राष्ट्रपति कोविंद ने संसद के संयुक्त सत्र को किया संबोधित, कहा- मसूद अजहर पर बैन भारत की बड़ी जीत

News State Bureau  |   Updated On : June 20, 2019 12:48:25 PM

(Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने गुरुवार को संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित किया. उन्होंने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एजेंडा को देश के सामने रखा. इसके साथ ही देश की नीतियों और प्राथमिकताओं के बार में भी बताया.  उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत में सभी नवनिर्वाचित सदस्यों को बधाई दी. इसकी के साथ उन्होंने चुनाव में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए मतदाताओं को भी बधाई दी. 

राष्ट्रपति कोविंद के भाषण की बड़ी बातें

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, 2014 से पहले जो देश वातावरण था उससे सारे लोग अवगत हैं. मेरी सरकार ने बिना किसी भेदभाव के देश का विकास किया था. दुनिया में लोकतंत्र की खास बढ़ी है. उन्होंने कहा 2014 के पहले निराशा का माहौल था. शपथग्रहण के साथ ही हमारी सरकार नए भारत के निर्माण में जुट गई है. मजबूत और विकसित भारत बनाना मेरी सरकार का लक्ष्य है. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा,  मेरी सरकार युवाओं के सपनों को पूरा करेगी. 

उन्होंने कहा, 'किसान 60 साल की उम्र के बाद भी अच्छा जीवन जी सकें इसलिए पेंशन योजना को स्वीकृति दी गई है'. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- मेरी सरकार ने छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन योजना शुरू की है.' इसी के सूखे की चपेट में किसानों के साथ सरकार खड़ी हुई है. उन्होंने कहा, जलसंरक्षण के लिए जागरुकता बढ़ानी होगी. उन्होंने कहा, 'किसान सम्मान निधि हर किसान को उपलब्ध होगी.  'मिशन शक्ति’ के सफल परीक्षण से भारत की अंतरिक्ष टेक्नॉलॉजी की क्षमता और देश की सुरक्षा-तैयारियों में नया आयाम जुड़ा है.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, किसान सम्मान निधि में हर साल 90 हजार करोड़ खर्च होंगे. 25 लाख करोड़ का कृषि क्षेत्र में निवेश किया जाएगा.  राष्ट्रपित कोविंद ने कहा, 50 करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ पहुंचाना मेरी सरकार का लक्ष्य है. महिला सश्कितकरण मेरी सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है. महिलाओं के विरुद्ध अपराधों के दंड अधिक सख्त बनाए गए हैं और नए दंड प्रावधानों को सख्ती से लागू किया जा रहा है. 

उन्होंने कहा, उज्ज्वला योजना’ द्वारा धुएं से मुक्ति, ‘मिशन इंद्रधनुष’ के माध्यम से टीकाकरण, ‘सौभाग्य’ योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन, इन सभी का सर्वाधिक लाभ ग्रामीण महिलाओं को मिला है. इसी के साथ ही  देश में हर बहन-बेटी के लिए समान अधिकार सुनिश्चित करने हेतु ‘तीन तलाक’ और ‘निकाह-हलाला’ जैसी कुप्रथाओं का उन्मूलन जरूरी है.मैं सभी सदस्यों से अनुरोध करूंगा कि हमारी बहनों और बेटियों के जीवन को और सम्मानजनक एवं बेहतर बनाने वाले इन प्रयासों में अपना सहयोग दें.

राष्ट्रपति कोविंद ने बताया कि राष्ट्रीय आजीविका मिशन’ के तहत ग्रामीण अंचलों की 3 करोड़ महिलाओं को अब तक 2 लाख करोड़ रुपये से अधिक का ऋण दिया जा चुका है.

राष्ट्रपति कोविंद ने बताया कि, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना’ के तहत, स्वरोजगार के लिए लगभग 19 करोड़ ऋण दिए गए हैं. इस योजना का विस्तार करते हुए अब 30 करोड़ लोगों तक इसका लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा. उद्यमियों के लिए बिना गारंटी 50 लाख रुपए तक के ऋण की योजना भी लाई जाएगी.' उन्होंने बताया कि, सरकार द्वारा सामान्य वर्ग के गरीब युवाओं के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है. इससे उन्हें नियुक्ति तथा शिक्षा के क्षेत्र में और अवसर प्राप्त हो सकेंगे. 

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, 'आज भारत दुनिया के सबसे अधिक स्टार्ट-अप वाले देशों में शामिल हो गया है'.  प्रधानमंत्री मुद्रा योजना’ के तहत, स्वरोजगार के लिए लगभग 19 करोड़ लोन दिए गए हैं. इस योजना का विस्तार करते हुए अब 30 करोड़ लोगों तक इसका लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा. उद्यमियों के लिए बिना गारंटी 50 लाख रुपए तक के लोन की योजना भी लाई जाएगी.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, 'GST के लागू होने से ‘एक देश, एक टैक्स, एक बाजार’ की सोच साकार हुई है. GST को और सरल बनाने के प्रयास जारी रहेंगे. 

राष्ट्रपति कोविंद ने अपने भाषण में कहा, 'आज भारत विश्व की सबसे तेज़ी से विकसित हो रही अर्थ-व्यवस्थाओं में से एक है.' भ्रष्टाचार के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, मेरी सरकार इसके खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति और प्रभावी बनाएगी. कालेधन के खिलाफ मुहिम को  और तेज किया गया है. आर्थिक अपराध करके भाग जाने वालों पर नियंत्रण करने में ‘Fugitive and Economic Offenders Act’ उपयोगी सिद्ध हो रहा है.  

उन्होंने कहा, राष्ट्रपति ने कहा, पिछले 2 वर्ष में, 4 लाख 25 हजार निदेशकों को अयोग्य घोषित किया गया है और 3 लाख 50 हजार संदिग्ध कंपनियों का रजिस्ट्रेशन रद्द किया जा चुका है'. ‘Insolvency and Bankruptcy Code’, देश के सबसे बड़े और सबसे प्रभावी आर्थिक सुधारों में से एक है. इस कोड के अमल में आने के बाद प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से बैंकों एवं अन्य वित्तीय संस्थानों की साढ़े 3 लाख करोड़ रुपए से अधिक की राशि का निपटारा हुआ है,

यातायात के बार में बात करते हुए राष्ट्रपति ने बताया कि छोटे शहरों को हवाई यातायात से जोड़ने के लिए काम हो रहा है. उन्होंने कहा, मेरी सरकार, आधुनिक भारत के लिए देश के गांवों से लेकर शहरों तक, विश्व-स्तरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर और नागरिक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए सतत प्रयासरत है. भारतमाला परियोजना’ के तहत वर्ष 2022 तक लगभग 35 हज़ार किलोमीटर नेशनल हाईवे का निर्माण या अपग्रेडेशन किया जाना है. साथ ही, ‘सागरमाला परियोजना’ के द्वारा देश के तटीय क्षेत्रों में और बंदरगाहों के आसपास, बेहतर सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है.

गंगा की सफाई पर बात करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, नमामी गंगे परियोजना मनें और तेजी लाई गई है. देश की दूसरी बड़ी नदियों को भी प्रदूषण से मुक्त किया जाएगा.उन्होंने कहा, कई जगहों पर गंगाजल की गुणवत्ता बढ़ी है.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, हमारे वैज्ञानिक, ‘चंद्रयान-2’ के लॉन्च की तैयारी में लगे हुए हैं. चंद्रमा पर पहुंचने वाला यह भारत का पहला अंतरिक्ष यान होगा. वर्ष 2022 तक, भारत के अपने ‘गगन-यान’ में पहले भारतीय को स्पेस में भेजने के लक्ष्य की तरफ भी तेज़ी से काम चल रहा है.

आतंकवाद पर बात करते हुए राष्ट्रपति ने कहा, आज आतंकवाद के मुद्दे पर पूरा विश्व, भारत के साथ खड़ा है. देश में बड़े आतंकी हमलों के लिए जिम्मेदार मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित करना इसका बहुत बड़ा प्रमाण है. मेरी सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है. उन्होंने कहा मसूद अजहर को बैन किया जाना भारत की बड़ी जीत है.

NRC पर राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, अवैध तरीके से भारत में दाखिल हुए विदेशी, आतंरिक सुरक्षा के लिए बहुत बड़ा खतरा हैं. मेरी सरकार ने यह तय किया है कि घुसपैठ की समस्या से जूझ रहे क्षेत्रों में ‘नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स’ की प्रक्रिया को प्राथमिकता के आधार पर अमल में लाया जाएगा.

जवानों को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, सैनिकों और उनके परिवार-जनों का ध्यान रखने की हर संभव कोशिश की जा रही है. ‘वन रैंक वन पेंशन’ के माध्यम से पूर्व सैनिकों की पेंशन में बढ़ोतरी करके तथा उनकी स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करके, उनके जीवन को बेहतर बनाने का प्रयास किया जा रहा है. मेरी सरकार, सेना और सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण के काम को तेज़ी से आगे बढ़ा रही है। निकट भविष्य में ही भारत को पहला ‘रफाएल’ लड़ाकू विमान और ‘अपाचे’ हेलीकॉप्टर भी मिलने जा रहे हैं.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, आज समय की मांग है कि ‘एक राष्ट्र - एक साथ चुनाव’ की व्यवस्था लाई जाए जिससे देश का विकास तेज़ी से हो सके और देशवासी लाभान्वित हों. ऐसी व्यवस्था होने पर सभी राजनैतिक दल अपनी विचारधारा के अनुरूप, विकास और जनकल्याण के कार्यों में अपनी ऊर्जा का और अधिक उपयोग कर पाएंगे.

राष्ट्रपति ने सांसदों को सुझाव देते हुए कहा, कि वो महात्मा गांधी के मूल मंत्र को याद रखें. उन्होंने कहा, मुझे विश्वास है कि राज्यसभा एवं लोकसभा के आप सभी सदस्य-गण, सांसद के रूप में अपने कर्तव्यों को भली-भांति निभाते हुए संविधान के आदर्शों को प्राप्त करने में अपना अमूल्य योगदान देंगे.

First Published: Jun 20, 2019 11:05:28 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो