महाराष्ट्र की सेना-एनसीपी सरकार में शामिल हो सकती है कांग्रेस, सोनिया गांधी ने बुलाई बैठक

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : November 11, 2019 09:09:34 AM
महाराष्ट्र सरकार में शामिल होने का फैसला कांग्रेस आलाकमान पर छोड़ा गया

महाराष्ट्र सरकार में शामिल होने का फैसला कांग्रेस आलाकमान पर छोड़ा गया (Photo Credit : एजेंसी )

ख़ास बातें

  •  शिवसेना के एकमात्र केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत के इस्तीफे से महाराष्ट्र में एनसीपी की मदद से सरकार संभव.
  •  कांग्रेस भी दे सकती है सेना-एनसीपी सरकार को समर्थन. अंतिम फैसले के लिए सोनिया गांधी ने बुलाई बैठक.
  •  बीजेपी और शिवसेना के अलगाव का औपचारिक ऐलान होना भर बाकी. अब दूरी पाटना संभव नहीं.

नई दिल्ली:  

केंद्रीय मंत्रिमंडल में शिवसेना के कोटे से एकमात्र मंत्री अरविंद सांवत के इस्तीफे के बाद ऐसे संकेत मिल रहे हैं कांग्रेस के समर्थन से महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी सरकार बनने जा रही है. तेजी से बदलते घटनाक्रम में कांग्रेस से भी संकेत मिले हैं कि वह कुछ शर्तों के साथ सूबे में उभरते नए राजनीतिक समीकरणों का एक हिस्सा बन सकती है. इस बीच महाराष्ट्र में सरकार गठन की कवायद का केंद्र जयपुर भी बनकर उभर रहा है, जहां कांग्रेस के विधायक 'सुरक्षित' रखे गए हैं. उनकी राय जानने के लिए अधिकृत मलिल्कार्जुन खड़गे का भी यही कहना है कि महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर अंतिम फैसला पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को ही करना है. इस कड़ी में सोनिया गांधी ने दिल्ली स्थित अपने घर पर 10 बजे एक बैठक बुलाई है.

यह भी पढ़ेंः NCP ने शिवसेना के सामने रखी शर्त, NDA से बाहर और मोदी सरकार से इस्तीफा दें मंत्री, तभी मिलेगा समर्थन

शिवसेना एनसीपी की शर्तों पर राजी
गौरतलब है कि बीजेपी द्वारा महाराष्ट्र में सरकार गठन से इंकार के बाद राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी ने शिवसेना को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था. इसके पहले शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में इस बात के संकेत दिए थे कि वह एनसीपी और कांग्रेस के समर्थन से सरकार बना सकती है. एनसीपी की ओर से भी कहा गया था कि पहले शिवसेना बीजेपी से हर तरह के संबंध तोड़े, उसके बाद ही नए समीकरणों पर विचार हो सकता है. ऐसे में शिवसेना सांसद और एकमात्र केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत ने इस्तीफे का ऐलान कर जता दिया है कि शिवसेना को एनसीपी की शर्त मंजूर है.

यह भी पढ़ेंः शिवसेना सांसद अरविंद सावंत देंगे केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा, ट्वीट कर दी जानकारी

महाराष्ट्र के कांग्रेसी विधायकों भी सरकार के पक्ष में
इस बीच महाराष्ट्र से चुनकर आए कांग्रेस विधायकों का मन टटोलने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जयपुर के ब्यूना विस्टा रसार्ट में कांग्रेसी विधायको से मुलाकात की. अशोक गहलोत ने महाराष्ट्र में उभरते समीकरणों पर न सिर्फ कांग्रेसी विधायकों का मन टटोला, बल्कि उनका फीडबैक भी लिया. इसके बाद कांग्रेस विधायक दल का नेता और गठबंधन का फैसला आलाकमान पर छोड़ दिया गया. कांग्रेस नेता मलिल्कार्जुन खड़गे ने भी एक बयान जारी कर कहा कि आलाकमान पर फैसला छोड़ दिया गया है.

यह भी पढ़ेंः LIVE: महाराष्ट्र में सियासी हलचल तेज, अरविंद सावंत ने किया केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा देने का ऐलान

सोनिया गांधी ने 10 बजे बुलाई बैठक
इस बीच बदलते घटनाक्रम में सोनिया गांधी ने 10 बजे अपने निवास पर कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक बुलाई है. इसमें महाराष्ट्र में सरकार गठन पर चर्चा होगी. इस बीच एनसीपी ने भी मुंबई में अपने विधायकों की बैठक बुलाई है. इधर शिवसेना खेमे से संकेत मिल रहे हैं कि पार्टी राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने और विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए और समय देने की मांग करने जा रही है. इस उभरते समीकरणों से तो यही लग रहा है कि महाराष्ट्र और दिल्ली में शिवसेना-बीजेपी की दूरी टूट की कगार तत बढ़ चुकी है और अलगाव का बस औपचारिक ऐलान भर होना बाकी रह गया है.

First Published: Nov 11, 2019 09:09:34 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो