BREAKING NEWS
  • रिलायंस जियो (Reliance Jio) के 19 रुपये और 52 रुपये वाले रिचार्ज नहीं करा पाएंगे यूजर्स, जानें क्यों- Read More »
  • पुलिसवालों के लिए खुशखबरी, उत्तराखंड सरकार ने भत्तों में बढ़ोतरी का एलान किया- Read More »
  • सुप्रीम कोर्ट ने अश्लील सीडी कांड में ट्रायल पर रोक लगाई, CM भूपेश को नोटिस- Read More »

अमेरिकी मैगजीन और पाकिस्तान का झूठ बेनकाब, F 16 को मार गिराने का सबूत एयरफोर्स ने किया जारी

News State Bureau  |   Updated On : April 08, 2019 06:29:32 PM
भारतीय वायुसेना ने सबूत किया जारी

भारतीय वायुसेना ने सबूत किया जारी (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

भारतीय वायुसेना ने अमेरिकी मैगजीन के फर्जी दावे और पाकिस्तान के झूठ को एक बार फिर बेनकाब कर दिया है. वायुसेना ने मैगजीन के दावे को झूठा करारा देते हुए कहा, हमारे पास न सिर्फ इस बात के सबूत है कि पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ एफ 16 का इस्तेमाल किया था बल्कि इस बात के भी पक्के सबूत हैं कि मिग बॉयसन ने एफ 16 फाइटर जेट को मार गिराया था. भारतीय वायुसेना ने इसका सबूत देते हुए रडार के जरिए मिली उस तस्वीर को भी जारी कर दिया जिसमें एफ 16 फाइटर जेट को साफतौर पर एयरबोन वॉर्निंग और कंट्रोल सिस्टम ने लिया था. अमेरिकी मैगजीन ने दावा किया था कि 27 फरवरी को पाकिस्तानी वायु सेना का कोई भी एफ 16 फाइटर जेट मारकर नहीं गिराया गया था. इस आरोप को लेकर वायु सेना के वाइस एयर मार्शल आरजीके कपूर ने कहा, हमारे पास इसके और भी पक्के सबूत और सटीक तथ्य है कि पाकिस्तान ने हवाई लड़ाई में अपना एफ 16 विमान खो दिया था. लेकिन सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा होने की वजह से हम कुछ महत्वपूर्ण सबूतों को सार्वजनिक नहीं कर रहे हैं.

इतना ही नहीं पाकिस्तान के झूठ का पर्दाफाश करते हुए वायुसेना ने कहा इसमें कोई शक नहीं है कि 27 फरवरी को हवाई लड़ाई में 2 विमान गिरे थे जिसमें एक मिग 21 बॉयसन और दूसरा पाकिस्तान वायुसेना का विमान एफ 16 था. इस विमान की पहचान इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर और रेडियो पर हुई बातचीत के आधार पर सुनिश्चित हुई थी.

गौरतलब है कि बीते पांच अप्रैल को अमेरिका की फॉरेन पॉलिसी मैगजीन में प्रकाशित एक रिपोर्ट में अमेरिकी रक्षा अफसरों के हवाले से कहा गया था कि पाकिस्‍तान को जितने f-16 बेचे गए थे, गिनती में उतने ही जेट फाइटर पाए गए. भारतीय वायुसेना की ओर से 27 फरवरी को दावा किया गया था कि एक हवाई संघर्ष में भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान ने उस पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को मार गिराया, जो भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश कर रहा था.

इसी दौरान अभिनंदन के विमान पर भी हमला हुआ और उन्हें इजेक्ट करना पड़ा था. अभिनंदन नियंत्रण रेखा (LOC) के पार उतरे थे और करीब 36 घंटे तक पाकिस्‍तान की हिरासत में रहे थे. इमरान खान की घोषणा के बाद अभिनंदन को भारत को सौंप दिया गया था.

28 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने AMRAAM मिसाइल के टुकड़े दिखाए थे, जिन्हें पाकिस्तानी एफ-16 विमान से दागा जाता है. 'फॉरेन पॉलिसी' के अनुसार, पाकिस्तान ने इस घटना के बाद अमेरिका को सैन्य बिक्री समझौते की शर्तों के अनुसार खुद पाकिस्तान आकर एफ-16 विमानों की गिनती करने की पेशकश की थी. 'फॉरेन पॉलिसी' की लारा सैलिगमैन के मुताबिक, "पाकिस्तान के एफ-16 विमानों की अमेरिका द्वारा की गई गिनती में सभी विमान मौजूद पाए गए, जो भारत के उस दावे से पूरी तरह विरोधाभासी है कि उसने फरवरी में हुए संघर्ष में एक लड़ाकू विमान मार गिराया था..."

नाम न छापने की शर्त पर एक अधिकारी के हवाले से मैगजीन की रिपोर्ट में कहा गया है, "गिनती पूरी हो गई है, और सभी विमान मौजूद हैं..." 'फॉरेन पॉलिसी' के मुताबिक, "मुमकिन है कि संघर्ष के दौरान मिग-21 बाइसन में सवार (अभिनंदन) वर्धमान ने पाकिस्तानी एफ-16 पर निशाना लॉक कर लिया हो, मिसाइल दागी भी हो, और उन्हें वास्तव में लगता हो कि उनका निशाना अचूक रहा. लेकिन पाकिस्तान में अमेरिकी अधिकारियों द्वारा की गई गिनती भारत के पक्ष पर शक पैदा करती है."

First Published: Apr 08, 2019 06:21:42 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो