BREAKING NEWS
  • मिठाई का एक डिब्बा ही बन गया अहम सुराग, कमलेश तिवारी के कातिलों तक ऐसे पहुंची पुलिस- Read More »
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी में कई पदों पर निकली नौकरी, यहां से करें अप्लाई- Read More »
  • यूपी सरकार ने मानी शर्तें, अंतिम संस्कार के लिए राजी हुआ कमलेश तिवारी का परिवार- Read More »

पाकिस्‍तान की इस घोषणा से भारत को बड़ा फायदा, बालाकोट के बाद हुआ था 491 करोड़ रुपये का नुकसान

BHASHA  |   Updated On : July 16, 2019 11:39:43 PM
इमरान खान

इमरान खान (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

पाकिस्तान (Pakistan) द्वारा मंगलवार सुबह सभी व्यावसायिक एयरलाइंसों लिए अपने हवाई क्षेत्र (Air Space) को खोले जाने के बीच एअर इंडिया (Air India)ने कहा है कि अमेरिका(America) और यूरोप जाने वाली उड़ानों की परिचालन लागत क्रमश: 20 लाख रुपये और पांच लाख रुपये घट जाएगी . बालाकोट(Balakot) एयरस्ट्राइक (Air Strike) के बाद पाकिस्तान (Pakistan)ने अपने वायु क्षेत्र को बंद कर दिया था. विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मार्गों को फिर से निर्धारित करने के कारण एअर इंडिया (Air India)को करीब 491 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ .

एअर इंडिया (Air India)के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को बताया कि पाकिस्तान (Pakistan)का वायु क्षेत्र खुल जाने के बाद अब विमानों का उपयोग बढ़ेगा जबकि चालक दल के सदस्यों की मांग 25 प्रतिशत घटेगी .  प्रवक्ता ने बताया कि अमेरिका(America) जाने वाली उड़ानों की परिचालन लागत 20 लाख रुपये घट जाएगी और यूरोप जाने वाली उड़ानों की लागत पांच लाख कम हो सकती है .

यह भी पढ़ेंः ICC World Cup 2019: क्रिकेट के जबरा फैन्‍स में यह बिल्‍ली भी, नाम है ब्रायन जिसका Twitter अकाउंट भी है

आज रात से उड़ानों का परिचालन मूल कार्यक्रम के मुताबिक हो सकता है. इसका मतलब पाकिस्तानी वायुक्षेत्र के बंद होने के पहले वाले उड़ान के कार्यक्रम से है.  पाकिस्तान (Pakistan)ने 26 फरवरी और 15 जुलाई के बीच भारतीय विमानों के लिए 11 मे से केवल दो मार्गों को खोला था . ये दो मार्ग दक्षिणी पाकिस्तान (Pakistan)होकर गुजरते हैं .

बंद के कारण विमान कंपनी पर पड़े असर के बारे में उन्होंने बताया, ‘‘अमेरिका जाने वाली उड़ानों के लिए उड़ान समय 90 मिनट बढ़ गया था और अतिरिक्त ईंधन भी खर्च करना पड़ रहा था. अमेरिका जाने वाली उड़ानों को वियना में रूकना पड़ता था. वियना में चालक दल में बदलाव होता था और इसमें तीन घंटे लगते थे।’’ नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राज्यसभा में बताया था कि इन कारणों से एअर इंडिया को दो जुलाई तक 491 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

क्यों उठाना पड़ा था एयरइंडिया को नुकसान

दरअसल पुलवामा हमले के बाद भारत की तरफ से की एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस भारत के लिए बंद कर दिया था. पाकिसतान एयरस्पेस बंद होने के चलते उड़ानों को दिल्ली से अमेरिका पहुंचने में 2-3 घंटे ज्यादा लगते थे वहीं युरोप जाने में 2 घंटे ज्यादा लगते थे. इसकी वजह से नई दिल्ली से उड़ान भरने वाली एयर इंडिया की फ्लाइटों की उड़ान अवधि बढ़ जाने से ज्यादा फ्यूल खर्च होने लगा था, इसके अलावा फ्लाइटों की उड़ानों में कमी और कर्मचारियों के बढ़ते खर्चे को देखते हुए एयर इंडिया को 491 करोड़ रुपए का वित्तीय नुकसान उठाना पड़ा.

यह भी पढ़ें: नेपाल ने अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों से बाढ़ प्रभावित इलाकों में मदद का किया अनुरोध

बता दें, इसी साल पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें कई जवान मार गए थे. बाद में इस हमले पर जवाबी कार्रवाई करते हुए भारत की तरफ से 27 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद में आतंकी शिविरों पर एयरस्ट्राइक की गई जिसके बाद पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस बंद कर दिया था. लेकिन अब एयरस्ट्रइक के 140 दिन बाद इसे खोल दिया गया है.

First Published: Jul 16, 2019 06:06:44 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो