लॉकडाउन के बीच मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, देश के 80 करोड़ लोगों को 2 रुपये किलो मिलेगा अनाज

News State Bureau  |   Updated On : March 26, 2020 12:03:19 AM
prakash

प्रकाश जावड़ेकर। (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

कोरोना के कहर को देखते हुए मंगलवार को पूरे देश में लॉकडाउ घोषित कर दिया गया है. ऐसे में सबसे बड़ी दिक्कत गरीब और दिहाड़ी मजदूरों की है. क्योंकि काम न होने के कारण लोग राशन नहीं खरीद सकते हैं. ऐसे में मोदी सरकार ने राशन को लेकर बड़ा ऐलान किया है. बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई. इस बैठक में हुए अहम फैसलों की जानकारी प्रकाश जावड़ेकर (Prakash javdekar) ने दी. उन्होंने बताया कि देश के करीब 80 करोड़ लोगों को सरकार 2 रुपये किलो राशन देगी. उन्होंने कहा कि तीन महीने का राशन एडवांस दिया जाएगा. देश के 80 करोड़ लोगों को 7 किलो गेहूं और चावल दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें- गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला- कोरोना वायरस के चलते NPR और जनगणना का पहला चरण टला

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मुद्दे पर केंद्र और राज्य सरकार मिल कर काम कर रही हैं. क्योंकि लॉकडाउन को अमल में लाना राज्य सरकारों का ही काम है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार गरीबों के लिए काम कर रही हैं. केंद्र सरकार देश के 80 करोड़ लोगों को हर महीने 7 किलो प्रति व्यक्ति राशन देगी. सरकार 27 रुपये प्रति किलो वाले गेहूं को 2 रुपये प्रति किलो देगी. इसके साथ ही चावल को 3 रुपये प्रति किलो देगी. इस पर 1 लाख 80 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे. तीन महीने का राशन राज्यों को एडवांस दिया जाएगा.

सामाजिक दूरी ही बचाव

कोरोना वायरस को लेकर प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि संक्रमण से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाना जरूरी है. उन्होंने कहा कि कैबिनेट की बैठक में भी सोशल डिस्टेंस मेंटेन किया गया था. जावड़ेकर ने आगे कहा कि किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें. उन्होंने कहा कि इस बीमारी से लड़ने के सिर्फ तीन-चार ही तरीके हैं. पहला है घर में ही रहें. कुछ भी काम करने से पहले हाथ को अच्छी तरह से धुलें. बुखार, सर्दी और खांसी आने पर डॉक्टर के पास जाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. परिवार के साथ वक्त बिताने का यह अच्छा समय है.

First Published: Mar 25, 2020 03:53:03 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो