BREAKING NEWS
  • सावधान! दिल्ली में आ सकती है बाढ़, हथिनीकुंड बैराज से छोड़ा गया ढाई लाख क्यूसेक पानी- Read More »
  • कश्मीरियों को सामान्य हालात के लिए करना होगा लंबा इंतजार? - Read More »
  • Success Story: रिक्‍शेवाले की ऐसी कहानी जिसे सुनकर आंखों में पानी नहीं बल्‍कि सैल्‍यूट करने का दिल करेगा - Read More »

आधुनिक तकनीक से लैस होगी दिल्ली पुलिस की पीसीआर वैन, दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश

News State Bureau  |   Updated On : July 12, 2019 11:44 AM
अब दिल्ली पुलिस की पीसीआर वैन होगी आधुनिक तकनीक से लैस.

अब दिल्ली पुलिस की पीसीआर वैन होगी आधुनिक तकनीक से लैस.

ख़ास बातें

  •  दिल्ली हाईकोर्ट ने सभी पीसीआर वैन को अत्याधुनिक उपकरणों से लैस करने को कहा.
  •  पीसीआर वैन में चलने वाले सिपाहियों को सही प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाए.
  •  इस तरह उपलब्ध साक्ष्यों को अदालत में नकारना होगा मुश्किल.

नई दिल्ली.:  

दिल्ली उच्च न्यायालय के एक आदेश के मुताबिक पुलिस की पीसीआर वैन को अत्याधुनिक तकनीक से लैस करना होगा. हाईकोर्ट का मानना है कि किसी भी आपात स्थिति या आपराधिक घटना होने पर घटनास्थल पर सबसे पहले पहुंचने वाली पीसीआर वैन ही होती है. ऐसे में वैन में आई पैड घटनास्थल से सबूत एकत्र कर उन्हें सही तरीके से सहेज सकेगा. इस बारे में उच्च न्यायालय ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर से सभी पीसीआर वैन को अत्याधुनिक उपकरणों से लैस करने को कहा है.

यह भी पढ़ेंः चंद्रयान-2 की धूमधड़ाके से लॉन्चिंग की तैयारी, लेकिन उससे जुड़े वैज्ञानिकों के साथ ये क्या हो गया

सिपाहियों को भी दिया जाए प्रशिक्षण
दिल्ली उच्च न्यायालय की टिप्पणी के मुताबिक किसी भी अपराध से जुड़े घटनास्थल पर सबसे पहले पीसीआर वैन ही पहुंचती है. ऐसे में उनमें अच्छा मोबाइल, आईपैड या ऑडियो-वीडियो उपकरण होना चाहिए. इसके जरिये पुलिस घटनास्थल से सबूतों को रिकॉर्ड कर उन्हें अदालत में पेश कर सकेगी. इसके साथ ही हाईकोर्ट ने पीसीआर वैन में चलने वाले सिपाहियों को पर्याप्त प्रशिक्षण की व्यवस्था भी करनी होगी.

यह भी पढ़ेंः DU में CBSE छात्रों का कब्जा, जानिए कौन है इस लिस्ट में दूसरे नबंर पर

अदालत में मुकदमे के दौरान मिलेगी मदद
दिल्ली उच्च न्यायालय की यह टिप्पणी दहेज हत्या से जुड़े मामले की सुनवाई के दौरान सामने आई. इसमें अदालत ने पाया कि पुलिस ने घटनास्थल का ठीक से फोरेंसिक ऑडिट नहीं किया और सबूतों को नष्ट कर दिया. इसका फायदा सीधे-सीधे आरोपियों को मिला. इसमें अपराध के बाद पुलिस को फोन कर बुलाने वाला गवाह भी बाद में मुकर गया. इस कारण आरोपियों को उसके मुकरने का फायदा मिला.

First Published: Friday, July 12, 2019 11:43 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Pcr Van, Equipped, Latest Technologies, Delhi High Court,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो