भारत से ISIS के 127 संदिग्ध गिरफ्तार, जाकिर नाइक के भाषणों ने दिखाया था आतंक का रास्ता

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 14, 2019 01:02:21 PM
भारत से ISIS के 127 संदिग्ध गिरफ्तार, जाकिर नाइक के भाषणों ने दिखाया था आतंक का रास्ता

इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

सोमवार को एनआईए के IG अशोक मित्तल ने बताया कि आईएसआईएस से संदिग्ध तौर पर जुड़े रहने के मामले में 14 राज्यों से 127 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. बताया जा रहा है कि इनमें से ज्यादातर आतंकी इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के भाषण सुनते थे.  दिल्ली में आयोजित एनआईए के आतंकवाद विरोधी दस्ते/विशेष कार्य बल के प्रमुखों के राष्ट्रीय सम्मेलन में एनआईए IG ने बताया कि  14 राज्यों से कुल 127 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इन लोगों को आईएसआई से जुड़े मामलों में गिरफ्तार किया गया है.  उन्होंने बताया कि इनमे से 33 लोगों को तमिलनाडु, 19 को उत्तर प्रदेश, 17 को केरल और तेलंगाना से 14 लोगों को गिरफ्तार किया या है. इनमें से ज्यादातर लोग जाकिर नाइक समेत कई इस्लामिक उपदेशकों के भाषण सुन प्रेरणा लेते थे. ऐसे में जाकिर नाइक और उसके संस्थान इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. 

एनआईए IG अशोक मित्तल ने आगे बताया कि इसके अलावा तमिलनाडु और केरल से तीन मामलों में गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि वह जारान हसीन के वीडियो और ऑडियो को सुनकर प्रेरणा लेते थे. श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हमलों में जारान हसीन ही मास्टर माइंड था. उन्होंने बताया कि  सीमापार से लगातार पंजाब में आतंकवाद को पुर्नजीवित करने की कोशिश की जा रही है. इस मामले में लक्षित हत्याओं के लिए 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिनमें खालिस्तान लिबरेशन फोर्स भी शामिल है. इसके साथ ही आलोक मित्तल ने ये भी खालिस्तान लिबरेशन फोर्स को आतंकी गतिविधियों के लिए यूके, इटली, प्रांस और ऑस्ट्रेलिया से आर्थिक तौर पर मदद दी जा रही थी.

उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को फंड करने के मामले में, पेशेवरों के संगठनों और शीर्ष अलगाववादी नेताओं के प्रमुखों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनके खिलाफ चार्जशीट भी दायर की गई है. अब तक किसी को भी जमानत नहीं मिली है. उन्हें पाकिस्तान उच्चायोग से आर्थिक तौर पर मदद दी जा रही थी.

वहीं दूसरी तरफ  राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने आतंकवाद को पाकिस्तान की राष्ट्रीय नीति बताया है. उन्होंने कहा कि अगर अपराधी को किसी देश का समर्थन मिलता है, तो वह और भी ज्यादा खतरनाक हो जाता है. इस कला को कुछ देशों ने अच्छे से साध रखा है. हमारे मामले में पाकिस्तान इस तरह का काम कर आतंकवाद को पाल-पोस रहा है. अपने नापाक इरादों को पूरा करने के लिए पाकिस्तान ने आतंकवाद को अपनी नीति बना रखा है. 

पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए अजित डोभाल ने कहा कि भारत में जो आतंकवाद फैलाया जा रहा है वो स्टेट स्पॉन्सर है, जिसमें सत्ता ही आतंकियों को बचाने का काम करती है. पाकिस्तान ने आतंकवाद को अपनी सिस्टम का हिस्सा बना लिया. पाकिस्तान में हर आतंकी केस को भी सामान्य केस की तरह देखा जाता है. पाकिस्तान सोचता है कि अपने इरादों को पूरा करने के लिए आतंकवाद एक सस्ता रास्ता है, जो सामने वाले को अधिक नुकसान पहुंचाता है.

First Published: Oct 14, 2019 12:33:24 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो