BREAKING NEWS
  • चित्रकोट उपचुनाव पर सीएम भूपेश बघेल ने दिया बड़ा बयान, कहा-20 हजार वोटों से जीतेंगे- Read More »
  • सरफराज अहमद को पाकिस्‍तानी क्रिकेट टीम की कप्‍तानी से हटाया गया- Read More »
  • भोपाल शहर के नगर निगम को दो भागों में बाटने के विरोध में साध्वी प्रज्ञा, कलेक्टर को लिखा खत- Read More »

पी चिदंबरम की तलाश में CBI का छापा, दिल्ली-NCR में कई ठिकानों पर खोजबीन जारीः सूत्र

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : August 21, 2019 06:14:12 PM
कांग्रेस नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम (फाइल फोटो)

कांग्रेस नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

कांग्रेस की अगुवाई वाले यूपीए सरकार में गृहमंत्री (Home Minister)और वित्‍तमंत्री रहे पी चिदंबरम (P Chidambaram) की कभी तूती बोलती थी. सीबीआई (CBI)और ईडी (ED) के वो 'सुपर बॉस' थे. केंद्रीय जांच एजेंसी को चिदंबरम ने कथित तौर पर इस तरह इस्‍तेमाल किया सीबीआई (CBI) को पिंजरे में बंद तोता की उपाधि दे दी गई. लेकिन वक्‍त का खेल देखिए आज पी. चिदंबरम आज भागे हुए हैं और दोनों एजेंसियां इनके पीछे पड़ी हुई हैं.

यह भी पढ़ेंः ड्राइवर को रास्ते में छोड़कर कहां फरार हो गए पी. चिदंबरम...

सूत्रों के अनुसार, सीबीआई (CBI) ने कांग्रेस नेता पी चिदंबरम के जोरबाग के घर के अलावा दिल्ली-एनसीआर में कई और जगहों पर छापा मारा है. सीबीआई ने मंगलवार को एक नोटिस जारी किया था, लेकिन उसके बाद कोई नया नोटिस चिदंबरम को जारी नहीं किया गया है. इस नोटिस के आधार पर उन्हें दो घंटे में सीबीआई के सामने पेश होना था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. 

हालांकि, सीबीआई ने 2 घंटे का ही नोटिस क्यों जारी किया है. हालांकि, इस पर उन्होंने कोई जबाब नही दिया, कहा कि ये जांच की प्रक्रिया है. बता दें कि पी चिदंबरम को पिछले बार साल इसी केस में पूछताछ के लिए एक बार बुलाया था और वो आए थे. वहीं, ED के बाद सीबीआई ने भी पी चिदंबरम के खिलाफ LOC लुक आउट जारी किया है.

यह भी पढ़ेंः BCCI से वीरेंदर सहवाग की मांग, कहा- अनिल कुंबले को बनाना चाहिए टीम इंडिया का मुख्य चयनकर्ता

INX मीडिया मामले में CJI की अदालत ने पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई से इन्कार कर दिया है. अब इस मामले में 23 अगस्त को सुनवाई होगी. अभी भी हाई कोर्ट का आदेश प्रभावी है. इसके तहत पी चिदंबरम कभी भी गिरफ्तार हो सकते हैं. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने भी पी चिदंबरम को कोई राहत नहीं दी थी. जस्टिस रमन्‍ना ने कहा कि जब तक केस लिस्ट नहीं हो जाता, तब तक मामला नहीं सुना जा सकता है.

First Published: Aug 21, 2019 05:44:28 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो