horoscope, 13 November: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 13 नवंबर का राशिफल- Read More »

यह गांव सवर्णों का है कृपया वोट मांग कर शर्मिंदा ना हों, ऐसी तमाम खबरें बस एक Click पर

News State Bureau  |   Updated On : January 18, 2019 11:35:22 AM

नई दिल्‍ली:  

इस गांव ने अपने दिल की बात इस बोर्ड पर लिख दी है. बीजेपी सरकार के खिलाफ इनका ये गुस्सा एससी एसटी एक्ट को लेकर है. इस गांव के लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी एससी एसटी एक्ट में सरकार के रुख पर काफी नाराज हैं. इसके साथ ही ये लोग हाल ही में सवर्णों के लिए आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण से भी खुश नहीं हैं क्योंकि इनका साफ कहना नौकरी ही नहीं है तो देंगे कहां से. बता दें कि इस गांव में करीब डेढ़ लाख सवर्ण वोटर हैं ऐसे में चुनाव में इनता वोट काफी मायने रखता है.

बूथों की टीम को चुनावी रणनीति का पाठ पढाएंगे शाह

यूपी में बड़ी जीत के लिए बीजेपी बूथ फतह की राजनीति के साथ उतरने वाली है इसके लिए खुद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह बूथों की टीम को चुनावी रणनीति का पाठ पढाएंगे. अमित शाह देंगे चुनावी रणनीति का पाठ. 2 फरवरी को गजरौला में बूथ सम्मेलन का आयोजन. 2750 बूथों की टीम को देंगे जीत का मंत्र. 'मेरा बूथ सबसे मजबूत' और 'बूथ जीता, सब जीता' देगी पार्टी. बीजेपी का मानना है कि यूपी में महागठबंधन को मात देने के लिए बूथ स्तर पर काम करना बेहद जरूरी है इसके लिए बीजेपी एक बार फिर बूथ और पन्ना प्रमिख की टीम बनाकर काम करेगी.बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव में भी पार्टी ने इसी रणनीति के साथ काम किया था और बार फिर इसी रणनीति के साथ पार्टी लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है.

टारगेटा पूरा नहीं करने पर कंपनी दी अनोखी सजा

तस्वीरों में देख सकते हैं सड़क पर करीब दो दर्जन लोग रेंगते हुए जा रहे हैं.लाइन लगाकर शहर के मुख्य सड़क पर ये लोग रेंग रहे हैं और आगे एक शख्स झंडा लेकर चल रहा है. इन लोगों को इनके दफ्तर ने ये सजा दी है. दरअसल टारगेटा पूरा नहीं करने की वजह से कंपनी ने इन लोगों का ये हाल किया है...और इनके आगे जो शख्स चल रहा है वो कंपनी का झंडा लिए चल रहा है. हालांकि कुछ देर बाद पुलिस के हस्तक्षेप के बाद इस अमानवियता को रोका गया. ये पहली बार नहीं है जब चीन में किसी कंपनी ने ऐसी सजा दी है. इससे पहले भी ऐसी तस्वीरें सामने आई थीं जब टारगेट पूरी नहीं करने पर कंपनी के कर्मचारियों को एक महिला कर्मचारी के हाथों थप्पड़ खिलवाया था.

ओमप्रकाश राजभर का फिल्मी अंदाज

ओमप्रकाश राजभर का ये फिल्मी अंदाज सीधे तौर पर लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी के लिए किसी चेतावनी से कम नहीं है क्योंकि लंबे वक्त से पार्टी से नाराज ओमप्रकाश राजभर इस बार चुनाव में सभी 80 सीटों पर अपनी पार्टी का उम्मीदवार उतार सकते हैं. चुनावी रणनीति को लेकर बात करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने सीधे तौर पर आरक्षण का मुद्दा उठाते हुए ये कहा कि अगर पार्टी उनकी बात नहीं मानती है तो यूपी में नुकसान झेलना पड़ सकता है साथ ही गठबंधन को यूपी में काफी मजबूत करार दिया है. ओमप्रकाश राजभर लंबे वक्त से बीजेपी को चेतावनी दे रहे हैं ऐसे में माना ये जा रहा है कि अच्छा मौका मिलते ही वो अपना रास्ता बदल लेंगे.

जातियों का नए सिरे से वर्गीकरण होगा

ओबीसी कमिशन की रिपोर्ट में सभी मंत्रालयों में काम करने वाले ओबीसी कर्मचारियों की संख्या और उनकी जातियों को उप्लब्ध कराने को कहा गया है. डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग की ओर से 12 जनवरी को भेजे गए निर्देश में हर हाल में शुक्रवार तक ये लिस्ट मांगी गई है. माना जा रहा है कि सरकार अपने अंतिम सत्र में इस रिपोर्ट को पेश कर सकती है. बता दें कि कमिशन को जो रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है उसमें राज्य सरकार, राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग, विभिन्न सामुदायिक संगठन और पिछड़े वर्गों से जुड़े आम नागरिकों के अलावा इस मसले से संबंधित लोगों से बातकर ओबीसी के बीच अलग कैटिगरी बनानी है. सरकार के मुताबिक, कमिशन ने अब तक कॉलेज सहित सरकारी नौकरी के अलावा बैंक और दूसरे संस्थानों में ओबीसी प्रतिनिधित्व से जुड़ा आंकड़ा जुटाया है.

राजस्थान में जनरल आरक्षण को लेकर सियासत गर्मा गई है

गुजरात ने सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण का ऐलान किया तो दूसरे राज्यों में भी इसी तरह आरक्षण लागू करने का दबाव बढ़ गया है. राजस्थान में बीजेपी सरकार पर इसी सत्र में आरक्षण लाने का दबाव बना रही है. वहीं काग्रेस भी आरक्षण की सियासत में पीछे नहीं है..कांग्रेस ने कहा कि सवर्ण आरक्षण उसकी कोशिशों से ही आया है और सूबे में तो वो पहले ही जनरल कैटेगरी के लिए 14 फीसदी आरक्षण की मांग कर चुकी है.

साल का पहला चंद्रग्रहण 21 को

21 जनवरी को पूर्णिमा के दिन इस साल का पहला चंद्रग्रहण पड़ने जा रहा है. इस चंद्रग्रहण का नाम है सुपर ब्लड मून. इसका नाम सुपर ब्लड मून इस वजह से है क्योंकि चांद इस दिन 14 फीसदी ज्यादा बड़ा और 30 फीसदी ज्यादा चमकीला दिखता है...इस दिन चांद सुर्ख लाल भी दिखता है...रात के अंधेरे में ये नजारा काफी अद्भुत दिखने वाला है. भारतीय समय के अनुसार सुबह 10 बजकर 11 मिनट में शुरु होगाजो करीब एक घंटे यानी 11 बजकर 12 मिनट तक रहेगा. वहीं ग्रहण के पहले सूतक काल 20 जनवरी को रात 9 बजे से शुरु हो जाएगा. ये चंद्रग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा ये सिर्फ अफ्रीका, यूरोप, उत्तरी-दक्षिणी अमेरिका और मध्य प्रशांत में ही नज़र आएगा.

यह सैटेलाइट कुछ खास है

खबरों के मुताबिक, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो गृह मंत्रालय के लिए एक खास सैटेलाइट बना रहा है... इस उपग्रह से पाकिस्तान, चीन समेत दूसरे पड़ोसी देशों से लगी सीमा की सुरक्षा मजबूत करने में मदद मिलेगी. गृह मंत्रालय ने एक बयान में के मुताबिक यह कदम सीमा प्रबंधन के सुधार में अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के उपयोग को लेकर एक कार्य बल द्वारा की गई सिफारिशों का हिस्सा है. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है. परियोजना को पांच सालों में पूरा किया जाएगा... इसके लिए इसरो और रक्षा मंत्रालय के साथ नजदीकी सहयोग किया जाएगा.

बर्फ की पिच पर क्रिकेट का मजा

लेकिन इसी बीच बच्चों के एक ग्रुप ने खेलने का अपना जुनून बरकरार रखा और इस भयंकर बर्फबारी के बाद बर्फ को ही अपना मैदान बना लिया. तस्वीरें जम्मू कश्मीर के सुरेज की हैं जहां बच्चों ने बर्फ के ऊपर ही पिच बिछाई है और मजे से क्रिकेट का मजा ले रहे हैं. बच्चों के इस जुनून को देखकर प्रशासन यहां ऐसे ही और आउटडोर गेम्स बनाया जा सकता है जिससे भारी मात्रा में सैलानी भी आएं. तस्वीरें जेरूसलम की है जहां कई दिनों से लगातार बर्फबारी जारी है...बर्फ ने जेरूसेलम की खूबसूरती बढ़ दी है...देखिए यहां का प्रसिद्ध डोम ऑफ द रॉक और वेस्टर्न वॉल बर्फ की सफेदी में क्या खिल रहे हैं. बर्फबारी के बाद यहां कई फीट तक बर्फ जम गई है...ऐसे में सैलानियों की तो मानो जैसे लॉटरी लग गई है...स्थानीय लोग भी इस मौसम का मजा लेने के लिए घरों के बाहर निकल आए हैं...बर्फबारी के बाद यहां दफ्तरों और स्कूलों छुट्टी हो गई है ऐसे में पूरा जेरूसलम वेकेशन मोड में है.

First Published: Jan 18, 2019 11:34:12 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो