पटना के महिला थाने में जानें कैसे कटी शरजील इमाम की रात, देशद्रोह में हुआ है गिरफ्तार

News State Bureau  |   Updated On : January 29, 2020 10:26:11 AM
पटना के महिला थाने में जानें कैसे कटी शरजील इमाम की रात

पटना के महिला थाने में जानें कैसे कटी शरजील इमाम की रात (Photo Credit : Twitter )

नई दिल्‍ली :  

देशविरोधी और भड़काऊ भाषण को लेकर देशद्रोह का आरोप झेल रहा शरजील इमाम (Sharjeel Imam) पुलिस की गिरफ्त में पटना के गर्दनीबाग महिला थाने में काफी बेचैन रहा. थाने में उसकी पहली रात काफी बेचैनी में कटी. महिला थाने में शरजील के लिए होटल से खाना मंगाया गया था. एक दिन पहले दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने उसे बिहार के जहानाबाद स्‍थित उसके गांव से धर दबोचा था. पिछले दिनों वायरल हो रहे वीडियो में उसने असम और नॉर्थ ईस्‍ट को भारत से अलग करने और चिकन नेक को ब्‍लॉक करने की रणनीति के बारे में भाषण दिया था. इसके बाद शरजील इमाम के खिलाफ देश के 6 राज्‍यों में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था. आज बुधवार को उसे ट्रांजिट रिमांड पर दिल्‍ली लाया जा रहा है. दिल्‍ली लाए जाने के बाद उसे साकेत कोर्ट में पेश किया जाएगा. मीडिया रिपोर्ट में यह भी दावा किया जा रहा है कि शरजील इमाम ही दिल्‍ली के शाहीनबाग प्रोटेस्‍ट का मास्‍टरमाइंड है. 

यह भी पढ़ें : चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 132 हुई, करीब 6,000 मामलों की पुष्टि

बुधवार को शरजील इमाम को दिल्ली लाया जा रहा है. पटना एयरपोर्ट से सुबह 10.45 बजे इंडिगो की फ्लाइट से दिल्‍ली पुलिस उसे दिल्‍ली लेकर आएगी. दिल्‍ली पुलिस दोपहर 12.15 बजे शरजील इमाम को लेकर दिल्ली पहुंच जाएगी. उसके बाद दिल्ली के साकेत कोर्ट में उसकी पेशी होगी. शरजील इमाम ने 16 जनवरी को अलीगढ़ मुस्‍लिम यूनिवर्सिटी में विवादित भाषण दिया था. उसके बाद उसके कुछ वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने लगे. वीडियो वायरल होने के बाद 6 राज्‍यों की पुलिस ने उसके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया था.

दरअसल सोशल मीडिया में वायरल वीडियो में शरजील इमाम लोगों को भड़काने के साथ ही देश विरोधी बातें भी करता दिख रहा है. दिल्‍ली पुलिस के अलावा यूपी पुलिस ने भी शरजील की गिरफ्तारी के लिए दो टीमों का गठन किया था. वीडियो में शरजील कहता दिख रहा है, 'आप जानते हो असम में मुसलमानों के साथ क्या हो रहा है? एनआरसी वहां लागू हो चुका है और लोगों को डिटेंशन कैंपों में भेजा जा रहा है. हमें असम के रास्ते बंद करने होंगे जिससे सेना और अन्य सप्लाई वहां न पहुंच सके. मुर्गी की गर्दन मुसलमानों के हाथ में है.'

जहानाबाद के पुलिस सूत्रों के मुताबिक, दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शरजील की गिरफ्तारी के लिए जहानाबाद के काको स्थित पैतृक आवास पर छापेमारी की थी. इस दौरान घर के सदस्यों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, हालांकि शरजील वहां नहीं मिला. इस बीच शरजील की मां अफशां परवीन ने आरोप लगाया कि उसके बेटे के बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है. उन्होंने दावा किया कि उनका बेटा वैसा नहीं है, जैसा दिखाया जा रहा है. मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है. वह केवल एनआरसी का विरोध जता रहा था.

यह भी पढ़ें : 150 साल पुराने 'फांसी-घर' को 63 साल से महिला मुजरिम की 'गर्दन' का इंतजार

शरजील का वीडियो वायरल होने के बाद जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के मुख्य प्रॉक्टर ने उसे तलब किया था. शाहीन बाग प्रदर्शनों के शुरुआती आयोजकों में शामिल इमाम को तीन फरवरी तक प्रॉक्टोरियल कमेटी के समक्ष पेश होने और उसके कथित भड़काऊ भाषणों पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा गया है. जेएनयू के रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार ने बताया, मुख्य प्रॉक्टर के कार्यालय में मुख्य सुरक्षा अधिकारी के दफ्तर से शरजील इमाम के खिलाफ 27 जनवरी की एक सुरक्षा रिपोर्ट प्राप्त हुई है.

First Published: Jan 29, 2020 10:00:30 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो