महिला सुरक्षा पर रॉबर्ट वाड्रा ने पूछा, हम कहां और कब सुरक्षित हैं

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : December 03, 2019 01:15:18 PM
महिला सुरक्षा पर रॉबर्ट वाड्रा ने पूछा, हम कहां और कब सुरक्षित हैं

महिला सुरक्षा पर रॉबर्ट वाड्रा ने पूछा, हम कहां और कब सुरक्षित हैं (Photo Credit : https://www.facebook.com/photo.php?fbid=10153149595099810&set=ecnf.764044809&type=3&theater )

नई दिल्‍ली :  

हैदराबाद (Hyderabad) में गैंगरेप-मर्डर और पत्‍नी प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) की सुरक्षा में चूक पर रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) ने सवाल खड़े किए हैं. उन्‍होंने अपने फेसबुक पेज पर कहा, "महिला सुरक्षा" हमारे देश का सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है. मेरी एक बेटी भी है, मुझे उसकी सुरक्षा की चिंता है. मैं केंद्र और राज्य सरकारों से आग्रह करता हूं कि वे एक और घटना होने से पहले जागें और कार्रवाई करें. गंभीर कानूनों को लागू करें और यह सुनिश्चित करें कि हमारे देश में महिलाएं सुरक्षित रहें.

यह भी पढ़ें : सुपरकॉप अजित डोवाल का खौफ सता रहा दाऊद इब्राहिम को, सेलफोन पर बात तक नहीं कर रहा

उन्‍होंने कहा, यह प्रियंका, मेरी बेटी और बेटे या मेरे या गांधी परिवार की सुरक्षा के बारे में नहीं है. यह हमारे नागरिकों खासकर हमारे देश की महिलाओं को सुरक्षित और सुरक्षित रखने के बारे में है. पूरे देश में सुरक्षा से समझौता किया जाता है... लड़कियों के साथ छेड़छाड़ / बलात्कार हो रहे हैं, हम क्या समाज बना रहे हैं ...?
प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है. यदि हम अपने देश, अपने घरों में सुरक्षित नहीं हैं, सड़कों पर सुरक्षित नहीं हैं, तो दिन में या रात में सुरक्षित नहीं हैं, हम कहाँ और कब सुरक्षित हैं?

हैदराबाद की घटना को लेकर रॉबर्ट वाड्रा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है, बलात्कार और बलात्कारियों का कोई धर्म नहीं होता है. जितना मैं बलात्कार और हत्या के बारे में पढ़ता हूं, उतना ही मुझे पीड़ा होती है. जब तक दंड की अवधि कम नहीं की जाती, तब तक भयावह कार्य जारी रहेंगे. एक समाज के रूप में, महिलाओं के प्रति हमारी मानसिकता बदलनी चाहिए. इस तरह के अमानवीय कृत्यों की अनुमति नहीं दी जा सकती है. जब तक ऐसे बलात्कारियों को उचित सजा नहीं दी जाती, ऐसे मामले दोहराए जाते रहेंगे.

यह भी पढ़ें : कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाना भारी भूल, अब भारत से नहीं है कोई रिश्‍ता : खालिदा शाह

उन्‍होंने कहा, हमें अपने देश में महिलाओं को महसूस करने और सुरक्षित रखने में मदद करने के लिए एकजुट होना चाहिए. हम घटनाओं को घटित नहीं कर सकते हैं और सिर्फ इसके बारे में बात कर सकते हैं, हमें महिलाओं की सुरक्षा पर कार्रवाई करने और परिवर्तन करने में मदद करने की आवश्यकता है. उसका स्कूटर टूट गया और वह मदद के लिए चली गई और भयावह अंत होने की चपेट में आ गई.

First Published: Dec 03, 2019 01:15:18 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो