BREAKING NEWS
  • अगर नहीं मानते हैं Aliens के अस्तित्व को तो जरूर देखें ये Photos- Read More »
  • टीम इंडिया में शामिल होना नहीं होगा आसान, रवि शास्‍त्री ने रखी यह शर्त- Read More »
  • Breast Cancer: इन लक्षणों को पहचान लें, नहीं तो स्‍तन कैंसर ले लेगा जान- Read More »

अभिनंदन की सहयोगी मिंटी अग्रवाल की जुबानी सुनें शौर्य की कहानी

News State Bureau  |   Updated On : August 15, 2019 04:16 PM
युद्ध सेवा मेडल से सम्‍मानित मिंटी अग्रवाल (ANI)

युद्ध सेवा मेडल से सम्‍मानित मिंटी अग्रवाल (ANI)

नई दिल्‍ली:  

आईएएफ के बालाकोट (Balakot) हवाई अड्डे पर पाकिस्तान (Pakistan) की जवाबी कार्रवाई के दौरान उड़ान नियंत्रक के रूप में काम करने वाले मिंटी अग्रवाल भारत की पहली महिला हैं जिन्‍हें युद्ध सेवा मेडल से सम्‍मानित किया गया है. वायुसेना के विंग कमांडर वर्धमान अभिनंदन को पाकिस्तान (Pakistan) F16 को मार गिराने के लिए वीर चक्र मिला है. स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने आज यानी गुरुवार को न्‍यूज एजेंसी एएनआई से अभिनंदन की वीरता की कहानी सुानई.

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने कहा कि हमें लग रहा था कि पाकिस्तान इसके बाद तुरंत कार्रवाई करेगा. हम तैयार थे, लेकिन पाकिस्तान ने कई घंटों बाद भारत में बम गिराने की नाकाम कोशिश की. हमें पता था कि एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान कार्रवाई करेगा, इसलिए एलओसी के पास कुछ लड़ाकू विमानों को तैनात किया गया था.

अग्रवाल ने कहा, 'मैं 26 और 27 फरवरी को ऑपरेशन में शामिल थी. विंग कमांडर अभिनंदन मेरे साथ संपर्क में थे जब वे पाकिस्तानी विमानों के हवाई एक्शन का जवाब दे रहे थे. जब विंग कमांडर अभिनंदन विमान उड़ा रहे थे तब मैं उन्हें हवाई स्थिति की जानकारी दे रही थी. मैं पूरे ऑपरेशन के दौरान उन्हें दुश्मनों के जहाजों की जानकारी दे रही थी.'

अग्रवाल ने कहा एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने कार्रवाई करने की कोशिश की, लेकिन इन विमानों की तैनाती को देखकर वह डर गए और भाग गए. वायुसेना के पायलटों, कंट्रोलर और टीम के सराहनीय प्रदर्शन ने पाकिस्तान के मंसूबों पर पानी फेर दिया था.

मिंटी अग्रवाल ने कहा, 'एफ-16 को विंग कमांडर अभिनंदन ने मार गिराया था. वह अचानक लड़ाई का वक्त था. स्थिति बेहद फ्लेक्सिबल थी. वहां दुश्मन देश के कई विमान तैनात थे. हमारे विमान उनके हमलों का जवाब दे रहे थे. हर तरफ से पाकिस्तानी विमानों से हम अपनी रक्षा कर रहे थे.'

बता दें वायुसेना के विंग कमांडर वर्धमान अभिनंदन ने पाकिस्तान (Pakistan) के एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था. अभिनंदन की इस वीरता में उनकी सहयोगी महिला स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने भी अहम भूमिका निभाई थी. उस समय वह वायुसेना के रडार कंट्रोल स्टेशन पर तैनात थी.

यह भी पढ़ेंः Viral Video: 73वें स्‍वतंत्रता दिवस पर झूम उठा लद्दाख, ऐसे नाचे सांसद जामयांग सेरिंग नामग्‍याल

जब पाकिस्तान (Pakistan) लड़ाकू विमानों ने उनके एयरबेस से उड़ान भरी और पीओके के रास्ते भारतीय वायुसीमा में प्रवेश करने के लिये आगे बढ़े, तभी उन्होंने श्रीनगर स्थित वायुसेना के एयरबेस को सूचित कर दिया, जहां विंग कमांडर अभिनंदन सहित कई भारतीय लड़ाकू विमान हाई अलर्ट पर थे.

यह भी पढ़ेंः लाल किले पर इस बार पीएम मोदी जिस कार से पहुंचे, क्‍या जानते हैं उसकी खासियत

फाइटर कंट्रोलर की भूमिका निभाने वाली स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल से सूचना मिलते ही अभिनंदन वर्तमान ने उड़ान भरी और अपनी वायुसीमा पर पहुंच गए थे. इस बीच, स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल अभिनंदन को हर पल पाकिस्तान (Pakistan) जेट की स्थिति के बारे में उन्हें अवगत कराती रही, जिससे अभिनंदन इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक पूरा करने में सफल हुए. बता दें कि तब सुरक्षा कारणों से मिंटी अग्रवाल का नाम गुप्त रखा गया था, इसलिये कम ही लोग उनकी इस भूमिका के बारे में जानते हैं.

First Published: Thursday, August 15, 2019 02:59 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Minty Agarwal, Iaf, F16, Wing Commander Abhinandan,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो