BREAKING NEWS
  • Karva Chauth 2019: करवा चौथ के सामानों की जरूरी List, देख लिजिए कहीं कुछ छूट तो नहीं गया- Read More »
  • छोटा राजन का भाई उतरा महाराष्ट्र के चुनावी रण में, इस पार्टी ने दिया टिकट - Read More »
  • IND vs SA, Live Cricket Score, 1st Test Day 1: भारत ने टॉस जीता पहले बल्‍लेबाजी- Read More »

मेडिकल में 4800 सीटें होंगी आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए आरक्षित, हर्षवर्धन का ऐलान

News State Bureau  |   Updated On : July 13, 2019 08:18:11 AM

(Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

अब मेडिकल कॉलेजों में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए 4800 सीट आरक्षित की जाएंगी. इस बात की जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन सिंह ने शुक्रवार को दी.

दरअसल डॉ. हर्षवर्धन प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष के सवालों का जवाब दे रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि, मेडिकल कॉलेजों में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए 4800 सीट आरक्षित की जाएंगी. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नई सरकार के गठन के बाद 92 नए मेडिकल कॉलेज खोलने का फैसला लिया गया है, इनमे से कई खोल भी जा चुके हैं. इसके साथ ही डॉ हर्षवर्धन ने ये भी बताया कि MBBS की सीटों में 15 हजार की बढ़ोतरी हुई है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली के स्कूलों में CCTV लगाने के खिलाफ याचिका को SC ने किया खारिज

इस दौरान डॉक्टर हर्शवर्धन ने आयुष्मान योजना का भी जिक्र किया. उन्होंने बताया कि 2011 की जनगणना के आधार पर करीब 11 करोड़ लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. हालांकि जनगणना के अलावा भी अगर कोई व्यक्ति तय मापदंडों के दायरे में आता है तो उसे भी इसका लाभ मिलेगा.

32 लाख लोगों का हुआ मुफ्त इलाज

हर्षवर्धन का दावा है कि आयुष्मान योजना के तहत करीब 32 लाख लोगों का मुफ्त इलाज हो चुका है जबकि 16 हजार से ज्यादा अस्पताल इस योजना से जुड़ चुके हैं. इसी के साथ उन्होंने ये भी जानकारी दी कि इस योजना के तहत 19 हजार आरोग्य कैंद्र खोले जा चुके हैं और 2022 तक इसकी संख्या बढ़ाकर डेढ़ लाख करने का लक्ष्य है.

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लगाई पाकिस्तानी आतंकियों की बीवियों ने गुहार

बता दें, डॉक्टरी छोड़कर राजनीति में आए डॉक्टर हर्षवर्धन की गिनती भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेताओं में होती है. डॉ हर्षवर्धन पेशे से नाक, कान और गले के रोगों के डॉक्टर हैं. दिल्ली में बीजेपी की सरकार (1993-1998) के दौरान हर्षवर्धन को स्वास्थ्य मंत्री, कानून मंत्री और शिक्षा मंत्री समेत राज्य मंत्रिमण्डल में विभिन्न पदों की जिम्मेदारी सौंपी गई, जो उन्होंने बखूबी निभाई. हर्षवर्धन को दिल्ली विधानसभा चुनाव के इतिहास में कोई कभी भी हरा नहीं पाया.

First Published: Jul 13, 2019 08:18:11 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो