BREAKING NEWS
  • महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन, रामनाथ कोविंद ने स्वीकार की नरेंद्र मोदी कैबिनेट की सिफारिश- Read More »
  • पाकिस्तान के कराची में टिड्डों के कहर से किसान त्रस्त, कृषि मंत्री बोले- बिरयानी बनाकर खा जाओ- Read More »
  • महाराष्ट्र में सियासी घमासान: शिवसेना न घर की रही न घाट की, लगेगा राष्ट्रपति शासन- Read More »

बिहार आपदा प्रबंधन ने चक्रवाती तूफान से बचने का अलर्ट जारी किया

News State Bureau  |   Updated On : April 17, 2019 01:04:58 PM

(Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Disaster management authority) ने बिहार में चक्रवाती तूफान और आंधी से बचने के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. आपदा प्रबंधन ने कहा है कि मौसम कुछ ऐसा चल रहा है कि कभी भी चक्रवात, आंधी, तूफान आ सकता है ऐसे में घर की जर्जर जगहों की मरम्मत करवाएं और घर के मजबूत इलाके में ही रहें. यदि घर के बाहर हों तो आंधी तूफान के समय पेड़ों और बिजली के खम्भों से दूर रहें तथा पक्के मकानों में शरण लें. टूटे बिजली के तारों से सावधान रहें. चक्रवात/आंधी की गति एवं रास्तों की जानकारी रेडियो व टीवी से प्राप्त करते रहें.

देश के कई राज्यों में आंधी और तूफान ने जमकर तबाही मचाई है, कई जगहों पर तेज आंधी के साथ ओले भी गिरे हैं मप्र, राजस्थान, मणिपुर और देश के विभिन्न हिस्सों में अचानक मौसम में परिवर्तन हुआ और भारी बारिश और तूफान के चलते लगभग 36 लोगों ने जान गवांई है. इस दैवीय आपदा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंधी-तूफान में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख रूपए प्रधानमंत्री राहत पारितोषिक दिये जाने का ऐलान किया है. वहीं घायलों के लिए 50,000 रुपये भी स्वीकृत किए गए हैं.

मौसम विभाग ने बुधवार को भी देश के कई राज्यों में आंधी और बारिश का अलर्ट जारी किया है. बता दें कि गुजरात में आंधी-तूफान के कारण अब तक 9 लोगों की मौत हो गई है. अहमदाबाद, राजकोट, बनासकांठा, पाटन, महेसाना, साबरकांठा, आणंद, खेड़ा में बेमौसम बारिश के वजह से किसानों की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई. आंधी-तूफान का कहर चुनाव पर भी दिख रहा है. आज पीएम मोदी की गुजरात में तीन रैलियां है. कई जगहों पर उनके स्वागत में लगाए गए होर्डिंग गिर गए हैं.

First Published: Apr 17, 2019 01:04:40 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो