17 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाओं में 1 रुपये का भ्रष्टाचार नहीं, नितिन गडकरी का बयान

BHASHA  |   Updated On : July 16, 2019 02:49:16 PM
नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) - फाइल फोटो

नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) - फाइल फोटो (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  सड़क परिवहन मंत्री ने कहा कि हम 22 ग्रीन एक्सप्रेसवे बना रहे हैं। इनमें से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे एक है
  •  ‘भारत माला’ परियोजना के पहले चरण में 24,800 किलोमीटर सड़क का हो रहा है निर्माण: नितिन गडकरी
  •  80 फीसदी भूमि का अधिग्रहण होने तक हम सड़क निर्माण का काम शुरू नहीं करते हैं: नितिन गडकरी

नई दिल्ली:  

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार में सड़क, पोत परिवहन और जल संसाधन के क्षेत्रों में 17 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाओं को अवार्ड (रिपीट अवार्ड) किया गया, लेकिन एक रुपये का भ्रष्टाचार नहीं हुआ है. लोकसभा में ‘वर्ष 2019-20 के लिए सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के नियंत्रणाधीन अनुदानों की मांगों’ पर चर्चा का जवाब देते हुए गडकरी ने यह भी कहा कि ‘भारत माला’ परियोजना के पहले चरण में 24,800 किलोमीटर सड़क का निर्माण हो रहा है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: ऊंचा भाव होने के बावजूद बढ़ा इंपोर्ट, जानें सोने-चांदी के ताजा भाव

5 साल में 17 लाख करोड़ रुपये के काम हुए

उन्होंने कहा कि मैं सदन को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री ने बुनियादी ढांचे के विकास के लिए जो प्राथमिकता तय की थी उसके बहुत अच्छे नतीजे आए हैं. गडकरी ने कहा कि 5 साल में 17 लाख करोड़ रुपये के काम अवार्ड (रिपीट अवार्ड) हुए हैं. इनमें से 11 लाख करोड़ रुपये के काम सड़क क्षेत्र में, छह लाख करोड़ रुपये के काम पोत परिवहन और एक लाख करोड़ रुपये जल संसाधन क्षेत्र में हुए हैं.

यह भी पढ़ें: इनकम टैक्स रिटर्न (ITR): कैसे भरें आईटीआर फॉर्म 1, आसान भाषा में समझें पूरी प्रक्रिया

गडकरी ने कहा कि 17 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाएं अवार्ड (रिपीट अवार्ड) हुईं हैं और एक रुपये के भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है. उन्होंने कहा कि अगर कहीं काम सही नहीं हुआ तो हमने जिम्मेदारी तय की है. उन्होंने कहा कि राजमार्ग और भवन निर्माण क्षेत्र में प्रगति दोगुनी हो चुकी है. यह बहुत बड़ी प्रगति है. हर परियोजना हमारे लिए प्राथमिकता है. हम उसे पूरा करेंगे. सड़क परिवहन मंत्री ने कहा कि हम 22 ग्रीन एक्सप्रेसवे बना रहे हैं। इनमें से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे एक है.

यह भी पढ़ें: कच्चे तेल (Crude Oil) का भाव कम होने से 13 फीसदी घटा ऑयल इंपोर्ट का खर्च

गडकरी ने कहा कि भूमि अधिग्रहण थोड़ी समस्या है. कई सांसदों ने कुछ मुद्दे उठाए हैं, लेकिन मैं उनसे कहना चाहता हूं कि 80 फीसदी भूमि का अधिग्रहण होने तक हम सड़क निर्माण का काम शुरू नहीं करते हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि सरकार ने पहले से रुकी हुई परियोजनाओं से संबंधित 95 फीसदी समस्याएं खत्म की हैं.

First Published: Jul 16, 2019 02:42:37 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो