जेट एयरवेज के लिए बुरी खबर, एक के बाद एक छोड़ रहे साथ, अब इन्होंने दिया इस्तीफा

News State Bureau  |   Updated On : May 14, 2019 08:44:48 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  आज दिनभर में जेट एयरवेस के लिए तीन उच्चाधिकारियों ने दिया इस्तीफा
  •  आर्थिक संकट से पिछले एक महीने से जेट एयरवेज की सेवाएं अस्थाई तौर पर बंद हैं
  •  मार्च से जेट एयरवेस के पायलट और अन्य कर्मचारियों को नहीं मिली है सैलरी 

नई दिल्ली:  

Jet Airways : जेट एयरवेज कंपनी के लिए बुरी खबर है. एक के बाद एक कई उच्च अधिकारी कंपनी से इस्तीफा दे रहे हैं. इसी क्रम में मंगलवार देर शाम जेट एयरवेज के सचिव और अनुपालन अधिकारी (Compliance Officer) कुलदीप शर्मा ने भी कंपनी से इस्तीफा दे दिया है.

बता दें कि इससे पहले जेट एयरवेज के चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर विनय दुबे और डिप्टी चीफ एक्जिक्यूटिव, चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर अमित अग्रवाल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. दोनों ने निजी कारणों की वजह से त्यागपत्र दिया है.

गौरतलब है कि आर्थिक संकट की वजह से पिछले एक महीने से जेट एयरवेज की सेवाएं अस्थाई तौर पर बंद हैं. वहीं, मार्च से पायलट और अन्य कर्मचारियों की सैलरी नहीं मिली है. ताजा हालात में जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीदने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोगी एतिहाद ने इच्छा जताई है. जेट एयरवेज में एतिहाद की फिलहाल 24 फीसदी हिस्सेदारी है.

यह भी पढ़ें ः ICC World Cup शुरू होने से पहले ही भारत के नाम जुड़ गई एक बड़ी उपलब्‍धि

एतिहाद 1700 करोड़ रुपये का निवेश जेट एयरवेज में कर सकती है. पिछले शुक्रवार को जेट के लिए बोली लगाने की समयसीमा खत्म हो गई और तब तक सिर्फ एतिहाद ने ही बोली लगाई थी. जानकारी के मुताबिक जेट एयरवेज को फिलहाल करीब 15 हजार करोड़ रुपये के निवेश की जरूरत है.

First Published: May 14, 2019 08:29:51 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो