BREAKING NEWS
  • मुश्ताक अहमद बोले- भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों को सुधारने के लिए करना चाहिए ये काम- Read More »
  • अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला मुसलमानों को स्वीकार करना चाहिए: VHP- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »

कुलभूषण जाधव मामले में ICJ के फैसले पर PM Modi सहित भारतीय राजनेताओं ने क्या कहा, जानें

Ravindra Pratap Singh  |   Updated On : July 18, 2019 08:25:01 AM
आईसीजे

आईसीजे (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  अंतर्राष्ट्रीय अदालत में भारत की बड़ी जीत
  •  आईसीजे ने कुलभूषण जाधव की फांसी रोकी
  •  सिर्फ पाकिस्तानी जज ने भारत के खिलाफ फैसला सुनाया

नई दिल्ली:  

अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत (International Court of Justice) ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में बुधवार को अपना फैसला सुना दिया. न्यूज एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, जाधव के केस में शामिल 16 जजों में से सिर्फ पाकिस्तान के एक जज ने भारत के खिलाफ फैसला दिया है. ICJ की कानूनी सलाहकार रीमा उमर ने ट्वीट कर बताया कि 16 में 15 जजों में भारत के पक्ष में फैसला सुनाया है. कुलभूषण को राजनायिक मदद मिलेगी इसके अलावा उन्हें काउंसर एक्सेस भी मिलेगा. ICJ के फैसले के मुताबिक, आईसीजे ने पाकिस्तान को फांसी की सजा पर पुनर्विचार करने को कहा है.

वहीं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के इस फैसले के आने के बाद खुशी जताई है. पीएम मोदी ने कुलदीप जाधव मामले में आईसीजे के फैसले के बाद उन्हें बधाई देते हुए ट्वीटर पर लिखा, 'हम आईसीजे में बुधवार को आए हुए इस फैसले का स्वागत करते हैं. अंतर्राष्ट्रीय अदालत में सत्य और न्याय की जीत हुई है. तथ्यों के गहन अध्ययन के आधार पर फैसले के लिए अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट को बहुत-बहुत बधाई, मुझे यकीन है कि जाधव को न्याय मिलेगा. हमारी सरकार हमेशा हर भारतीय की सुरक्षा और कल्याण के लिए काम करेगी.'

वहीं भारत की इस कूटिनीतिक जीत के बाद पूर्व विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के फैसले का स्वागत किया है. पूर्व विदेश मंत्री ने इस फैसले का स्वागत करते हुए ट्वीट किया, 'मैं कुलभूषण जाधव के मामले में अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के फैसले का तहे दिल से स्वागत करती हूं. यह भारत के लिए बहुत बड़ी जीत है.'

आईसीजे ने कहा, भारत और पाकिस्तान वियतनाम संधि के चलते बधें हुए हैं. भारत ने कुलभूषण के मानवाधिकार हनन का हवाला दिया है. कुलभूषण मामला आईसीजे के न्यायिक क्षेत्र में है. कुलभूषण के मामले में आईसीजे ने भारत के पक्ष को माना है. पाकिस्तान की आपत्ति को आईसीजे ने खारिज किया है. कोर्ट ने पाकिस्तान की तीनों आपत्तियों को खारिज कर दिया है.

वहीं भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में कुलभूषण मामले में आए फैसले को भारत की बड़ी जीत बताते हुए कहा कि, 'अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ने पाकिस्तान को # कुलभूषण जाधव तक काउंसलर एक्सेस देने का निर्देश दिया है, यह भारत के लिए एक बड़ी जीत है.' 

यह भी पढ़ें-अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में भारत की बड़ी जीत, ICJ ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर लगाई रोक

इसके अलावा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुलभूषण जाधव मामले पर आईसीजे के फैसले की तारीफ की है. राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा है, 'मैं आईसीजे के फैसले का स्वागत करता हूं. मेरे विचार आज रात को कुलभूषण जाधव के साथ हैं, जो पाकिस्तान में जेल की कोठरी में अकेले हैं और उनके विचलित परिवार के लिए जिनके लिए यह फैसला राहत, खुशी और नए सिरे से आशा का एक दुर्लभ क्षण लाता है, कि वह एक दिन भारत में अपने घर लौटने के लिए स्वतंत्र होंगे.'

वहीं कुलभूषण मामले में भारत की कूटनीतिक जीत के बाद पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने फैसले की तारीफ करते हुए कहा, 'ICJ उस शब्द के सही अर्थों में  न्याय प्रदान किया है, जो मानव अधिकारों, नियत प्रक्रिया और कानून के शासन को कायम रखता है.'

चिदंबरम ने आगे ट्वीट करते हुए लिखा, '15: 1 का फैसला वास्तव में एक सर्वसम्मत फैसला है'

पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत द्वारा जाधव को दबाव वाले कबूलनामे के आधार पर मौत की सजा सुनाने को भारत ने आईसीजे में चुनौती दी है. पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में बंद कमरे में सुनवाई के बाद जासूसी और आतंकवाद के आरोपों में भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव (49) को मौत की सजा सुनाई थी. उनकी सजा पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी.

यह भी पढ़ें-अंतरराष्ट्रीय अदालतः कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगाने वाले जज का पढ़ें पूरा फैसला

First Published: Jul 17, 2019 07:04:34 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो