कर्नाटक से लेकर दिल्ली तक हंगामा, सिद्धारमैया बोले- बागी विधायकों की सदस्यता रद्द करें स्पीकर

News State Bureau  |   Updated On : July 09, 2019 01:16:51 PM
कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया (फाइल फोटो)

कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

संकट में घिरी कर्नाटक सरकार को लेकर देशभर में सियासत शुरू हो गई है. अब कांग्रेस (Congress) और बीजेपी (BJP) में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि विधानसभा स्पीकर का फैसला सवोच्च है. बागी विधायकों की सदस्यता तुरंत रद हो. बीजेपी सरकार को अस्थिर करना चाहती है. इसमें बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व भी शामिल है. भाजपा 5 बार सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर चुकी है. पैसे से विधायकों को खरीदने की कोशिश हो रही है.

यह भी पढ़ेंः गुरुनानक देव जी के 550 प्रकाश उत्सव पर CM योगी ने ऐसा काम किया कि हो रही तारीफ

पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने आगे कहा, बीजेपी ने कर्नाटक सरकार को गिराने के लिए यह 6वां प्रयास किया है. यह सरकार और लोगों के जनादेश के खिलाफ है. वे पैसा, पद, मंत्री पद की पेशकश कर रहे हैं. हमारे विधायकों में से कुछ लोग बीजेपी के जाल में फंस गए हैं. अब भी मैं बागी विधायकों को वापस आने और इस्तीफा वापस लेने का अनुरोध करता हूं. पार्टी ने स्पीकर के सामने याचिका लगाने का फैसला लिया है. साथ ही उनसे निवेदन किया कि तथाकथित इस्तीफा देने वाले वास्तविक और स्वेच्छा से नहीं हैं.

लोकसभा में कर्नाटक की सियासत को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, कर्नाटक में जो कुछ हो रहा है ये कांग्रेस का अपने घर का मामला है, लेकिन ये अपने घर को ही संभाल नहीं पा रहे हैं. बल्कि कांग्रेस पार्लियामेंट के हाउस को डिस्टर्ब करने की कोशिश कर रही है. वहीं, कांग्रेस नेताओं ने कर्नाटक विधानसभा में महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने धरना दिया है.

यह भी पढ़ेंःहवस का 'जिवाणु', 35 बच्चों और 40 पुरुषों को अब तक बना चुका है अपना शिकार 

कांग्रेस और जेडीएस के 13 विधायकों ने पहले ही अपना इस्तीफा स्पीकर सौंप दिया है. इस बीच निर्दलीय विधायक और लघु उद्योग मंत्री एच. नागेश और केपीजेपी के एकमात्र विधायक और सरकार में मंत्री आर. शंकर ने मंत्री पद से इस्तीफा देकर 13 महीने पुरानी गठबंधन सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया. इस वजह से कर्नाटक में गठबंधन की सरकार खतरे में है. वहीं, मंगलवार को एक और कांग्रेस विधायक रोशन बेग ने भी इस्तीफा दे दिया है. इससे कुमारस्वामी सरकार की परेशानी बढ़ती जा रही है.

बता दें कि कर्नाटक की सत्ता का नाटक अब महाराष्ट्र से लेकर दिल्ली और गोवा तक पहुंच गया है. मुंबई के होटल में रुके हुए बागी विधायकों के पहले गोवा शिफ्ट होने की बात सामने आई लेकिन मंगलवार सुबह साफ हुआ कि वह मुंबई में ही हैं. संकट में घिरी कर्नाटक सरकार को लेकर जहां बेंगलुरु में लगातार कांग्रेस और जेडीएस के बीच बैठकें हो रही हैं, वहीं बीजेपी अपनी सरकार बनाने की कोशिश कर रही है. इस बीच कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर ने सभी बागी विधायकों का इस्तीफा नामंजूर कर दिया है.

First Published: Jul 09, 2019 01:12:56 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो