अगले कांग्रेस अध्यक्ष के चुने जाने तक राहुल गांधी ही संभालते रहेंगे कार्यभार, ये है नियम

News State Bureau  |   Updated On : July 04, 2019 10:24:19 AM
राहुल गांधी (फाइल फोटो)

राहुल गांधी (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  राहुल गांधी अगले अध्यक्ष के चुने जाने तक देखेंगे पार्टी
  •  कांग्रेस वर्किंग कमेटी में होगा नए अध्यक्ष का फैसला
  •  राहुल गांधी ने 2019 के चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेते हुए दिया इस्तीफा

नई दिल्‍ली:  

राहुल गांधी ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है नए अध्यक्ष चुने जाने के लिए कांग्रेस पार्टी में गहमा-गहमी जारी है. अगले अध्यक्ष के चुने जाने तक राहुल गांधी पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष बने रहेंगे और पार्टी के अध्यक्ष पद का कार्यभार संभालेंगे. कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी के इस्तीफे को स्वीकार या अस्वीकार करने पर चर्चा होगी. अगर इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया तो किसी नए अध्यक्ष को या फिर एक ग्रुप को अंतरिम तौर पर फैसले करने के लिए अधिकृत किया जा सकता है. इसके अलावा कांग्रेस के पास सामूहिक नेतृत्व का भी विकल्प मौजूद है.

कांग्रेस पार्टी में अगले अध्यक्ष के चुने जाने तक अंतरिम अध्यक्ष बनाया जाता है जो कि अगले अध्यक्ष के चुने जाने तक अध्यक्ष पद के कार्यभार को देखता है. कांग्रेस पार्टी में अब तक अंतरिम अध्यक्ष केवल अगले अध्यक्ष के चुने जाने के लिए बनाया जाता है. जब अचानक किसी कांग्रेस अध्यक्ष की मृत्यु हो जाये तब कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष चुना जाता है जो कि अगले अध्यक्ष के चुने जाने तक अध्यक्ष पद के कार्यभार को देखता है. ऐसी विशेष परिस्थिति में कांग्रेस वर्किंग कमेटी नए कांग्रेस अध्यक्ष पद को AICC से लंबित अनुसमर्थन से चुनती है.

जब इंदिरा गांधी की हत्या हुई थी तब राजीव गांधी नए कांग्रेस अध्यक्ष बने जब राजीव गांधी की हत्या हुई तब पीवी नरसिम्हा राव नए कांग्रेस अध्यक्ष बने उनके बाद कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने सीताराम केसरी को कांग्रेस अध्यक्ष चुना. इसके बाद इसी तरह से कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने सोनिया गांधी को ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के समर्थन से कांग्रेस अध्यक्ष चुना था.

यह भी पढ़ें- 13 बार गैर गांधी परिवार के हाथ में रही कांग्रेस की कमान, इस बार भी हो सकता है संभव; जानें क्या है इतिहास

राहुल गांधी ने 2019 लोकसभा चुनाव में हार की ली जिम्मेदारी
लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस की करारी शिकस्त मिली जिसके बाद राहुल गांधी ने इस हार की जिम्मेदारी अपने ऊपर लेते हुए पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया. 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी ने पार्टी के हार की जिम्मेदारी ली और कहा था कि अब वे पार्टी पद पर नहीं बने रहना चाहते हैं. राहुल गांधी ने पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं पर सही ढंग से पार्टी पर ध्यान न देने का भी आरोप लगाया था.

यह भी पढ़ें- 'फोनी तूफान' जैसी दैविक आपदा के बाद भी जगन्नाथ रथयात्रा के लिए तैयार ओडिशा

First Published: Jul 03, 2019 09:01:33 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो