BREAKING NEWS
  • LIVE: पीएम मोदी की अपील पर एकजुट हुआ देश, कोरोना के खिलाफ रात 9 बजे दीप जलाने को तैयार- Read More »

Delhi Violence: 5 प्वाइंट्स में जाने CAA को लेकर दिल्ली में कैसे भड़की हिंसा

News State Bureau  |   Updated On : February 25, 2020 06:14:22 PM
Delhi Violence: 5 प्वाइंट्स में जाने CAA को लेकर दिल्ली में कैसे भड़की हिंसा

दिल्ली में सीएए प्रोटेस्ट के दौरान गोली चलाता प्रदर्शनकारी (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

नई दिल्ली:  

सोमवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजपुर और जाफराबाद (Jafarabad) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर विरोध प्रदर्शन ने हिंसात्मक रूप ले लिया. देखते ही देखते सीएए समर्थक और सीएए विरोधी आपस में ही भिड़ गए. इस हिंसक झड़प के दौरान पत्थरबाजी भी हुई और दिल्ली पुलिस के एक हेड कांस्टेबल हेड कांस्टेबल रतन लाल (Head Constable Ratan lal) के सिर में चोट लगी इस चोट की वजह से उनकी मौत हो गई. वहीं दिल्ली के शाहदरा पुलिस उपायुक्त अमित शर्मा सहित कई पुलिसकर्मीं झड़प के दौरान घायल हो गए. इस झड़प में दो लोगों की मौत हो गई. कई प्रदर्शनकारी भी घायल हो गए थे.

प्रदर्शनकारी स्थिर होने का नाम ही नहीं ले रहे थे जाफराबाद और मौजपुर इलाके में उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों और वाहनों में आग लगा दी थी. भजनपुरा, चांद बाग और करावल नगर के आसपास के इलाकों से भी प्रदर्शनकारियों ने जमकर हिंसा का तांडव किया अभी भी वहां की स्थितियां तनावपूर्ण बनी हुई हैं.

ऐसे भड़की मौजपुर इलाके में हिंसा
उत्तर पूर्वी दिल्ली में सोमवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का समर्थन और विरोध करने वाले दो समूहों के बीच झड़प हो गई. आपको बता दें कि यह झड़प सोमवार को मौजपुर इलाके में सुबह 10 बजे के आस-पास शुरू हुई, इस झड़प के दौरान दोनों समूहों के लोग एक-दूसरे पर पत्थरबाजी करने लगे. देखते ही देखते बवाल इतना ज्यादा बढ़ गया कि पुलिस को आंसू गैस छोड़नी पड़ी इसके बाद जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया. सोमवार को दिल्ली मेट्रो ने सोशल मीडिया पर इस बात की जानकारी दी कि मौजपुर, बाबरपुर और जाफराबाद स्टेशनों पर लोगों की एंट्री और एग्जिट गेट बंद रहेंगे और इन स्टेशनों पर ट्रेन भी नहीं रुकेंगी.

यह भी पढ़ें-Delhi Violence:हिंसा प्रभावित उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सभी स्कूल मंगलवार को रहेंगे बंद

उत्तर पूर्वी दिल्ली के ये क्षेत्र हुए प्रभावित
नागरिकता कानून के खिलाफ उत्तर पूर्वी दिल्ली में सोमवार की सुबह हिंसा की खबर सामने आई जिसके बाद इन इलाकों में लगातार तनाव बढ़ता गया. शाम तक हिंसा और आगजनी बढ़ती ही गई. आस-पास के इलाकों में भी तनाव बढ़ता गया. करावल नगर, जाफराबाद, भजनपुरा और मौजपुर में भी आगजनी की खबरें मिली. भजनपुरा में
एक पेट्रोल पंप में आग लगा दी गई जबकि मौजपुर और जाफराबाद में प्रदर्शनकारियों ने कई दुकानों और घरों को आग के हवाले कर दिया.

यह भी पढ़ें-भारत..अमेरिका साझेदारी पर ट्रंप मोदी के बीच व्यापक वार्ता होगी, कई बड़ी डील संभव

हिंसा के दौरान गोलीबारी के साथ चले पत्थर
मौजपुर में सोमवार की सुबह 10 बजे शुरू हुआ पथराव दिन भर जारी रहा. उपद्रवियों के इस पथराव में डीसीपी-रैंक के एक अधिकारी सहित कई पुलिस कर्मी इस पथराव में घायल हो गए, इस पथराव में एक हेड कांस्टेबल के सिर पर चोट लगी जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई. धीरे-धीरे झड़प की घटना मौजपुर से बढ़कर जाफराबाद, करावल नगर, कबीर नगर, दयाल पुर और चांद बाग के इलाकों के आस-पास जा पहुंची.

एक शख्स ने इस दौरान की फायरिंग
सोमवार को नागरिकता कानून के खिलाफ जारी प्रदर्शन के दौरान दोपहल लगभग एक बजे आसपास एक लाल टीशर्ट पहने हुए युवक ने देसी रिवॉल्वर से 8 राउंड फायरिंग की जब एक पुलिसकर्मी ने उसे फायरिंग से रोकने की कोशिश की तो उसने पुलिस को एक तरफ धकेल दिया. इस फायरिंग में कोई घायल नहीं हुआ. हालांकि बाद में दिल्ली पुलिस ने उस शख्स को गिरफ्तार कर लिया.

प्रशासन ने हिंसा वाले इलाकों में लगाई धारा 144
सोमवार को हिंसा वाले इलाकों में स्थानीय प्रशासन ने धारा 144 लगा दी. जिसके बाद उस इलाके में 5 या उससे ज्यादा लोग एक साथ नहीं देखे जा सकेंगे. वहीं इलाके में कानून व्यवस्था को बहाल करने के लिए दिल्ली पुलिस के जवानों और केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की भारी तैनाती भी की गई है.

First Published: Feb 25, 2020 12:18:13 AM

न्यूज़ फीचर

वीडियो