BREAKING NEWS
  • Aus Vs Pak: पांच बार की विश्‍व चैंपियन ऑस्ट्रे‍लिया का मुकाबला पाकिस्‍तान से थोड़ी देर में- Read More »
  • अलवर रेप और हत्‍या मामला : पॉक्‍सो कोर्ट ने आरोपी को सुनाई सजा-ए-मौत- Read More »
  • Bharat Box Office Collection Day 1: सलमान खान की 'भारत' ने बॉक्स ऑफिस पर ऐसे मचाया धमाल, पाए इतने करोड़- Read More »

मेडिकल में 4800 सीटें होंगी आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए आरक्षित, हर्षवर्धन का ऐलान

News State Bureau  |   Updated On : July 13, 2019 08:18 AM

नई दिल्ली:  

अब मेडिकल कॉलेजों में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए 4800 सीट आरक्षित की जाएंगी. इस बात की जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन सिंह ने शुक्रवार को दी.

दरअसल डॉ. हर्षवर्धन प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष के सवालों का जवाब दे रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि, मेडिकल कॉलेजों में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए 4800 सीट आरक्षित की जाएंगी. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नई सरकार के गठन के बाद 92 नए मेडिकल कॉलेज खोलने का फैसला लिया गया है, इनमे से कई खोल भी जा चुके हैं. इसके साथ ही डॉ हर्षवर्धन ने ये भी बताया कि MBBS की सीटों में 15 हजार की बढ़ोतरी हुई है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली के स्कूलों में CCTV लगाने के खिलाफ याचिका को SC ने किया खारिज

इस दौरान डॉक्टर हर्शवर्धन ने आयुष्मान योजना का भी जिक्र किया. उन्होंने बताया कि 2011 की जनगणना के आधार पर करीब 11 करोड़ लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. हालांकि जनगणना के अलावा भी अगर कोई व्यक्ति तय मापदंडों के दायरे में आता है तो उसे भी इसका लाभ मिलेगा.

32 लाख लोगों का हुआ मुफ्त इलाज

हर्षवर्धन का दावा है कि आयुष्मान योजना के तहत करीब 32 लाख लोगों का मुफ्त इलाज हो चुका है जबकि 16 हजार से ज्यादा अस्पताल इस योजना से जुड़ चुके हैं. इसी के साथ उन्होंने ये भी जानकारी दी कि इस योजना के तहत 19 हजार आरोग्य कैंद्र खोले जा चुके हैं और 2022 तक इसकी संख्या बढ़ाकर डेढ़ लाख करने का लक्ष्य है.

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लगाई पाकिस्तानी आतंकियों की बीवियों ने गुहार

बता दें, डॉक्टरी छोड़कर राजनीति में आए डॉक्टर हर्षवर्धन की गिनती भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेताओं में होती है. डॉ हर्षवर्धन पेशे से नाक, कान और गले के रोगों के डॉक्टर हैं. दिल्ली में बीजेपी की सरकार (1993-1998) के दौरान हर्षवर्धन को स्वास्थ्य मंत्री, कानून मंत्री और शिक्षा मंत्री समेत राज्य मंत्रिमण्डल में विभिन्न पदों की जिम्मेदारी सौंपी गई, जो उन्होंने बखूबी निभाई. हर्षवर्धन को दिल्ली विधानसभा चुनाव के इतिहास में कोई कभी भी हरा नहीं पाया.

First Published: Saturday, July 13, 2019 08:18 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Medical College, Seats Reserved In Medical College, Doctor Harshvardhan, Loksabha,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो