BREAKING NEWS
  • Nude Photo Shoot: सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहा है मराठी एक्ट्रेस का फोटोशूट, फैंस हुए बेकाबू- Read More »

भारत के आगे झुका पाकिस्तान, कुलभूषण जाधव से सीक्रेट जगह पर मिले डिप्टी हाई कमिश्नर अहलूवालिया

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : September 02, 2019 04:14:43 PM
कुलभूषण जाधव (फाइल फोटो)

कुलभूषण जाधव (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  कुलभूषण जाधव से भारतीय डिप्टी हाई कमिश्नर गौरव अहलूवालिया ने की मुलाकात
  •  कुलभूषण जाधव और गौरव अहलूवालिया के बीच ढाई घंटे चली मुलाकात
  •  पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी के बाद पहली बार दिया कॉन्सुलर एक्सेस

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान (pakistan) की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (kulbhushan jadhav) से कॉन्सुलर एक्सेस मिलने के बाद सोमवार को भारतीय डिप्टी हाई कमिश्नर गौरव अहलूवालिया ने मुलाकात की. हालांकि कुलभूषण जाधव से गौरव अहलूवालिया (Gaurav Ahluwalia) कहा मिले इसकी जानकारी नहीं दी गई है. किसी सीक्रेट जगह पर पाकिस्तान ने जाधव और अहलूवालिया से मुलाकात कराई है. दोनों के बीच करीब ढाई घंटे तक बात हुई.

सोमवार दोपहर 12.30 बजे गौरव अहलूवालिया और कुलभूषण जाधव की मुलाकात शुरू हुई. पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को 2 घंटे तक का कॉन्सुलर एक्सेस दिया था. सुरक्षा की वजह से मीडिया को नहीं बताया गया है कि आखिर दोनों के बीच मुलाकात किस जगह पर हुई है.

इसे भी पढ़ें:Video: 43 साल पहले जमैका के पिच पर बहा था भारतीय खिलाड़ियों का खून, आज बनेगा इतिहास

पहले कहा गया था कि ये मुलाकात पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय (इस्लामाबाद) में होगी. लेकिन बाद में जगह बदल दी गई.

बता दें कि गिरफ्तारी के तीन साल बाद पाकिस्तान ने पहली बार जाधव से मुलाकात करने के लिए कॉन्सुलर एक्सेस दिया था. 3 मार्च 2016 को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान ने आरोप लगाया था कि जाधव रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) के एजेंट हैं, जबकि वह कानूनी तौर पर ईरान में अपना व्यापार करते थे. पाकिस्तान ने 25 मार्च 2016 को प्रेस रिलीज के जरिए भारतीय अफसरों को कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी के बारे में बताया था.

इससे पहले 2017 में कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी ने इस्लामाबाद में उनसे मुलाकात की थी, उसके बाद से ही किसी भारतीय की जाधव से मुलाकात नहीं हुई है.

और पढ़ें:खुशखबरी: आर्थिक मंदी के माहौल में ये कंपनी देने जा रही है 2,000 नौकरियां

इसके बाद भारत ने इस मामले में आईसीजे में उठाया. सुनवाई के बाद आईसीजे ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाया था. अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत (आईसीजे) के 16 में 15 जजों में भारत के पक्ष में फैसला सुनाया है. आईसीजे ने पाकिस्तान को कुलभूषण की फांसी की सजा पर फिर से विचार करने और कॉन्सुलर एक्सेस देने को कहा है. पहले तो पाकिस्तान ने कहा था कि वह कुलभूषण जाधव को कॉन्सुलर एक्सेस देगा, लेकिन वह बार-बार इससे पलटता रहा. इसके बाद उसने कुलभूषण जाधव को कॉन्सुलर एक्सेस देने का ऑफर दिया लेकिन शर्त के साथ. भारत ने पाकिस्तान की शर्त का विरोध किया जिसके बाद रविवार को पाकिस्तान ने फिर कॉन्सुलर एक्सेस का ऑफर दिया.

First Published: Sep 02, 2019 04:13:39 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो