BREAKING NEWS
  • Ayodhya Case : सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड ने कहीं और जगह मांगी जमीन - Read More »
  • घोर लापरवाही! अस्पताल में 5 घंटे तक बेड पर पड़ा रहा शव, आंखों को खाती रहीं चींट‍ियां- Read More »
  • छोटा राजन का भाई उतरा महाराष्ट्र के चुनावी रण में, इस पार्टी ने दिया टिकट - Read More »

शीला दीक्षित की LOVE Story स्‍कूलिंग और राजनीति में एंट्री, उनके बारे में पढ़ें A to Z जानकारी

News state Bureau  |   Updated On : July 21, 2019 05:57:23 AM
शीला दीक्षित (फाइल फोटो)

शीला दीक्षित (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

दिल्‍ली की तीन बार की मुख्‍यमंत्री रहीं कांग्रेस की दिग्‍गज नेता शीला दीक्षित का 20 जुलाई को निधन हो गया. उनके निधन से हर कोई सन्‍न रह गया है. शीला दीक्षित खत्री खानदान से थीं और उत्‍तर प्रदेश से ताल्‍लुकात रखती थीं. उत्‍तर प्रदेश के कन्‍नौज से उन्‍होंने चुनाव भी लड़ा था. कांग्रेस ने शीला दीक्षित को उत्‍तर प्रदेश के सीएम पद के प्रत्‍याशी के रूप में भी पेश किया था. उत्‍तर प्रदेश से ही शीला के राजनीतिक कॅरियर का आगाज हुआ था.

यह भी पढ़ें : दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का लंबी बीमारी के बाद 81 साल की उम्र में निधन

शीला दीक्षित मूलतः पंजाब के कपूरथला से ताल्‍लुकात रखती थीं. उनकी स्कूलिंग और हायर स्टडीज दिल्ली से पूरी हुई थी. ग्रेजुएशन के लिए उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस में एडमिशन लिया था. इसी दौरान उन्नाव के विनोद दीक्षित से उनकी मुलाकात हुई थी. दोनों में दोस्‍ती हो गई थी. 4 साल की दोस्‍ती के बाद दोनों ने शादी कर ली.

ट्रेन में खत्‍म हुई लव स्‍टोरी
शीला के पति विनोद दीक्षित आईएएस अफसर रहे थे. 1982 शीला के जीवन का सबसे खराब साल रहा. इसी साल उन्होंने अपने जीवनसाथी को खो दिया था. शीला अपने पति विनोद और दोनों बच्चों के साथ ट्रेन से सफर कर रही थीं. सफर के दौरान अचानक विनोद के सीने में तेज दर्द हुआ और वे गिर गए. पति के दर्द से शीला बहुत परेशान थीं. उन्होंने विनोद की मदद करने की कोशिश की, लेकिन कुछ हो नहीं सका. चलती ट्रेन में विनोद को हार्ट अटैक आ गया था. हॉस्‍पिटल पहुंचने से पहले उनकी मौत हो चुकी थी.

यह भी पढ़ें : लंबी बीमारी के बाद दिल्ली की पूर्व CM शीला दीक्षित का निधन, जानें उनका पूरा सफर

शादी से पहले शीला कपूर था पूरा नाम 

शीला दीक्षित के ससुर उमा शंकर दीक्षित फ्रीडम फाइटर थे. वे आजादी की लड़ाई में पंडित नेहरू और इंदिरा गांधी के साथ रहे थे. 1971 में वे इंदिरा गांधी सरकार के कैबिनेट मिनिस्टर भी रहे. बुढ़ापे में बेटे को खोने का गम उमा शंकर को सता रहा था. उन्होंने अपनी बहू शीला को पॉलिटिक्स में लॉन्च करने का फैसला किया. इंदिरा और राजीव गांधी भी शीला के व्‍यक्‍तित्‍व से प्रभावित थे. 1984 में कन्नौज से लोकसभा चुनाव में उतरीं और जीत गई थीं. शादी से पहले शीला दीक्षित का पूरा नाम शीला कपूर था.

शीला के घर में चमगादड़
बतौर दिल्ली सीएम शीला दीक्षित मोतीलाल नेहरू मार्ग स्थित घर में रहती थीं. उनका घर फलों का रस चूसने वाली चमगादड़ों के रहने को लेकर मशहूर रहा था. चमगादड़ों के अलावा उनके बैकयार्ड में सेमल के पेड़ भी लगे रहते थे. सेमल का पेड़ लाल रंग के सिल्क कॉटन के लिए जाना जाता है.

यह भी पढ़ें : शीला दीक्षित के निधन पर सीएम केजरीवाल ने जताया शोक, कहा- दिल्ली के लिए बहुत बड़ी क्षति

शीला को पसंद थी परी-कथाएं
शीला दीक्षित को आर्ट फील्ड से काफी लगाव था. उन्हें कॉन्सर्ट्स, डांस परफॉर्मेंस और नाटक देखना काफी पसंद था. यही नहीं, 78 की उम्र में भी उन्हें लुईस कैरोल की 'एलिस एडवेंचर्स इन वंडरलैंड' पढ़ना पसंद है.

हॉलीवुड फिल्‍म देखना काफी पसंद था शीला को
शीला दीक्षित को शाहरुख-सलमान, अमिताभ-धर्मेंद्र से ज्यादा हॉलीवुड के एक्टर पसंद थे. शीला दीक्षित खाली समय में ग्रेगरी पैक और रॉक हडसन की फिल्में देखना पसंद करती थीं. इसके अलावा शीला दीक्षित को कोल्‍ड कॉफी पीना काफी पसंद था. इसके अलावा वो एग टोस्ट, चीज, पपीता, आलू गोभी और पास्ता खाना पसंद करती थीं.

First Published: Jul 20, 2019 04:50:02 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो