मुजफ्फरपुर कांड: सीबीआई का सर्च ऑपरेशन जारी, ब्रजेश ठाकुर को भागलपुर जेल किया जाएगा शिफ्ट

News State Bureau  |   Updated On : October 10, 2018 06:24:51 PM
मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह कांड

मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह कांड (Photo Credit : )

नई दिल्ली :  

बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका आश्रय गृह यौनशोषण मामले में जांच में जुटी केंद्रीय जांच ब्यूरो का दो जगहों पर सर्च ऑपरेशन जारी है. सूत्रों के मुताबिक, बिहार सरकार आरोपी ब्रजेश ठाकुर को मुजफ्फरपुर से भागलपुर जेल और अन्य आरोपीयों को पटना जेल में स्थानांतरित करेगी. सीबीआइ के निवेदन को बिहार सरकार ने सहमति दे दी है. कुछ दिन पहले यौन शोषण मामले में सिकंदरपुर स्थित एक श्मशान घाट की खुदाई के बाद एक नरकंकाल बरामद किया गया था.

सूत्रों के मुताबिक, इस मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के एक चालक से पूछताछ के बाद सीबीआई को अहम सुराग हाथ में लगे थे, मुजफ्फरपुर आश्रय गृह में रह रही लड़कियों में से एक बच्ची ने आरोप लगाया था कि वहां के कर्मचारियों द्वारा उनके साथ रह रही एक लड़की की हत्या कर उसे बालिका गृह के परिसर में ही दफना दिया गया था. पुलिस ने खुदाई की थी लेकिन वहां उन्हें कुछ संदिग्ध नहीं मिल था.

क्या है मामला ?

बता दें कि मुंबई स्थित टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंस की एक रिपोर्ट में इस मामले का खुलासा हुआ था. इंस्टिट्यूट ने सूबे की सरकार को सामाजिक अंकेक्षण रिपोर्ट सौंपी थी. रिपोर्ट में बच्चियों के साथ मुजफरपुर बालिका आश्रय गृह में लड़कियों के साथ यौन शोषण की घटना सामने आई थी. बच्चियों की चिकित्सकीय जांच के बाद 34 लड़कियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई थी.

पुलिस ने मुजफ्फरकाण्ड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर को गिरफ्तार किया था. सरकार ने पूरे मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी. इस मामले में अब तक दस लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इस मामले में राज्य के सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को इस्तीफा भी देना पड़ा है. आरोप है कि मंत्री रही वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा का ब्रजेश के साथ घनिष्ठ संबंध है.

First Published: Oct 10, 2018 06:12:57 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो