अब स्‍पीकर ओम बिड़ला ने आप सांसद भगवंत मान को पढ़ाया नियम-कानून का पाठ, पढ़ें पूरी खबर

News state Bureau  |   Updated On : July 04, 2019 03:32:26 PM
स्‍पीकर ओम बिड़ला और भगवंत मान (फाइल फोटो)

स्‍पीकर ओम बिड़ला और भगवंत मान (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

लोकसभा सदस्‍यों को नियम-कानून के पाठ को आगे बढ़ाते हुए स्‍पीकर ओम बिड़ला ने गुरुवार को आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान को नसीहत दी. किसी मुद्दे पर बोलने के लिए खड़े हुए भगवंत मान को स्पीकर ओम बिड़ला ने बीच में ही रोका और कायदे-कानून की भी याद दिलाई.

यह भी पढ़ें : बीजेपी बैटमार विधायक के बाद अब कांग्रेस के कीचड़मार विधायक, पढ़ें पूरी खबर

गुरुवार को शून्य काल में स्पीकर ने आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान को बोलने की इजाजत दी. खड़े हुए मान ने विदेशों में भारतीय दूतावासों का मुद्दा उठाया. वह पूरी बात बोले भी नहीं थे कि स्पीकर ने उन्हें टोकते हुए कहा, "आपने शून्य काल में जिस विषय का नोटिस दिया है, उसी विषय को उठाएं. विषय बदलना है तो भी इजाजत लें. स्पीकर ने कहा- "आपने पंजाब में टीचरों की सैलरी का विषय दिया है, मैं पढ़ा-लिखा सभापति हूं. इस पर सदन में जोर से ठहाके गूंजने लगे.

इसके बाद स्पीकर ने भगवंत मान को विषय बदलने की इजाजत दी और कहा, अगर विषय बदलना हो तो वह मुझसे परमिशन ले, मैं इसकी परमिशन दूंगा. इससे पहले पिछले दिनों स्‍पीकर ओम बिड़ला ने मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल को नसीहत देते हुए कहा था कि वह किसी भी सदस्य को बोलने की आज्ञा न दें, यह काम स्‍पीकर का है.

यह भी पढ़ें : वाह रे अस्पताल! एक ही बेड पर अनजान महिला और पुरुष का इलाज

नए सदस्यों को सदन में बोलने का मौका देने का क्रम बनाए रखते हुए स्‍पीकर ने गुरुवार को 17वीं लोकसभा की सबसे युवा सांसद चंद्राणी मुर्मू को मौका दिया. स्पीकर ने सदन को बताया कि मुर्मू सबसे युवा सांसद हैं और मैंने खुद इनसे व्यक्तिगत तौर पर अपनी बात सदन में उठाने को कहा था. 25 वर्षीय मुर्मू ओडिशा की क्योंझर लोकसभा सीट से बीजेडी सांसद चुनी गई हैं.

First Published: Jul 04, 2019 03:32:22 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो