BREAKING NEWS
  • प्रधानमंत्री मोदी की सख्ती नहीं आई काम, अब इस बीजेपी विधायक ने नगर पालिका इंजीनियर को सरेआम दीं गालियां- Read More »
  • आखिर क्यों वेस्टइंडीज दौरे पर नहीं जाएंगे एमएस धोनी, खेलेंगे विराट कोहली- Read More »
  • Correction: आनंदीबेन पटेल होंगी उत्‍तर प्रदेश की राज्‍यपाल, बिहार से मध्‍य प्रदेश भेजे गए लालजी टंडन- Read More »

राजीव गांधी हत्याकांड में नलिनी की याचिका पर फैसला सुरक्षित

PTI  |   Updated On : July 13, 2019 02:30 AM
मद्रास हाई कोर्ट (फाइल)

मद्रास हाई कोर्ट (फाइल)

नई दिल्ली:  

मद्रास उच्च न्यायालय ने राजीव गांधी हत्याकांड मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रही नलिनी श्रीहरन की एक याचिका पर अपना फैसला शुक्रवार को सुरक्षित रख लिया. इस याचिका में तमिलनाडु के राज्यपाल को उसे रिहा करने के नौ सितम्बर, 2018 के राज्य सरकार के प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करने का निर्देश देने की मांग की गई है. न्यायमूर्ति आर.सुबैया और न्यायमूर्ति सी. सर्वनन की पीठ ने इस याचिका पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया. पीठ के समक्ष नलिनी के वकील ने लिखित दलीलें रखीं.

नलिनी के वकील ने दावा किया है कि न्यायालय, राज्यपाल को आदेश दे सकता है. उन्होंने पहले दायर की गई एक याचिका का उल्लेख किया, जिसमें राज्यपाल को यह निर्देश देने की मांग की गई थी कि वह विधानसभा के पटल पर बहुमत साबित करने के लिये तमिलनाडु के मुख्यमंत्री को आमंत्रित करें. महाधिवक्ता ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 361 (1) के तहत राज्यपाल को पूर्ण छूट हासिल है और इसलिये राज्यपाल को कोई निर्देश नहीं दिया जा सकता है. 

राज्य मंत्रिमंडल ने इस हत्याकांड में दोषी वी श्रीहरन उर्फ मुरूगन, टी सुथनथीरराजा उर्फ संतन, एजी पेरारीवलन उर्फ अरिवू, जयकुमार, रॉबर्ट पायस और नलिनी को संविधान के अनुच्छेद 161 के तहत रिहा करने का फैसला किया था. 

First Published: Friday, July 12, 2019 11:34 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Rajiv Gandhi Murder Case, Nalini, Nalini Case Plea Hc Reserves Order, Madras High Court, Rajiv Gandhi,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो