निर्भया रेप केस: दिल्ली सरकार की वजह से दोषियों को फांसी मिलने में हो रही देरी, प्रकाश जावड़ेकर का आरोप

News State Bureau  |   Updated On : January 16, 2020 03:34:23 PM
प्रकाश जावड़ेकर

प्रकाश जावड़ेकर (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

निर्भया रेप केस के चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी दी जानी है. लेकिन अब इसकी संभावना कम ही दिखाई दे रही है. ऐसा इसलिए क्योंकि दिल्ली सरकार ने बुधवार को दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया कि चूंकि इनमें से एक की दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है. ऐसे में उन्हें फांसी पर नहीं लटकाया जा सकता. वहीं इस मामले पर अब केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का बयान सामने आया है. जावड़ेकर का कहना है कि दिल्ली सरकार की लापरवाही के चलते ही निर्भया रेप केस के दोषियों को फांसी दिए जाने में देर हो रही है. दिल्ली सरकार ही न्याय मिलने में हो रही देरी की वजह है. उ्न्होंने सवाल किया कि दिल्ली सरकार ने पिछले ढाई सालों में दया याचिका डालने के लिए दोषियों को नोटिस क्यों नहीं भेजा.

बता दें, एक तरफ जहां दोषियों को फांसी दिए जाने की तारीख तय हो गई है तो वहीं दूसरी तरफ चारों दोषी फांसी से बचने की हर संभव कोशिश करते नजर आ रहे हैं. इस बीच निर्भया गैंग रेप मामले में दोषी मुकेश को एक और झटका लगा है. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मुकेश की दया याचिका खारिज कर दी है. बुधवार को मुकेश को दिल्ली हाईकोर्ट से भी झटका लगा था. हाईकोर्ट ने डेथ वारंट पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था. हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता को ट्रायल कोर्ट का रुख करने को कहा था. इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट में दोपहर दो बजे सुनवाई की जाएगी.

वहीं दूसरी तरफ निर्भया सामूहिक बलात्कार (Nirbhaya Gangrape) मामले में चारों दोषियों को फांसी पर लटकाए जाने की तैयारी शुरू हो चुकी हैं. चारों दोषियों के गले का नाप भी लिया जा चुका है. दोषियों को फांसी पर लटकाने के लिए फंदे तैयार हैं. जेल अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि चारों में से किसी पर भी अभी परिजनों से मिलने पर रोक नहीं है.

First Published: Jan 16, 2020 02:52:06 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो