मणिशंकर अय्यर ने फिर पैदा किया विवाद, पाकिस्तान में बोले- NRC पर मोदी और शाह में मतभेद

News State Bureau  |   Updated On : January 15, 2020 11:43:01 PM
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर (Photo Credit : ANI )

नई दिल्ली :  

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर अपने विवादित बयान के लिए जाने जाते हैं. आए दिन वो ऐसा बयान देते हैं जिसकी वजह से कांग्रेस की फजीहत हो जाती है. एक बार फिर से मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान में ऐसा बयान दिया है जिसपर बवाल मचना तय है. मणिशंकर अय्यर ने लाहौर में भारत के आंतरिक मामलों की चर्चा की.

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने लाहौर में एक पैनल चर्चा के दौरान दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के बीच एनपीआर और एनआरसी को लेकर मतभेद है.

उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी देश में हिंदुत्व का चेहरा है. लेकिन एनपीआर और एनसीआर को लेकर दोनों के बीच मतभेद है.

मणिशंकर अय्यर ने कहा कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर(एनपीआर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कभी नहीं माना कि यह राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर(एनआरसी) का उत्तराधिकारी है. संसद में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि एनपीआर एनआरसी का ही रूप होगा. वास्तविक रूप से एनपीआर ही एनआरसी है.

इसे भी पढ़ें:भारत, चीन को महत्वपूर्ण मुद्दों पर संतुलन बनाना होगा: जयशंकर

उन्होंने कहा कि हमारे देश में हिंदुत्व के दो लोगों यानी नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बीच कम-से-कम अभिव्यक्ति में मतभेद है.

मणिशंकर अय्यर सोमवार को पाकिस्तान के लाहौर में एक कार्यक्रम में थे, जिसमें पत्रकार नजम सेठी भी मौजूद थे. इस दौरान वहां इमरान के सहयोगी भी मौजूद थे.

और पढ़ें:CAA को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने PM नरेंद्र मोदी दी ये सलाह, कहा- पड़ोसी देश से पहले...

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर मंगलवार को दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में सीएए और एनआरसी को लेकर प्रदर्शन में शामिल हुए. इस दौरान भी उन्होंने विवादित बयान दिया. उन्होंने कहा कि मैं व्यक्तिगत रूप से सबकुछ करने के लिए तैयार हूं. जो भी कुर्बानियां देनी हों, उसमें भी तैयार हूं. अब देखें किसका हाथ मजबूत है, हमारा या उस कातिल का?

First Published: Jan 15, 2020 10:32:49 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो