Chandrayaan-2 Launch: इधर चंद्रयान-2 की हो रही थी लॉन्‍चिंग उधर पीएम मोदी कर रहे थे यह काम

DRIGRAJ MADHESHIA  |   Updated On : July 22, 2019 05:40:21 PM

(Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

130 करोड़ लोगों की तरह पीएम नरेंद्र मोदी भी उतने ही उत्‍सुक थे जितने कि एक आम भारतीय. हों भी क्‍यों नहीं, भारत इतिहास रचने जा रहा था और पीएम मोदी की नजरें टीवी के स्‍क्रिन और उंगलियां मोबाइल पर थीं. कुछ ऐसा ही नजारा था पीएम के साथ और मौका था चंद्रयान-2 के लॉन्‍चिंग का. देखते ही देखते भारत ने एकबार फिर इतिहास रच दिया. आज यानी 22 जुलाई को दोपहर 2.43 बजे देश के सबसे ताकतवर बाहुबली रॉकेट GSLV-MK3 से लॉन्च हो गया. चंद्रयान-2 की सफल लॉन्चिंग के बाद वैज्ञानिकों ने तालियां बजाकर मिशन का स्वागत किया तो पीएम मोदी के चेहरे पर चमक बिखर गई.

यह भी पढ़ेंः चंद्रयान-2: आइए जानें इस मिशन से जुड़ी वो बातें जिससे अब तक आप रूबरू नहीं हुए होंगे

ISRO के चेयरमैन के. सिवन ने स्पेस सेंटर से ही इस बात का ऐलान किया. अब चांद के दक्षिणी ध्रुव तक पहुंचने के लिए चंद्रयान-2 की 48 दिन की यात्रा शुरू हो गई है. करीब 16.23 मिनट बाद चंद्रयान-2 पृथ्वी से करीब 182 किमी की ऊंचाई पर जीएसएलवी-एमके3 रॉकेट से अलग होकर पृथ्वी की कक्षा में चक्कर लगाना शुरू करेगा. आइए देखें पीएम मोदी ने इस दौरान कितने Tweet किए.

यह भी पढ़ेंः Chandrayaan2: ISRO के वैज्ञानिक मंदिर में चढ़ाते हैं राकेट, नासा के वैज्ञानिक खाते हैं मुंगफली और रूसी करते हैं ये काम

चंद्रयान 2 अद्वितीय है क्योंकि यह चंद्र क्षेत्र के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र पर अध्ययनों का पता लगाएगा और प्रदर्शन करेगा जो किसी भी पिछले मिशन द्वारा खोजा और नमूना नहीं किया गया है.

यह मिशन चंद्रमा के बारे में नया ज्ञान प्रदान करेगा.

हर भारतीय को बहुत खुशी होगी यह तथ्य है कि # चंद्रयान 2 पूरी तरह से स्वदेशी मिशन है.

यह चंद्रमा की सुदूर संवेदन के लिए एक ऑर्बिटर होगा और चंद्र सतह के विश्लेषण के लिए लैंडर-रोवर मॉड्यूल भी होगा.

विशेष क्षण जो हमारे गौरवशाली इतिहास के इतिहास में रचे जाएंगे!

# चंद्रयान 2 का प्रक्षेपण हमारे वैज्ञानिकों और 130 करोड़ भारतीयों के विज्ञान के नए स्तरों को निर्धारित करने के संकल्प को दर्शाता है.

आज हर भारतीय को गर्व है!

First Published: Jul 22, 2019 03:44:12 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो