निर्भया रेप हत्याकांड: दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 17 को करेगा सुनवाई

News State Bureau  |   Updated On : December 12, 2019 05:39:30 PM
निर्भया रेप हत्याकांड: दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 17 को करेगा सुनवाई

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

नई दिल्ली:  

निर्भया रेप हत्याकांड के दोषी अक्षय कुमार की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 17 दिसंबर को सुनवाई करेगा. तीन जजों की बेंच सुनवाई करेगी. वहीं निर्भया केस के चारों दोषियों को कल यानी शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया जाएगा. लेकिन चारों में से सिर्फ एक दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 17 को सुनवाई करेगा. निर्भया के अभिभावकों की अर्जी पर पिछली सुनवाई में कोर्ट ने चारों को 13 दिसंबर को पेश होने के लिए कहा था. इसके साथ ही निचली अदालत ने तिहाड़ जेल प्रशासन से दोषियों की याचिकाओं का स्टेटस भी तलब किया है. फांसी में देरी पर निर्भया के अभिभावकों ने अर्जी दायर कर कोर्ट से तिहाड़ जेल प्रशासन को फांसी की सज़ा पर जल्द अमल का निर्देश देने का आग्रह किया था.

यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री मोदी को देश में बढ़ती महंगाई की शायद जानकारी नहीं- राहुल गांधी

दोषियों की भूख-प्यास-नींद हुई गायब

इधर दया याचिका खारिज होने के बाद तिहाड़ में बंद निर्भया के चारों आरोपियों को अपने हश्र का यकीन हो चला है. फांसी के फंदे से हर दिन कम होती दूरी ने उनके होश उड़ा दिए हैं. उनका खाना-पीना छूट गया और नींद गायब हो गई है. इसके साथ ही तिहाड़ जेल प्रशासन ने फांसी की जगह समेत अन्य तैयारियां तेज कर दी हैं. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि निर्भया के दोषियों को 29 दिसंबर को फांसी पर लटकाया जा सकता है. इसी दिन सिंगापुर के अस्पताल में निर्भया ने उपचार के दौरान दम तोड़ा था.

यह भी पढ़ें-  MEA ने इमरान खान के CAB के बयान पर किया पलटवार, दे डाली ये नसीहत

24 घंटे रखी जा रही कड़ी नजर

तिहाड़ जेल के सूत्रों के मिली जानकारी के अनुसार निर्भया केस में फांसी की सजा पाए चारों दोषियों विनय, अक्षय, मुकेश और पवन पर जेल प्रशासन लगातार नजर रख रहा है. इन पर जेलकर्मियों के अलावा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल व तमिलनाडु पुलिस के जवान चौबीस घंटे नजर रख रहे हैं. इसकी बड़ी वजह इस बात की आशंका है कि घबराहट की स्थिति में कोई कैदी खुद को नुकसान या आत्महत्या की कोशिश जैसे कदम न उठा ले. इनके सेल के आसपास नियमित तौर पर लगे कैमरे के अलावा उच्च क्षमता वाले सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. कैमरे की फुटेज की निगरानी के लिए जेल कर्मचारी 24 घंटे तैनात रहते हैं.

First Published: Dec 12, 2019 04:59:59 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो