JNU छात्र शरजील इमाम के ये हैं विवादित बयान, जिसपर देशद्रोह के आरोप में हुई गिरफ्तारी

News State Bureau  |   Updated On : January 28, 2020 04:30:16 PM
JNU छात्र शरजील इमाम के ये हैं विवादित बयान, जिसपर देशद्रोह के आरोप में हुई गिरफ्तारी

शहजीज इमाम (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

नई दिल्ली :  

देशविरोधी बयान देने के आरोप में दिल्ली और बिहार की क्राइम ब्रांच ने जेएनयू छात्र शरजील इमाम को गिरफ्तार कर लिया है. शरजील को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया है. दरअसल, देशविरोधी बयान देने के आरोप में शरजील इमाम के खिलाफ पांच राज्यों में मुकदमा दर्ज किए गए हैं. इसके बाद पुलिस लगातार शरजील इमाम की तलाश में जुटी हुई थी. शहजील इमाम ने ये विवादित बयान दिए हैं.

यह भी पढ़ेंःराहुल गांधी ने PM मोदी को दी चुनौती, कहा- किसी विवि में जाकर वहां के युवाओं के सवालों का सामना करें

सोशल मीडिया पर शनिवार को शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हुआ था. इस वीडियो में शरजील लोगों को भड़काने के साथ ही देश विरोधी बातें भी करता है. इस विडियो को लेकर उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ और असम के गुवाहाटी में उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ हैं, जिसमें देशद्रोह की धारा भी शामिल है. शरजील इमाम के विवादित वीडियो में कई भड़काऊ बातें कही गई थीं.

शरजील ने लोगों को भड़काते हुए कहा था कि 'आप जानते हो असम में मुसलमानों के साथ क्या हो रहा है?. एनआरसी वहां लागू हो चुका है और लोगों को डिटेंशन कैंपों में भेजा जा रहा है. शरजील ने कहा कि हमें असम के रास्ते बंद करने होंगे जिससे सेना और अन्य सप्लाई वहां न पहुंच सके. मुर्गी की गर्दन मुसलमानों के हाथ में है.

बयान का समर्थन नहीं है

शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे लोगों का जेएनयू छात्र शरजील इमाम के वायरल वीडियो पर कहना था कि हम देश को बांटने संबंधी किसी बयान का समर्थन नहीं करते हैं. शरजील इमाम के कई वीडियो वायरल हुए हैं, जिनमें वह यह बता रहा था कि कैसे प्रदर्शन की पटकथा लिखी गई. इसके बाद वह वीडियो में देश को बांटने संबंधी कई आपत्तिजनक बातें कह रहा है.

यह भी पढ़ेंःदेश विरोधी बयान देने वाला JNU छात्र शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार

फेसबुक पर भी आपत्तिजनक पोस्ट लिखे हैं

शाहीन बाग में हुई सभा में देश को लेकर आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करने वाला छात्र शरजील इमाम जेएनयू में इंडियन मार्डन लैंग्वेज का छात्र है. उसने अपने फेसबुक पोस्ट में कई आपत्तिजनक और भड़काऊ पोस्ट लिखे हैं. शरजील ने अपने एक पोस्ट में लिखा कि शाहीनबाग का मॉडल चक्का जाम का है, बाक़ी सब सेकेंडरी है. चक्का जाम और धरने में फर्क समझिए, हर शहर में धरने कीजिए, उसमें लोगों को चक्का जाम के बारे में बताइए और फिर तैयारी करके हाईवेज पर बैठ जाइए. एक अन्य फेसबुक यूजर ने शाहीन को टैग करके लिखा कि शाहीन बाग सहित अन्य जगहों पर विरोध प्रदर्शन खड़ा करने में शरजील इमाम की भूमिका है.

सोशल मीडिया पर भी ट्रेंड हुआ बयान

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र शरजील इमाम के शाहीनबाग में दिए गए वक्तव्य को लेकर सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया आ रही है. रात साढ़े आठ बजे के बाद ट्वीटर पर शरजील इमाम ट्रेंड करने लगा. कई लोगों ने उसके पक्ष में तो कइयों ने विपक्ष में ट्वीट किए हैं.

शाहीनबाग में इमाम देखा गया था

आसपास के लोगों ने बताया कि प्रदर्शन की शुरुआत में चार-पांच दिन शरजील इमाम शाहीनबाग में देखा गया था. उसे कई बार स्थानीय नेताओं व लोगों को इकट्ठा कर बयानबाजी करते सुना गया, लेकिन लोग उसके विचारों से सहमत नहीं थे. उसे मंच साझा नहीं करने दिया गया.

First Published: Jan 28, 2020 04:27:14 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो